खो दिया उत्तराखंड ने अपना एक हीरा- प्रख्यात लोकगायक हीरा सिंह राणा को भावभीनी श्रद्धांजलि


खो दिया उत्तराखंड ने अपना एक और हीरा


विख्यात लोकगायक हीरा सिंह राणा की फोटो

रैबार पहाड़ का-उत्तराखंड के विख्यात लोक 
गायक सुर सम्राट हीरा सिंह राणा का दिल का दौरा पड़ने से कल रात तड़के 2:30 बजे निधन हो गया इस खबर को मिलते हैं पूरी देवभूमि में शोक की लहर दौड़ गई


अपने गीत संगीत और सुरमयी सुरों से उत्तराखंड के लोगों के दिल में राज करने वाले विख्यात गायक हीरा सिंह राणा का आकास्मिक निधन हो गया।



उनके निधन से उत्तराखंड संगीत जगत को अपूरणीय क्षति हुई है  अपनी कालजई रचनाओं से दर्शकों के दिल में राज करने वाले उनका प्रसिद्ध गीत जो आज हर किसी की जुबान पर है रंगीली बिन्दी घाघरी काई इसके अलावा श्री राणा ने सैकड़ों गीत लिखे जिससे कुमाऊं की संस्कृति और गीतों को नई पहचान मिली मृदुभाषी व्यवहार के धनी शांत स्वभाव उच्च विचार लेखक कवि आकाशवाणी से राणा जी के गीतों को नई पहचान मिली।


 उनकी प्रतिष्ठा व दूरगामी सोच को देखते हुए दिल्ली सरकार ने उन्हें गढ़वाली कुमाऊनी, जौनसारी भाषा के उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई थी।
विख्यात लोकगायक हीरा सिंह राणा के निधन से उत्तराखंड कला जगत में शोक की लहर है।


लोक गायिका माया उपाध्याय की फेसबुक वॉल से



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां