Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Hover Effects

TRUE
{fbt_classic_header}

Header Ad

//

Breaking News:

latest

Ads Place

संविधान दिवस की 70 वीं वर्षगांठ पर वर्षभर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की श्रृंखला

संविधान दिवस की 70 वीं वर्षगांठ पर वर्षभर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की श्रृंखला    श्रीनगर-  संविधान दिवस की 70 वीं वर्षगांठ पर वर्षभ...

संविधान दिवस की 70 वीं वर्षगांठ पर वर्षभर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की श्रृंखला   


श्रीनगर-  संविधान दिवस की 70 वीं वर्षगांठ पर वर्षभर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की श्रृंखला में 30 अगस्त को राज्य स्तरीय वाद विवाद प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है जिसके लिए प्रदेश स्तर की अधिकांश विश्वविद्यालयों के छात्र में प्रतिभाग करेंगे. कार्यक्रम का उद्घाटन हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय कि  कुलपति प्रो अन्नपूर्णा नौटियाल करेंगी. 



मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार एवं विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा   संविधान दिवस की 70 वीं वर्षगांठ पर वर्षभर आयोजित चलने वाले  कार्यक्रमों के लिए हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय श्रीनगर गढ़वाल इसके तहत आयोजित किए जाने वाले विविध कार्यक्रमों के लिए नोडल विश्वविद्यालय की जिम्मेदारी दी गई है. इसी के तहत अभी तक विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं. इसी श्रृंखला में 30 अगस्त  को राज्य स्तरीय वाद विवाद प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है जिसका विषय क्या मौलिक कर्तव्य भी मौलिक अधिकारों की भांति कानूनी रूप से बाध्यकारी होने चाहिए रखा गया है. इस प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाली

 24 संस्थाओं के छात्र जिनमें प्रत्येक संस्था से 2 छात्र पक्ष और विपक्ष में इस प्रतियोगिता में भाग लेंगे. इसमें भाग लेने वाले प्रमुख विश्वविद्यालय गढ़वाल विश्वविद्यालय के तीनों परिसर, कुमाऊं विश्वविद्यालय श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय, उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय ग्राफिक एरा विश्वविद्यालय, एफ आर आई देहरादून, देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार मुख्य रूप से हैं. इस राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए आयोजन समिति के संयोजक प्रोफेसर महावीर सिंह नेगी विभागाध्यक्ष भूगोल, समन्वयक डॉ प्रशांत कंडारी, सह समन्वयक डॉ नितिन सती व  आयोजन सचिव डॉक्टर आलोक शेखर बहुगुणा है. वर्ष भर चलने वाले इन कार्यक्रमों के लिए राज्य स्तरीय नोडल अधिकारी प्रोफेसर एम एम सेमवाल विभागाध्यक्ष राजनीति विज्ञान विभाग ने अवगत कराया है कि विश्वविद्यालय के कुलपति के मार्गदर्शन एवं स्तरीय आयोजन समिति के सदस्यों के परिश्रम का परिणाम है जहां एक और लॉकडाउन पीरियड में पूरे देश में आयोजित किए जाने वाले इन कार्यक्रमों आयोजन मे में कमी रही है वही दूसरी ओर हम इस अवधि में पूरे देश में अग्रणी स्थान बनाए हुए हैं. जो हम सबके लिए गौरव का विषय है. 30 अगस्त  को आयोजित होने वाले इस कार्यक्रमों की तैयारी के लिए आयोजित बैठक में राज्य आयोजन समिति के सदस्य प्रोफेसर राकेश कुंवर विभागाध्यक्ष सैन्य विज्ञान, समन्वयक डॉ प्रशांत कंडारी, सह समन्वयक डॉ नितिन सती आयोजन सचिव डॉक्टर आलोक शेखर बहुगुणा, प्रोफेसर सीमा धवन  डॉक्टर ज्योति तिवारी, डॉक्टरजे पी  भट्ट उपस्थित थे.

No comments

Ads Place