ईमानदारी की एक मिसाल ... 41 साल बाद सेवानिवृत्त

 ईमानदारी की एक मिसाल ... 41 साल बाद सेवानिवृत्त 



रेलवे विभाग मे 41 साल तक पूरी ईमानदारी व पूरी  निष्ठा के साथ नौकरी के बाद 30 सितम्बर को बचन देव गैरोला रेलवे विभाग मे चीफ इंस्पेक्टर ऑफ   टिकट यानि सीआईटी के पद से सेवानिर्वित हो गये ।  वहीं उनके सेवानिर्वित होने पर रेलवे विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियो ने उन्हे बधाई भी दी ।  आपको बता दे की चीफ इंस्पेक्टर  ऑफ टिकट मे आज के समय मे नौकरी करना बड़ा जोखिम भरा काम है। लेकिन उसके बावजूद भी बचन देव गैरोला ने इस पद पर रहकर पूरी ईमानदारी के साथ  रेलवे विभाग मे काम किया । बचन देव गैरोला ने बताया की रेलवे विभाग की 41 साल की नौकरी मे विभाग की और से काफी मान सम्मान मिला है । और सभी लोगो के सहयोग से कार्यों को बखूभी निभाया जिससे वह  आज बहुत  खुश है। वहीं उन्होने यह भी बताया की सर्विस के दौरान ऐसा भी एक छण आया जब विभाग के कुछ लोगो ने झूठी शिकायत करते हुए उन्हें फंसाने की कोशिश की जिसको लेकर  अधिकारियों ने उन्हे उस समय चैक भी किया लेकिन बावजूद उसके उनकी ईमानदारी व कार्य निष्ठा और काम के प्रति समर्पित भाव को देखते हुए विभाग के अधिकारियों ने पूरे सम्मान के साथ दौबारा से पद पर बैठाया ।  हांलाकि वह क्षण उनको अभी भी याद आता है।  वहीं आज सेवानिर्वित होने के बाद वह काफी खुश है। पूरे सम्मान के साथ विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों ने उनका फूल मालाओं से स्वागत करते हुए उन्हे विदाई पार्टी दी , और उनके स्वस्थ जीवन की शुभकांमनाएं दी ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां