नयारघाटी में कयाकिंग एंड केनोइंग और राफ्टिंग का ट्रायल

 नयारघाटी में कयाकिंग एंड केनोइंग और राफ्टिंग का ट्रायल

(कुलदीप सिंह बिष्ट पौड़ी)


सतपुली। नयारघाटी में एडवेंचर टूरिस्म को बढ़ावा देने के लिए रविवार को 2 सप्ताह के भीतर दूसरी बार नयार नदी में खैरासैंण से बडखोलू तक कयाकिंग एंड केनोइंग का परीक्षण किया गया। जिला पर्यटन व साहसिक अधिकारी केएस नेगी ने कहा कि जिले में एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए नयारघाटी क्षेत्र की नयार नदियों में कयाकिंग एंड केनोइंग के लिए उपयुक्त स्थान देखकर परिक्षण किये जा रहे है। जिसे जल्द ही धरातल पर उतारा जायेगा, इससे क्षेत्र को एडवेंचर पर्यटन की दिशा में एक नई पहचान मिलेगी। युवाओं को कयाकिंग एंड केनोइंग से जोडकर रोजगार देने के लिए युवाओं को प्रशिक्षण दिया जायेगा। जिसमें युवाओं को 7 दिन का फॉउंडेशन कोर्स,14 दिन का बेसिक कोर्स व 21 दिन का एडवांस कोर्स कराया जाएगा।

नयारघाटी क्षेत्र में देवप्रयाग से ब्यासघाट, बिलखेत, बांघाट, बडखोलू, सतपुली, खैरासैण में नयार नदी पर कयाकिंग एंड केनोइंग की संभावनाओं को तलाशने के लिए यह ट्रायल किए जा रहे हैं। कयाकिंग एंड केनोइंग का ट्रायल करने के लिए टीम हेड प्रवीण सिंह रांगड़, पवन राणा, आशु, प्रवीण रावत, अंकित पुण्डीर,मनीष रावत, सचिन ममगाई, लक्ष्मण नेगी व आशीष ने नयार नदी में परीक्षण किया।

कैप्शन। सतपुली में पूर्वी नयार नदी में कयाकिंग एंड केनोइंग का ट्रायल करते हुए विशेषज्ञ

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां