आखिरकार हंस फाउंडेशन की एम्बुलेंस बनी अमृता रावत का सहारा

आखिरकार हंस फाउंडेशन की एम्बुलेंस बनी अमृता रावत का सहारा
इस एंबुलेंस ए अमृता रावत को पहुंचाया गया एम्स हंस फाउंडेशन की भेंट की हुई एम्बुलेंस


कहते है समय बड़ा बलवान होता है। जिसकी बनागी आज उत्तराखंड में देखने को मिली। जैसे की सभी को विदित हैं कि उत्तराखंड में सेवा के पटल पर हंस फाउंडेशन माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य-शिक्षा के क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है। 
स्वास्थ्य की बात करें तो आज के समय में उत्तराखंड के दूरगामी क्षेत्रों में कोई अस्पताल ऐसा नहीं है। जिसे हंस फाउंडेशन का सहयोग न मिल रहा हो। उत्तराखंड में तमाम अस्पतालों का कायाकल्प हो या इन अस्पतालों में आईसीयू की स्थापना करना हो। हंस फाउंडेशन ने पिछले दस वर्षों में उत्तराखंड में स्थापित अस्पतालों को अत्याधुनिक तकनीकी से लेस कर पहाड़ के हर ग्रामीण तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने में अग्रणीय भूमिका निभा रहा है। 
इस कड़ी में हंस फाउंडेशन ने इन अस्पतालों को अत्याधुनिक तकनीकी से लेस एम्बुलेंस प्रदान की है। आज यही एम्बुलेंस उत्तराखंड के पूर्व कैबिनेट मंत्री अमृता रावत के लिए जीवन दायनी बनकर आई। 
दरअसल उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की पत्नी एवं राज्य की पूर्व मंत्री अमृता रावत की जांच रिपोर्ट में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई हैं। जिसके बाद उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया। 
महत्वपूर्ण बात यह है कि जिस एम्बुलेंस से अमृता रावत को देहरादून से एम्स ऋषिकेश ले जाया गया। वह एम्बुलेंस सतपाल महाराज के छोटे भाई भोले जी महाराज की संस्था हंस फाउंडेशन की है और यह किससे छुपा है कि सतपाल महाराज और श्री भोले जी महाराज जी के रिश्ते किस तरह के है। 
बताया जा रहा कि इस बारे में जब राज्य सरकार के अधिकारियों ने सतपाल महाराज को अवगत कराया कि इस एम्बुले
अत्याधुनिक सुविधाओं लेस एम्बुलेंस से बेहतर कोई दूसरी एम्बुलेंस राज्य में नहीं है तो सतपाल महाराज के पास इस बारे में कुछ भी कहने को नहीं था। लेकिन उत्तराखंड में चर्चा है कि आखिर सतपाल महाराज और अमृता रावत के लिए वही हंस फाउंडेशन जीवन दायिनी बना जो हर आपात स्थिति में देश के साथ खड़ा दिखता है। 
जिसके बाद अमृता रावत को हंस फाउंडेशन की अत्याधुनिक सुविधाओं से लेस इस एम्बुलेंस से एम्स ऋषिकेश ले जाया गया। 
आपको बता दें अमृता रावत की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद पूरा परिवार क्वारंटीन कर दिया गया है। वहीं अमृता रावत को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  सतपाल महाराज और उनका परिवार घर में पृथक-वास में रह रहा है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां