जखोली विकासखण्ड के बांगर के सिरवाड़ी गांव में फटने से मची तबाही-देखें पूरी खबर

 रामरतन सिह  पंवार/जखोली

जखोली विकासखण्ड के सिरवाड़ी गांव में फटने से मची तबाही-देखें पूरी खबर



कल रात्रि को भारी बारिश के चलते गदेरे के ऊपर बादल फटने से सिरवाड़ी गाँव मे भारी नुकसान हुआ है भले ही जान माल का नुकसान न हुआ हो लेकिन ग्रामीणों के मकानो को बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है।हालांकि सिरवाड़ी मे ये बादल फटने की पहली घटना नही है व्लकि इससे पूर्व भी बर्ष 1986 मे बादल फटने के कारण कई आवासीय भवनो सहित गौशालाएं क्षतिग्रस्त हुई थी तथा मलबे से दबकर 13 लोगो की मौत हो गयी थी ग्रामीणों का कहना है कि बारिश का सिलसिला देर शाम सात बजे से ही चालू था बताया जा रहा है कि सिरवाड़ी गांव मे सहजा देबी के मन्दिर मे पूजा पाठ चल रहा था जिस दौरान सभी गांववासी मन्दिर मे पूजा अर्चना कर रहे थे उसी क्षण ठीक   11 बजे  गदेरे मे बादल फट गया जिससे गदेरे मे पानी का बहाव त तथा ही मलबा लोगो के आवासीय मकानों व गौशालाओं मे घुस गया जैसे ही मलबा घरो मे घुसा वैसे ही लोग घरो से बहार निकल गये साथ ही गाँव मे बादल फटने की खबर जखोली तहसील प्रशासन को दी गयी.।


 लेकिन ग्रामीणों का आरोप है तहसील प्रशासन को सूचना देने के बावजूद भी कोई अधिकारी व कर्मचारी मौके पर नही पहुंचे।बताया जा रहा है कि सिरवाड़ी मे तीन आवासीय भवन क्षतिग्रस्त हो गये।साथ ही चार धाम बिकास परिषद के उपाध्यक्ष आचार्य शिब प्रसाद ममंगाई ने सिरवाड़ी गांव मे बादल फटने की घटना के बारे मे सुना तो उन्होंने तुरंत जिला प्रशासन को दूरसंचार के माध्यम से बात कर ग्रामीणों की मदद करने का कहा। गोरपा,सिरवाड़ी,कुरछोला मोटर मार्ग भी पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो गया है साथ ही पुजार गाँव गदेरे पर बना पुल भी क्षतिग्रस्त हो गया है जिससे आवाजाही भी पूर्णतया बंद हो गयी।मयाली



रणधार मोटर मार्ग भी खलियान से आगे भारी भूस्खलन के कारण बंद हो गयी, बताया जा रहा है कि लेस्वाल्टा के पास भारी बारिश के कारण रणधार की ओर जा रही एक अल्टो कार भी गदेरा आने. से पानी मे बह गयी कार चालक ने आनन फानन मे बहार छलांग लगा दी जिससे उसकी जान बच गयी। सिरवाड़ी गाँव मे बादल फटने की घटना सुनकर रुद्रप्रयाग के क्षेत्रीय विधायक भरत सिह चौधरी सहित जिला पंचायत सदस्य

मंजू देबी सेमवाल,सामाजिक कार्यकर्ता चिरंजीवी प्रसाद सेमवाल प्रधान नरेन्द्र रोथाण

उप जिलाधिकारी नंदन सिंह नगन्याल,तथा पी एम जी एस वाई सहित कई लोग घटना स्थल पर मौजूद थे।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां