आजादी के 73 साल बाद साकार हुआ डोईवाला के दस गांवों के ग्रामीणों का सपना-सीएम रावत ने दी बड़ी सौगात-जनता बोली धन्यवाद सीएम साहब-जानिए पूरी खबर

आजादी के 73 साल बाद साकार हुआ डोईवाला के दस गांवों के ग्रामीणों का सपना-सीएम रावत ने दी बड़ी सौगात-जनता बोली धन्यवाद सीएम साहब



 डोईवाला-उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की  विधानसभा क्षेत्र डोईवाला के लगभग 10 पहाड़ी गांवों को देश की आजादी के  73 वर्षों बाद पहली बार पक्की सड़क और पुल की सौगात मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने  थानों न्याय पंचायत के सिंधवाल गांवनाही कलाकोटलासनगांवसतेली सहित लगभग 10 गांव की लगभग 3 हजार से भी अधिक आबादी पक्की सड़क और पुल ना होने के कारण काफी दिक्कतों   का सामना कर रही थी बरसात के समय में यह परेशानी और विकट हो जाती थी जब नदी में पानी तेज बहाव से आता था जिससे कि इन गांवों का संपर्क बाजार से कट जाया करता था ।राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने विधानसभा चुनाव के समय यहां की जनता से इस पुल और सड़क का वादा किया था जिसको उन्होंने आज पूरा कर दिया है पुल बनकर तैयार हो चुका है और सड़क का काम भी अंतिम दौर में है यह कार्य लगभग 6 करोड़ 74 लाख रुपए की लागत से किया जा रहा है स्थानीय ग्रामीण यहां पुल व सड़क पाकर काफी प्रसन्न है और मुख्यमंत्री का आभार जता रहे हैं क्योंकि आजादी के बाद से वर्तमान में उन्हें पहली बार पक्की सड़क और पुल नसीब हुआ है पुल और पक्की सड़क को बन जाने के बाद से जहां इन ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि का व्यवसाय कर रहे ग्रामीणों को सीधा सीधा लाभ पहुंचेगा तो वही स्कूल आने जाने वाले बच्चों एवं अन्य आवागमन करने वाले ग्रामीणों को भी इससे काफी लाभ मिलने की उम्मीद है !

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां