Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Hover Effects

TRUE

a1

{Entertainment}{slider-1}
{fbt_classic_header}

Header Ad

Breaking News:

latest

Ads Place

बोर्ड परीक्षार्थियों से रू-ब-रू होंगे केंद्रीय शिक्षा मंत्री डाॅ. निशंक

 बोर्ड परीक्षार्थियों से रू-ब-रू होंगे केंद्रीय शिक्षा मंत्री डाॅ. निशंक 3 दिसंबर को लाइव कार्यक्रम में करेंगे चिंतित बच्चों की जिज्ञासाओं क...

 बोर्ड परीक्षार्थियों से रू-ब-रू होंगे केंद्रीय शिक्षा मंत्री डाॅ. निशंक




3 दिसंबर को लाइव कार्यक्रम में करेंगे चिंतित बच्चों की जिज्ञासाओं को शांत

देहरादूनः कोविड-19 खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है और छात्रों की चिंताएं बढ़ती जा रही हैं। आॅनलाइन पढ़ाई के बीच छात्रों के मन में अपनी पढ़ाई और भविष्य को लेकर अनेक सवाल हैं। बोर्ड की परीक्षाएं देने वाले दसवीं और बारहवीं के छात्रों और प्रतियोगी परीक्षाएं देने वाले छात्रों की चिंता अधिक है। यह वाजिब भी है। छात्रों की इस चिंता को समझते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री डाॅ. रमेश पोखरियाल  आगामी 3 दिसंबर को दोपहर 12 बजे इन छात्रों से रू-ब-रू होकर विद्यार्थियों की समस्याओं संबंधी सवालों का जवाब देंगे और उनकी जिज्ञासाओं को शांत करेंगे।

वर्ष, 2020 पूरे विश्व के लिए बड़े ही खराब अनुभव देकर जा रहा है, लेकिन 2021 में भी फिलहाज खुशियां लौटती नहीं दिखायी दे रही हैं। कोविड-19 नामक यह महामारी पूरे विश्व को बरबाद कर गयी। लगभग सभी क्षेत्रों पर इसकी मार पड़ी है। भारत में शिक्षा व्यवस्था को समय पर संभालकर इसे आॅनलाइन सिस्टम से संचालित किया जा रहा है। नीट,नेट, जेईई जैसी बड़ी परीक्षाएं केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की देखरेख में राज्य सरकारों के सहयोग से बड़ी सूझ-बूझ के साथ आयोजित की गयीं।

कोविड-19 का कहर अभी थमने का नाम नहीं ले रहा है। दिल्ली जैसे बड़े शहरों में हालात चिंताजनक हैं। अर्थव्यवस्था पर तो पटरी पर आने लगी है, लेकिन प्रतियोगी परीक्षाएं और बोर्ड परीक्षाएं देने वाले विद्यार्थी चिंतित हैं। उनके मन में अनेक सवाल उत्पन्न हो रहे हैं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डाॅ. रमेश पोखरिया निशंक ने छात्रों की मनःस्थिति को भांप उनसे संवाद करने का निर्णय लिया है। 

 डाॅ. निशंक ने बताया कि कंपटीशन और बोर्ड परीक्षाएं देने वाले छात्रों की चिंता वाजिब है, लेकिन उन्हें अधिक चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। हम उनकी मनोदशा को भलीभांति समझ सकते हैं। छात्रों का मनोबल बढ़ाने, उनकी समस्याओं से संबंधित सवालों का जवाब देने और उनकी जिज्ञासाओं को शांत करने के लिए मैं 3 दिसंबर को बच्चों के लिए उपलब्ध रहूंगा। डाॅ. निशंक ने कहा कि मैं जानता हूं कि हमारे विद्यार्थियों के लिए वर्ष,2020 अच्छा नहीं रहा और हमारे ये बच्चे अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। मैं इन बच्चों से 3 दिसंबर को दोपहर 12 बजे वर्चुअल मुलाकात करूंगा। मैं इन बच्चों के लिए लाइव प्रोग्राम में बच्चों से आने वाली बोर्ड परीक्षाओं और प्रतियोगी परीक्षाओं को लेकर संवाद करूंगा और उनके सवालों का जवाब दूंगा। बच्चे अपने विचार और सुझाव मुझे  #EducationMinisterGoesLive पर दे सकते हैं।

No comments

Ads Place