शहीद की बेटी के जय घोष से उड़े पाकिस्तान के होश-देखिए शहीद की बेटी की हुंकार

 शहीद की बेटी के जय घोष से उड़े पाकिस्तान के होश-देखिए शहीद की बेटी की हुंकार



(आर.सी ढौंडियाल उत्तराखंड)

इस बच्ची की उम्र देखिए, और गौर से जरा इसका जज्बा भी देख लीजिए ये हमारी वो ही बच्ची है जिसके पापा बीएसएफ में थे और अभी अभी दुश्मनों के आत्मघाती हमले में शहीद  हुए हैं…. आज पूरा देश और पूरा उत्तराखंड़ गमजदा है, लाजमी भी है, लेकिन ये एक सबक उनके लिए भी है जो अपने चंद निजि हितों के खातिर वंदे मातरम बोलने पर ऐतराज जताते है वो एक बार इस बच्ची को जरूर सुन ले, 


           (सुनें शहीद बेटी की वह हुंकार)


क्या कहीं से भी इसके गुस्से में कट्टरपंथी या धर्मनिर्पेक्षता दिखाई दे रही है, अगर दिखती भी तो तब भी हम इस बच्ची को और इस परिवार को शलाम जरूर ठोकते, आखिर इस परिवार ने त्योहार के मौके पर माँ भारती की रक्षा में अपना लाड़ला खोया है, इस परिवार के दर्द का अहसास शायद कोई कर पाये, खासकर वंदेमातरम बोलने पर ऐतराज जताने वाले या अपना अवार्ड़ वापस करने वाले…..



सहिष्णु और असहिष्णु क्या होता है शायद, हमारे शहीद भाई की इस बिटिया को भी, शायद ही पता हो, हमें भी नहीं मालूम, लेकिन भारत माता की जय बोलने से हमारे रोंगटे जरूर खड़े होते हैं और होते रहेंगे इस बच्ची को दिल से सलाम करने को मन कर रहा है, इस मासूम बच्ची ने हमें झकझोड़ा है… क्या हमारे जवान दुश्मन के नापाक हरकतों से यूँ ही शहीद होते रहीगे और कुछ लोग दुश्मन की इन नापाक हरकतों को पर्दा ड़ालने की कोशिश करते रहीगे….और वंदे मातरम पर ऐतराज जताते रहींगे है…..और फिर हिन्दुस्तान रहने लायक भी नहीं रहता है उनके लिए … इस बच्ची के आँसुओं का हिसाब और जबाब दे सकते हो क्या आप….



 हमारे पड़ोसी मुलक की हर त्योहार पर कोशिश होती है कि हमारे त्योहारों के सीजन में कुछ खुरापात किया जाय ताकि हमारे त्योहार की खुशियों पर ग्रहण लगाया जा सके, लेकिन सुन लो नापाक जब तक हमारे देश के पास ऐसी बच्चियाँ और ऐसे माँ भारती के लाल हैं उसकी आँनबान और शान की रक्षा के लिए तो तेरी दूर दूर तक भी औकात नहीं है कि तू हमें परेशान कर पाए, हम त्योहार भी मनाय़ेगे और माँ भारती की हिफाजत भी करीगे और हमेशा तेरे नापाक इरादों को नेश्ता नाबूत करते रहेंगे…..


…….बारामूला में पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर के उल्लंघन के दौरान ऋषिकेश का हमारा एक लाल शहीद हो गया है ऋषिकेश का रहने वाले शहीद सब इंस्पेक्टर राकेश ड़ोभाल बीएसएफ में थे और बारामूला में तैनात थे, आचानक उनके घर पर राकेश डोभाल के शहीद होने की खबर से मातम छा गया लेकिन जिस अंदाज में उनकी छोटी बिटिया ने धैर्य का परिचय दिया वो वाकई इस परिवार और देश के बाकी शहीदों के परिवार वालो के लिए बड़े ही सम्मान और ढांड़स बधाने वाला है, जिस अबोध बच्ची के पिता शहीद हुए हो और उस शहीद पिता की बिटिया का इस अंदाज में भारत माँ के जयकारे लगा रही हो तो आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि माँ भारती को हमारा देश किस सम्मान से पूजता है और हमारे दिलों में उसके लिए कितना सम्मान है….


वीडियो प्लेयर

सुधर जाओ माँ भारती के दुश्मनों कहीं ये ना हो कि माँ भारती को ललकारते- ललकारते  तुम खुद नेश्ता नाबूत ना हो जाओ……


Post a Comment

Previous Post Next Post