Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Hover Effects

TRUE
{fbt_classic_header}

Header Ad

Breaking News:

latest

Ads Place

कोरोना वायरस से सावधानी के लिए राज्य सरकार का एक और बडा फैसला

    फोफोटो-सीएम सभी जिलाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग करते हुए     मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को सचिवालय में ...

   
फोफोटो-सीएम सभी जिलाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग करते हुए

    मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को सचिवालय में सभी जिलाधिकारियों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना वायरस के सम्बन्ध में बैठक ली। मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए लगातार प्रचार प्रसार किया जाए। आमजन को सामाजिक दूरी बनाकर रखने के लिए जागरूक किया जाए। उन्होंने आमजन से सीनियर सिटीजन और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को घर में ही रहने की सलाह देते हुए जनता कफ्र्यू को सफल बनाने में अपना योगदान देने की अपील की। 
       मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को अपने अपने जनपदों में एडीएम रैंक के अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाया जाए। नोडल अधिकारी सभी अस्पतालों का निरीक्षण कर तैयारियों का जायजा लें एवं जिलाधिकारी को लगातार अपडेट करते रहें। गैप्स एवं अन्य प्रकार की आवश्यकताओं के सम्बन्ध में अवगत करायें। जिलाधिकारी आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु व्यवस्था करायें। 
       मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने निर्देश दिए कि सार्वजनिक स्थलों को सैनेटाईज करना अत्यावश्यक है। इसके लिए जिलाधिकारी लगातार माॅनिटरिंग करते हुए लगातार सैनेटाईजेशन की रिपोर्ट लेते रहें। उन्होंने सभी नगर निकायों को प्रोएक्टिव होकर कार्य करने के निर्देश दिए। 

पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग करते हुए

       मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटकों की आवाजाही को रोक दिया गया है। परन्तु ऐसे विदेशी पर्यटक जिनका वीजा समाप्त हो रहा है, उनके वीजा को 15 अप्रैल, 2020 तक बढ़ाए जाने के लिये भारत सरकार द्वारा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि सभी संयम और सतर्कता बरतें। उन्होंने निर्देश दिए कि कोरोना का संदिग्ध पाए जाने पर गाईडलाईन/प्रोटोकोल के अनुसार कार्यवाही की जाए। उन्होंने कोरोना के लक्षण पाए जाने पर 100 प्रतिशत सतर्कता बरतते हुए प्रोटोकोल के अनुसार उत्तरोत्तर कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए। डाॅक्टर्स और मेडिकल टीम को स्वस्थ व सुरक्षित रखने हेतु पूर्ण सतर्कता बरती जाए। 
       मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को डाटा को रेग्यूलर अपडेट करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार के कन्फ्यूजन को दूर करने के लिए 0135-2609500 पर सम्पर्क किया जाए। पैरामेडिकल से सम्पर्क करते हुए उनकी सहायता लेने के लिए तैयार किया जाए।
         मुख्यमंत्री ने कहा कि खाद्य पदार्थों की आपूर्ति सुचारू रूप से चलती रहे इसके लिए स्थानीय व्यापार मंडलों, मंडी परिषदों आदि से सम्पर्क करते हुए व्यवस्थाएं बनायी जाएं। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि आमजन में अफरातफरी का माहौल न बने। अफवाहें फैलाने वालों के साथ सख्त कार्यवाही की जाए।
       मुख्यमंत्री ने कहा कि क्वारन्टाईन हेतु प्राईवेट होटल एवं हाॅस्टल आदि की व्यवस्था की जा सकती है। इसके लिए स्टाफ के प्रशिक्षण आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। क्वारन्टाईन हेतु विशेष बातों का भी ध्यान रखा जाए जैसे सिंगल रूम वाले होटल या हाॅस्टल बेहतर हैं। इसके साथ ही सेंट्रल एयर कंडीशनर न हो, इससे अन्य रूम में स्वस्थ व्यक्ति भी प्रभावित हो सकता है।
       इससे पहले मुख्यमंत्री
त्रिवेन्द्र सिंह रावत प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुयी बैठक में भी सम्मिलित हुए। बैठक में केन्द्रीय अधिकारियों द्वारा कोरोना वायरस से संक्रमण को रोकने हेतु किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी गयी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों को व्यापारियों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लगातार सम्पर्क बनाये जाने पर बल दिया। 
       इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह एवं पुलिस महानिदेशक श्री अनिल रतूड़ी, सचिव श्री अमित नेगी, श्री नितेश झा एवं श्री शैलेश बगोली सहित शासन के उच्चाधिकारी उपस्थित थे।

No comments

Ads Place