कोरोना को लेकर लोगों को जागरूक कर रहे हैं समाजसेवी दर्शन लाल

समाजसेवी दर्शनलाल आर्य ने बांटे मास्क


समाजसेवी दर्शन लाल मास्क बांटते हुए

घनसाली. दुनिया में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए जहां केंद्र व राज्य सरकारें युद्धस्तर पर जुटी हैं, वहीं अनेक समाजसेवी संस्थाएं व समाजसेवी भी कोरोना की रोकथाम की मुहिम में जुट गए हैं. घनसाली विधानसभा क्षेत्र में समाजसेवी दर्शनलाल आर्य भी कोरोना वासरस की रोकथाम और जागरूकता के लिए अभियान चला रहे हैं. सोशल मीडिया पर पूरे घनसाली क्षेत्र में कोरोना से बचाव व रोकथाम के संदेश से जागरूक करने वाले दर्शनलाल आर्य ने बड़ी मात्रा में लोगों को मास्क व सैनिटाइजर का वितरण भी कर रहे हैं. दर्शनलाल आर्य ने कोरोना से बचाव हेतु मास्क और सैनिटाइजर वितरण कार्य का शुभारंभ बुधवार को घनसाली के निकट पिलखी स्वास्थ्य केंद्र पर किया. इस अवसर पर यहां अस्पताल में आए मरीजों और आम लोगों को मास्क वितरित किए गए. इसके बाद चमियाला के बेलेश्वर स्वास्थ्य केंद्र में भी लोगों को मास्क वितरित किए गए.  समाजसेवी दर्शनलाल आर्य द्वारा लगाए गए इस शिविर में बड़ी संख्या में लोग शिविर स्थल पर उमड़ पड़े. 
कोरोना वायरस को लेकर जनता को जागरूक करते 

समाजसेवी दर्शनलाल आर्य ने कहा कि यह मास्क वितरण का शिविर कोरोना की रोकथाम और जागरूकता के लिए लगाया गया है. दर्शनलाल आर्य ने कहा कि आज तक के घनसाली के प्रतिनिधियों ने जनता के छोटे से काम भी सरकार के भरोसे छोड़ रखे हैं और हालात यह हैं कि वे जनता द्वारा दी गई जिम्मेदारी का निर्वहन भी सहीं ढंग से नहीं कर पाए. 

 आर्य ने कहा कि मेरी कोशिश है कि मैं घनसाली की जनता की जितना हो सके हर संभव सेवा करूं. खुद पलायन का शिकार रहे दर्शनलाल आर्य ने  कहा कि मेरी पीड़ा यह है कि घनसाली से इतना बड़े नेता राज्य में रहे, प्रतिनिधि रहे, किंतु यहां के युवाओं के पलायन पर किसी भी प्रतिनिधि ने कोई विकल्प नहीं तलाशा. दर्शनलाल आर्य ने कहा कि घनसाली क्षेत्र में अच्छी शिक्षा और रोजगार नहीं होने के कारण यहां का युवा पलायन को मजबूर है और मेरी कोशिश है कि यहां के युवाओं के लिए ऐसे रोजगार व शिक्षा संस्थान बनाए जाएं, ताकि घनसाली क्षेत्र का युवा घर छोड़ने को मजबूर न हो. उल्लेखनीय है कि दर्शनलाल आर्य यह पहल खुद भी कर रहे हैं और घनसाली में बेहतरीन शिक्षण संस्थान के निर्माण के साथ ही महिला स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर क्षेत्र में एक आधुनिक सुविधाओं से सुसज्ज महिला अस्पताल की संकल्पना पर भी काम कर रहे हैं. लोक संस्कृति के परम संरक्षक दर्शनलाल आर्य अनेक देवी देवताओं के मंदिरों के निर्माण आदि का भी जिम्मा भी खुद उठा रहे हैं.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां