पहाड़ की वीरांगना देवकी भंडारी की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्विट कर की जमकर तारीफ






गौचर की बुजुर्ग महिला देवकी भंडारी जी । उन्होंने अपने जीवन की कुल जमा धनराशि 10 लाख रुपये कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दे दिए। देवकी ने बताया कि संकट के इस काल में उन्होंने अपनी अंतरात्मा की आवाज पर यह संकल्प लिया। पति की पेंशन और अपनी कुल जमा पूंजी देवकी ने चेक के जरिए राहत कोष में दे दी।

विरासत में मिली समाजसेवा :  प्रेरणा की प्रतीक बनी देवकी भंडारी को समाज सेवा विरासत में मिली है । रेशम विभाग में कार्यरत इनके पति हुक्म सिंह भंडारी ने अपने जीवनकाल में बहुत से गरीबों की सेवा की। देवकी के पिता स्वर्गीय अवतार सिंह भी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रह चुके हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां