Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Hover Effects

TRUE
{fbt_classic_header}

Header Ad

Breaking News:

latest

Ads Place

इन चाईनीज ऐप्स को अपने मोबाइल और कंप्यूटर से तुरंत डिलीट करें -देखें चाइनीज एप्स की पूरी सूची

इन चाईनीज ऐप्स को अपने मोबाइल और कंप्यूटर से तुरंत हटाये -देखें चाइनीज एप्स की पूरी सूची(रैबार पहाड़ स्पेशल डेस्क) लॉकडाउन में. तम...

इन चाईनीज ऐप्स को अपने मोबाइल और कंप्यूटर से तुरंत हटाये -देखें चाइनीज एप्स की पूरी सूची(रैबार पहाड़ स्पेशल डेस्क)

लॉकडाउन में. तमाम काम घर से हो रहे हैं ऑफिस की मीटिंग,  हो या ऑनलाइन क्लास के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हो रही है. और इस काम में एक ऐप जमकर इस्तेमाल हो रहा है. ज़ूम (Zoom) ऐप. बहुत तेजी से पॉपुलर हुआ ये ऐप मार्च महीने में भयंकर डाउनलोड हुआ. लेकिन सरकार को बात कुछ जमी नहीं. गृह मंत्रालय ने कहा कि ये सुरक्षित प्लेटफॉर्म नहीं है. कहा गया कि प्राइवेसी की दिक्कतें हैं. साइबर अटैक हो सकता है. ऑफिस की इन्फॉर्मेशन लीक हो सकती हैं. मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी की कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT-In) ने इसे लेकर आगाह किया था. फिर भी अगर इसे इस्तेमाल करना हो तो सरकार ने कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं. .
ज़ूम का चीन कनेक्शन
2011 में एरिक युवान ने ज़ूम शुरू किया था. वो चीन के रहने वाले हैं लेकिन 1997 में अमेरिका चले गए थे. वही कंपनी के CEO हैं. ज़ूम का हेडक्वार्टर अमेरिका में है और चीन में इसकी तीन शाखाएं हैं. चीन से जुड़ा एक विवाद सामने आया. कहा गया कि ज़ूम की कई वीडियो कॉल्स का डेटा चीन की तरफ डायवर्ट हुआ. डेटा को लेकर ज़ूम का काफी काम चीन में होता है. ज़ूम ने अपनी ‘ग़लती’ मानी भी है.
चीन का ज़िक्र वैसे भी आजकल ज़्यादा हो रहा है. अब ऐप का विवाद चीन से जुड़ा तो सोचा चीन के कुछ बेहद पॉपुलर ऐप्स के बारे में बताते चलें. इनमें से कई ऐप भी पहले विवादित रह चुके हैं. बिजनेस लाइन की एक रिपोर्ट कहती है कि भारत में इस्तेमाल होने वाले टॉप 100 ऐप्स में 44 तो चीन के ही हैं.
TikTok
TikTok बहुत तेजी से पॉपुलर हुआ है. ‘युवा’ इस पर लहालोट रहते हैं. ये शॉर्ट वीडियो मेकिंग ऐप चीन की ByteDance कंपनी का है. 2012 में बनी ये कंपनी कई सोशल नेटवर्किंग ऐप्स चलाती है. फरवरी, 2019 में टिकटॉक को भारत में बैन करने की बात काफी जोर-शोर से उठी थी. कहा गया कि युवाओं पर इसका ग़लत प्रभाव पड़ रहा है.




चाइनीज एप्स की सूची


Helo
इस ऐप की मालिक भी ByteDance ही है.जून, 2018 में ये लॉन्च किया गया था. ये भी एक सोशल नेटवर्किंग ऐप है. ये भारत की 14 भाषाओं में मौजूद है. इसमें ट्रेंड्स, ख़बरें, जोक्स, मीम्स, कोट्स जैसी चीजें भी होती हैं. भारत में इसके चार करोड़ से ज़्यादा यूजर हैं.



Likee (पुराना नाम LIKE)
ये भी एक शॉर्ट वीडियो मेकिंग ऐप है. ये ऐप कई तरह के इफेक्ट्स और एडिटिंग टूल्स देता है. 2019 की दूसरी तिमाही में एक महीने में इसके यूजर 8 करोड़ से ज़्यादा हो गए थे. बच्चों को ध्यान में रखकर सितंबर, 2019 में इसमें पैरेंटल कंट्रोल भी जोड़ा गया.


UC News
ये UCWeb Inc. का प्रोडक्ट है, जो कि चीन के बड़े अलीबाब ग्रुप का हिस्सा है. ये ऐप अलग से भी आता है और UC Browser के साथ भी क्लब होता है. UC Browser, डेटा और प्राइवेसी को लेकर भी तमाम सवाल उठते रहे हैं. UC News राजनीति, खेल, सिनेमा से लेकर टेक्नोलॉजी, लाइफस्टाइल की ख़बरें होती हैं. भारत में ये हिंदी-अंग्रेजी के अलावा 15 क्षेत्रीय भाषाओं में मौजूद है.



BeautyPlus
इस ऐप के दुनिया में 30 करोड़ से ज़्यादा यूजर हैं. ये सेल्फी कैमरे के साथ फोटो एडिटिंग ऐप है. इसमें तमाम तरह के फीचर होते हैं, जिससे चेहरे में बदलाव किए जा सकते हैं. इसमें फनी इमोजी भी होती हैं. 



इसके अलावा , Virus Cleaner (Hi Security Lab),  360 Security,  DU Battery Saver, DU Cleaner, ES File Explorer, Photo Wonder, QQ International, Mi Store जैसे चाइनीज ऐप्स भी भारत में पॉपुलर हैं.

No comments

Ads Place