बड़ा सवाल-किसने गायब किए कोरोना से मृत महिला के कुंडल व गले की चैन को गायब-मृतक के परिजन ने श्रीनगर बेस अस्पताल पर उठाए सवाल

 कोविड संक्रमित मृत महिला के कुंडल व चैन मिली गायब, जिलाधिकारी से की शिकायत-

(कुलदीप सिंह बिष्ट पौड़ी)




पौड़ी- राजकीय मेडिकल कालेज श्रीनगर से संबद्ध बेस अस्पताल श्रीकोट स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर विवादों में रहा है। अब अस्पाल में कोविड महामारी की व्यवस्थाओं पर भी सवाल उठ रहे हैं। अस्पातल में भर्ती कोरोना संक्रमित मृत महिला के शव से कुंडल व चैन गायब होने की बात सामने आई है। मृतक के पुत्र ने इस संबंध में जिलाधिकारी से शिकायत भी की है। इसके अलावा मृतक के पुत्र ने अस्पताल प्रबंधन पर इलाज में गंभीर लापरवाही के आरोप भी लगाए हैं। 

श्रीकोट निवासी विभोर बहुगुणा ने बेस अस्पताल श्रीकोट प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। डीएम धीराज गर्ब्याल को भेजे शिकायती पत्र में उन्होंने लिखा है कि मेरी माता विगत 8 सितंबर को कोरोना पॉजीटिव पाई गई थी। जिस पर 9 सितंबर को उन्हें बेस अस्पताल श्रीकोट में भर्ती किया गया था। उपचार के दौरान 21 सितंबर शाम करीब 5 बजे उनका देहांत हो गया था। अंत्येष्टि के लिए लाए गए शव को संक्रमित होने के बावजूद भी ठीक से पैक नहीं किया गया था। जिस किट में शव को रखा गया था वह फटी हुई थी। जब दूसरी किट मंगाई गई तो उसकी भी चैन खराब थी। विभोर ने बताया कि शव से एक चेन व दोनों कानों के कुंडल गायब थी। विभोर ने स्थानीय प्रशासन व अस्पाल प्रबंधन में आपसी सामंजस्य न होने का आरोप भी लगाया है। कहा कि माता की मौत के सात दिन बाद भी स्थानीय प्रशासन द्वारा मुझसे फोन पर माता की कुशल क्षेम पूछी जा रही है। इससे स्पष्ट होता है कि अस्पताल प्रबंधन व स्थानीय प्रशासन में सामंजस्य नहीं है। अस्पातल प्रबंधन स्थानीय प्रशासन को स्पष्ट सूचनाएं नहीं दे रहा है। विभोर ने बताया कि कोरोना मरीजों को देखने के लिए विशेषज्ञ चिकित्सक नहीं आ रहे हैं। मरीजों को प्रशिक्षु चिकित्सकों के भरोसे छोड़ा जा रहा है। जबकि अन्स मेडकल स्टाफ व सफाई कर्मी पूरी मेहनत से कार्य कर रहे हैं। विभोर ने कहा कि पित्र कार्य संपन्न होने के बाद वह जिलाधिकारी व सीएमओ से वार्ता कर विरोध दर्ज कराएगा। कार्यवाही न होने पर आंदोलन किया जाएगा। वहीं जिलाधिकारी धीराज सिंह ने मामले गंभीर बताते हुए जांच कराए जाने की बात कही है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां