वन आरक्षी भर्ती प्रकरण में फरार आरोपी को पुलिस ने मुजफ्फरनगर से किया गिरफ्तार ओएमआर सीट और ब्लूटूथ बरामद

वन आरक्षी भर्ती प्रकरण में फरार आरोपी को पुलिस ने मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार ओएमआर सीट और ब्लूटूथ बरामद
पौड़ी से कुलदीप सिंह बिष्ट की रिपोर्ट




 पौड़ी- वनआरक्षी भर्ती प्रकरण में एक फरार आरोपित को पौड़ी पुलिस ने मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित को न्यायालय में पेश करने के बाद 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। गिरफ्तार आरोपित परीक्षा प्रकरण के शिकायतकर्ता का पुत्र है। विवेचना में स्पष्ट हुआ था उक्त आरोपित ने परीक्षा में डिवाइस के माध्यम से नकल की थी। इस प्रकरण में पुलिस पूर्व में लोक सेवा आयोग के एक समीक्षा अधिकारी सहित कृषि विभाग के एक सहायक कृषि अधिकारी को गिरफ्तार कर चुकी है। भर्ती प्रकरण का मास्टर माइंड लोक सेवा आयोग में तैनात समीक्षा अधिकारी था। जो पूर्व में यूपीएससी की परीक्षा भी क्वालीफाई कर चुका था। शनिवार देर रात पौड़ी पुलिस ने वन आरक्षी भर्ती प्रकरण के एक आरोपित विजयदीप निवासी बुडपुरजट को मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार किया। आरोपी के पास से पुलिस ने परीक्षा के प्रश्नपत्र, ओएमआर सीट व ब्लूटुथ डिवाइस भी बरामद की है। विवेचनाधिकारी सीओ सदर वंदना वर्मा ने बताया कि परीक्षा प्रकरण में उक्त आरोपित की भूमिका विवेचना के दौरान उजागर हुई थी। लेकिन आरोपित विजयदीप फरार चल रहा था। सीओ वर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित शिकायतकर्ता गोपाल सिंह का ही पुत्र है। गोपाल सिंह का पुत्र परीक्षा का आवेदक था। विवेचना में स्पष्ट हुआ था कि विजयदीप ने परीक्षा के दौरान नकल की थी। पुलिस गिरफ्तारी के डर के कारण वह फरार चल रहा था। वर्मा ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर बीते शनिवार देर रात को विजयदीप को मुजफ्फरनगर के थानाक्षेत्र भोपा से गिरफ्तार किया गया। विजयदीप किसी के घर में छ़ुपा हुआ था। पुलिस आने की सूचना परउसने भागने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने पीछा कर पास के ही खेत से इसे पकड़ लिया। विजयदीप भर्ती परीक्षा प्रकरण के मुख्य आरोपी कुलदीप राठी के रुड़की स्थित कोचिंग सेंटर में कोचिंग करता था।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां