Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Hover Effects

TRUE

a1

{Entertainment}{slider-1}
{fbt_classic_header}

Header Ad

Breaking News:

latest

Ads Place

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग में सात दिवसीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के द्वितीय दिवस के प्रथम सत्र में प्रतिभागियों ने सीखे क्यू जी आई एस के कई गुरु

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग में सात दिवसीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के द्वितीय दिवस के प्रथम सत्र में प्रति...

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग में सात दिवसीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के द्वितीय दिवस के प्रथम सत्र में प्रतिभागियों ने सीखे क्यू जी आई  एस के कई गुरु


(रैबार पहाड़ का ब्यूरो)



हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग में सात दिवसीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के द्वितीय दिवस के प्रथम सत्र में प्रतिभागियों ने सीखे क्यू जी आई  एस के कई गुरु
हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय की भूगोल विभाग द्वारा एक सप्ताह का फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम जो 21 जुलाई से 27 जुलाई तक आयोजित  किया जा  रहा  हैं, के दूसरे  दिन  के प्रथम सत्र के  चेयरमैन डॉ एल  पी लखेड़ा भूगोल  विभाग एवं को-चेयरमैन डॉ महेंद्र  बाबू प्रबंधन विभाग हे न ब गढ़वाल  वि वि थे.दिल्ली विश्वविद्यालय के डॉ दलजीत सिंह जो इस कार्यक्रम में मास्टर ट्रेनर की भूमिका में है उन्होंने क्यू जी.आई. एस से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान की तथा प्रयोगात्मक कार्य संपन्न करवाएं. इस अवसर पर इस सत्र के चेयरमैन डॉ0 एल.पी लखेड़ा ने कहां इस तरह के कार्यक्रम शिछ्कों एवं छात्रों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है जिससे उन्हें नई नई तकनीकी  के द्वारा जहां समय की बचत होती है वही कार्य भी अधिक शुद्धता से होता है. उन्होंने सभी प्रतिभागियों से कहां उन्हें इस कार्यक्रम को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए. इस अवसर पर को-चेयरमैन डॉ महेंद्र बाबू जो हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय में प्रबंधन विभाग में शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं वर्तमान समय तकनीकी का युग है हमें विभिन्न तकनिकियों का  प्रयोग  करना सीखना समय  की मांग है.भूगोल विभाग की इस पहल से निश्चित रूप से शिक्षकों तथा शोध छात्रों को इन नई तकनीकियों  का निश्चित रूप से लाभ मिलेगा.कार्यक्रम  के संयोजक एवं हे न ब गढ़वाल  वि वि भूगोल  विभाग  के विभागाद्ययछ प्रोफेसर महाबीर  सिंह  नेगी ने यह जानकारी  दी. इस सत्र का संचालन शोध छात्रा नेहा चौहान ने किया.
डा0एल पी लखेड़ा  चेयरमैन  डा0 महेंद्र  बाबू  को-चेयरमैन रहे

No comments

Ads Place