संविधान दिवस की 70वीं वर्षगांठ के अवसर पर हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल का विश्वविद्यालय का बिड़ला परिसर में वृक्षारोपण किया गया



संविधान दिवस की 70वीं वर्षगांठ के अवसर पर हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल का विश्वविद्यालय का  बिड़ला परिसर में वृक्षारोपण किया गया



श्रीनगर- संविधान दिवस की 70 वीं वर्षगांठ के अवसर पर वर्षभर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की  श्रृंखला में आज हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के  बिड़ला परिसर में  वृक्षारोपण किया गया. जिसमें कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रोफेसर पी एस राणा थे. इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में संविधान दिवस की राज्य स्तरीय आयोजन समिति की सराहना की जो बहुत ही सक्रिय रुप से  इन कार्यक्रमों को संचालित कर रहे हैं. उन्होंने कहा हमें अपने अधिकारों के साथ साथ अपने कर्तव्यों के प्रति भी सजग रहना होगा. इस अवसर पर संविधान दिवस की  राज्य  स्तरीय के नोडल अधिकारी प्रोफेसर एम एम सेमवाल ने अपने संबोधन में वर्षभर आयोजित किए गए कार्यक्रमों की संक्षिप्त रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए कहा आज बृहद  वृक्षारोपण का कार्यक्रम प्रस्तावित था परंतु लॉक डाउन की विषम परिस्थितियों में छात्रों की अनुपस्थिति के कारण इसे  संक्षिप्त रूप प्रदान किया गया. उन्होंने कहा देश के  नागरिक का दायित्व है वह पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान दें इसीलिए पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करना वृक्षारोपण करना इस कार्यक्रम का हिस्सा बनाया गया. अवसर पर विश्वविद्यालय के मुख्य नियंता प्रोफेसर अरुण बहुगुणा ने भी संबोधित किया. इस अवसर पर संविधान दिवस की राज्य आयोजन समिति के सदस्य प्रोफेसर राकेश कुंवर, प्रोफेसर महावीर सिंह नेगी, डॉक्टर ज्योति तिवारी डॉ आर एस फर्त्याल डॉ प्रशांत कंडारी, के  साथ ही प्रोफेसर एस एस रावत प्रो0एके सिंह, प्रोफेसर भारती राणा, प्रोफेसर एम एस  एस रावत, डॉ. एल पी  लखेड़ा, डॉ मोहन नैथानी, सहायक अभियंता एम.एम डोभाल, सहित कई शोध छात्र एवं छात्र उपस्थित थे.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां