आजादी का जश्न हरियाली के साथ मनाया युवाओं ने

 युवाओ ने वृक्षारोपण कर मनाया स्वतंत्रता दिवस 


गुप्तकाशी- लोग तरह तरह से स्वंत्रता दिवस मानते हैं और स्वतंत्रता दिवस मानाने के हर तरीके बहुत अच्छे हैं पर बृक्षारोपण इस कोविड काल में बहुत प्रासंगिक लगता है।  बहुत पहले जब दादी श्रीमती प्रभा सेमवाल ने गांव से दूर अपने खेतो में पेड़ लगाने शुरू किये थे तो उन्होंने कभी नहीं सोचा होगा कि वह पेड़ अब जंगल में बदल जायेगा और अब गांव का युवा उस मुहीम से जुड़ जाय इससे गर्व कि और क्या बात हो सकती है। ग्राम सभा फली पसालत सिंगोली नांदखोला के युवाओ ने बृक्षारोपण कर मनाया स्वतंत्रता दिवस | गांव वाले बताते हैं कि  दादी के पोत्र अंकित सेमवाल के आह्वान को गांव के युवा  प्रधान श्री हरीश तिवारी ने सराहा और गांव के सब युवाओ ने इसपर गर्व के साथ सहमति दी।  ग्राम प्रधान हरीश तिवारी जी बताते हैं यूँ तो सब गांव कि महिलाये और अन्य स्थानीय लोग भी इस मुहीम से जुड़ना चाहते थे पर कोरोना काल ने बहुत लोगो के एक साथ जमा न होने के ऐतिहात के तहत कुछ ही युवाओ  को मौका मिला खासकर वह जो आजकल गांव आये हुए हैं । सबने मिलकर गांव कि श्रीमती प्रभा देवी के लगाए जंगल में बांझ, बुरांस सहित कई स्थानीय प्रजातियों का बृक्षारोपण किया।  गांव के युवा प्रमोद सेमवाल बताते हैं कि आजकल कोरोना काल में इससे अच्छे तरीके से स्वतंत्रता दिवस नहीं मनाया जा सकता था  । अंकित सेमवाल बताते ही कि जब  उन्होंने ग्राम प्रधान जी से इस बाबत कि थी तो प्रधान साब ने अपने अन्य सब कार्यकर्मो को स्थगित कर बृक्षारोपण में ही अपना ध्यान लगाया साथ ही उन्होंने थाना चौकी इंचार्ज गुप्तकाशी का भी धन्यवाद किया जिन्होंने उन्हें कोविड काल में सुरक्षित रहकर पेड़ लगाने कोई मनाही नहीं कहकर प्रेरित किया।  

देश के युवा अगर इस तरह भी स्वतंत्रता  दिवस मनाये तो देश में पर्यावरण के हनन को बचाया जा सकता है और युवा को इस और भी प्रेरित किया जा सकता है  ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां