कोरोना योद्धाओं को देश का सैल्यूट-देखिए पूरी खबर

 इन कोरोना योद्धाओं को सैल्यूट
कुलदीप सिंह बिष्ट (पौड़ी)


 उत्तराखंड-कोरोनारोना संक्रमण में पूरी विश्व को अपनी चपेट में ले रखा है, इसके बावजूद भी कुछ ऐसी योद्धा है जो जमकर कोरोना को मात देने के लिए युद्ध स्तर पर लगे पड़े हैं,ये योद्धा बॉर्डर में खड़े हुए सैनिक से कतई भी कम नहीं है,ये दिन रात एक करके इस भयानक महामारी को रोकने के लिए कमर कसे हुए हैं,इन योद्धाओं में सबसे पहला नाम स्वास्थ्य विभाग का आता है।


 जिसके सभी कर्मचारी किसी न किसी रूप में कोरोना महामारी को रोकने के लिए दृढ़ संकल्प लिए दिन-रात एक किए हुए है,इन स्वास्थ्य कर्मियों को ना तो दिन की परवाह है, और ना ही रात की। ये किसी भी सूरत में इस महामारी को आगे बढ़ते हुए नहीं देखना चाहते हैं,।स्वास्थ्य से संबंधित ही एक मेडिकल स्टोर के मालिक ने बताया कि इन्हें लंबा समय हो गया है अपने परिवार से दूर हुए, मगर बिना परिवार की परवाह किए ये डटे हैं, इस युद्ध में ऐसे ही एक जिगर आता है हमारे पुलिस बल का,जो सोसल डिस्टेंस को सुचारू रूप से बहाल करने के लिए रात दिन सड़कों पर उतरे हुए हैं,इन्हें न तपती धूप की परवाह है और ना ही अंधेरी रातों की  परवाह ये तो बस कोरोना महामारी को किसी की चौखट तक नही पहुचने देना चाहते, ऐसे ही एक और योद्धा का जिगर आता है जो हर दिन हर समय हमारे साथ खड़ा रहता है मगर हम उसे अक्सर नजर अंदाज करते रहते हैं, ये है हमारा सफाई कर्मचारी, जो साल की 365 दिन हमारे आसपास की सफाई में लगा रहता है, इसे ना तो गन्दगी की परहव होती है और ना ही कूड़ा करकट की, यह भी इस भयानक महामारी से दो-दो हाथ करने के लिए तत्पर दिखाई पड़ रहा है, ये भी सुबह होते ही अपने कंधों में भारी-भरकम सेनेटाइजर की मशीनें लेकर चल पड़ते हैं हमारे आसपास की जगहों को सनराइज करने के लिए, ताकि उनका छोटा सा संक्रमण भी हमारे आसपास ना भटके। इन तीनों योद्धाओं की भांति एक चौथा स्तंभ भी है जो इस महामारी में हमें रूबरू कराता है, हमारे आसपास, देश और विदेश की खबरों से हमें यह चौथा स्तंभ ही पहुचता है,ये पत्रकार भी अपनी जान की परवाह किए बिना इस युद्ध में अपनी भूमिका सुनिश्चित करने में लगे हैं वैसे तो यह 365 दिन हमें नई नई खबरी से रूबरू कराते हैं, मगर आजकल ये  हमें उन छोटी से छोटी खबरों से भी रूबरू कराते हैं जिससे रूबरू होना हमारे लिए आजकल बहुत ही अहम हो गया है ये हमें जागरूक करते हैं ऐसी अपवाहों से बचने के लिए जो कोरोना जैसी महामारी में बाधा उत्पन्न करती है यह हमें भयभीत करने से रोकते हैं यह हमें हमारा फर्ज याद दिलाते हैं इन चारों की भागीदारी को कोई प्रदेश, देश कभी नही भूल सकता। आप घरों में रहिए सुरक्षित रहिए आप सुरक्षित रहेंगे तो पूरा जहान सुरक्षित रहेगा।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां