यमकेश्वर की खोखली सड़क बड़े हादसे को दे रही दावत-वीडियो में देखें खोखली सड़क

यमकेश्वर की खोखली सड़क बड़े हादसे को दे रही दावत-वीडियो में देखें खोखली सड़क


यमकेश्वर-  प्रदेश की अस्थाई की राजधानी के सबसे नजदीक का बिकास खंड यमकेश्वर ..राज्य निर्मांण के बाद भी विकास की राह ताकते हुये यहां के ग्रामींणों की आंखे पथरा गयी लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुयी है! क्षेत्रिय जन समस्याओं को निरंतर उठाने वाले पूर्व सैनिक क्षेत्र पंचायत सदस्य बूंगा सुदेश भट्ट ने बताया कि लक्ष्मणझूला से मात्र 15  किमी कि दुरी पर व उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्य नाथ जी के गांव से मात्र 13 किमी की दुरी पर स्थित यमकेश्वर की जीवन रेखा समझी जाने वाली इस सडक से पुरे दिन सैकडों वाहन उपर नीचे गुजरते हैं जो कि खोखली हो चुकी सडक से अंजान होकर बेखोफ चलने को मजबुर हैं! सडक की भयावह स्थिति बडी व आकस्मिक दुर्घटना को निमंत्रण दे रही है! 



क्षेत्र पंचायत सदस्य सुदेश भट्ट के अनुसार यदि उक्त स्थान पर दो वाहन आते जाते पास होते हैं तो उस दौरान कभी भी कोई बडा हादसा हो सकता है 

जिससे चिंतित होकर सुदेश भट्ट समेत समस्त क्षेत्र वासियों की सरकार से मांग है कि दुर्घटना को न्योता दे रही ईस समस्या का शीघ्र समाधान करें अन्यथा यमकेश्वर की ईसी तरह की तमाम विकट समस्याओं को लेकर स्थानीय पंचायत प्रतिनिधि व ग्रामीॆण सडकों पर उतरने को बाध्य होंगे 


कुछ दिन पहले भी यमकेश्वर ब्लाक मुख्यालय से 400 मीटर दुरी पर पहली लक्ष्मण झूला से मात्र 13 किमी की दुरी पर दुसरी और आज फिर पैंय्या के पास ये तीसरी बडी व भयावह तस्वीर को खोज सरकार व जिम्मेवार प्रतिनिधियों को जनता के प्रति उदासीनता व विकास के प्रति लापरवाही के चलते उन्हे उनकी जिम्मेवारियों का अहसास कराया है! सुदेश भट्ट ने ईस समस्या से अवगत कराते हुये सरकार से गुहार लगाते हुये मांग करी है व आसंका जताई है कि जिस तरह हर रोज प्रकरण सामने आ रहे उस हिसाब से सरकार को ईस सडक को राज्य मार्ग की जगह खोखला मार्ग घोषित कर देना चाहिये! सुदेश भट्ट के अनुसार अभी भी पुरी सडक पर ईस तरह के दृश्य कई जगह देखने को मिल सकते हैं।


 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां