एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना उत्तराखंड में जल्द होगी लागू-आपके काम की खबर

 

एक देश एक राशन कार्ड योजना उत्तराखंड में जल्द होगी शुरू-आपके काम की खबर



देहरादून-केन्द्र सरकार अब एक देश एक राशन कार्ड योजना चला रही ... जिसके तहत अगर किसी भी व्यक्ति का राशन कार्ड बना है ..तो वो देश के किसी भी कौने में जाकर राशन ले सकता ...और बता दें इस योजना को उत्तराखण्ड में भी जल्द लागू किया  जा रहा है.. मुख्य सचिव ओम प्रकाश की माने तो जैसे यह योजना लागू होती ,, तो जल्दी जनता को इसका लाभ मिलेगा ... हमारे प्रदेश में एसे कई लोग हैं जो बाहर के प्रदेशों में रहते  हैं एसे लोगों को इस योजना का लाभ मिलेगा और कहीं भी राशन ले सकेंगे

वन नेशन वन राशन कार्ड की मुख्य विशेषताएं

इसका लक्ष्य एनएफएसए (NFSA) के अनुसार किसी भी कठिनाइयों के बिना लाभार्थियों को सस्ती कीमतों पर खाद्य सुरक्षा लाभ प्रदान करना है।


यह योजना राशन कार्ड धारकों को देश में कहीं भी किसी भी एफपीएस (FPS) स्टोर पर रियायती कीमतों पर राशन आपूर्ति का उपयोग करने की अनुमति देगी|


ऑनलाइन पोर्टल वन नेशन वन राशन कार्ड IMPDS है जो देश भर के पीडीएस सिस्टम के सभी डेटा को एक ही प्लेटफॉर्म पर इकट्ठा करने में मदद करता है|


हाल ही में एक सरकारी ट्वीट के अनुसार, प्रवासी मार्च 2021 तक देश के किसी भी पीडीएस के राशन खरीद सकेंगे|
सरकार का यह भी कहना है कि 24 राज्यों में 67 मिलियन लोगों की आबादी है, जिनकी 83% पीडीएस आबादी अगस्त तक इस योजना के दायरे में आ जाएगी|


इस योजना को लागू करने के लिए, सभी FPS स्टोर में एक POS (बिक्री का बिंदु) तंत्र स्थापित किया जाएगा ताकि IMPDS पोर्टल आसानी से डेटा एकत्र कर सके|


वन नेशन वन राशन कार्ड का महत्व


इस योजना का मुख्य उद्देश्य राशन कार्ड के लाभार्थियों को राष्ट्रीय स्तर पर पोर्टेबिलिटी प्रदान करना है, इसके अलावा, केंद्र सरकार की इस योजना के कई अन्य लाभ हैं-


इस योजना का पहला और सबसे महत्वपूर्ण महत्व RC की अंतर है, जिसका अर्थ है कि लाभार्थी किसी भी एफपीएस स्टोर पर अपना अधिकार प्राप्त करने के लिए अपने कार्ड का उपयोग कर सकते हैं, या तो उसी राज्य या किसी अन्य राज्य में उसी राशन कार्ड का उपयोग कर सकते हैं|


पूरे देश में इस योजना के कार्यान्वयन में प्रौद्योगिकी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी| प्रत्येक एफपीएस में स्थापित किए जाने वाले बिक्री उपकरणों के इलेक्ट्रॉनिक बिंदु के आधार पर, डेटा को इकट्ठा किया जाएगा और आईएमपीडीएस में प्रतिबिंबित किया जाएगा|


यह राशन कार्ड प्राप्तकर्ताओं को उनके राशन डीलर का चयन करने का विकल्प भी प्रदान करता है| यदि वे अपने मौजूदा एफपीएस डीलर से संतुष्ट नहीं हैं, तो वे बिना किसी समस्या के दूसरे डीलर के पास जा सकते हैं|


यह सरकार को देश के सभी लोगों की  भूख को खत्म करने और भोजन प्रदान करने के अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में भी मदद करेगा|


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां