सिद्धबाबा के जागरों के साथ सम्पन्न हुआ तीन दिवसीय सिद्धबली बाबा वार्षिक अनुष्ठान

 सिद्धबाबा के जागरों के साथ सम्पन्न हुआ तीन दिवसीय सिद्धबली बाबा वार्षिक अनुष्ठान

(मनोज नौडियाल, कोटद्वार)






कोटद्वार । श्री सिद्धबली मंदिर परिसर में चल रहे तीन दिवसीय श्री सिद्धबली बाबा वार्षिक अनुष्ठान के समापन अवसर पर एकादश कुंडीय यज्ञ की पूर्णाहूति के साथ ही सिद्धबाबा के जागरों का बोलबाला रहा ।जागर गायकों ने लोगों को नाचने पर मजबूर कर दिया । सिद्धबाबा के जागर संपन्न होने के बाद सिद्धबाबा को सवामन रोट का भोग लगाया गया व बाद में इस रोट को प्रसाद के रूप में वितरित किया गया।सिद्धबाबा के जागरों के साथ सम्पन्न हुआ तीन दिवसीय सिद्धबली बाबा वार्षिक अनुष्ठान

तीन-दिवसीय मेले के अंतिम दिन रविवार को ब्रह्ममुहूर्त में श्री सिद्धबाबा के महाभिषेक के उपरांत आचार्य पं.देवी प्रसाद भट्ट के सानिध्य में रूद्र पाठ हुआ। तत्पश्चात आचार्य भट्ट के सानिध्य में पिछले तीन दिन से चल रहे एकादश कुंडीय यज्ञ का भी पूर्णाहुति के साथ समापन किया गया। यज्ञ समापन के उपरांत श्री सिद्धबाबा के जागर शुरू हुए। जहरी निवासी जागरी सर्वेश कुकरेती व साथियों द्वारा प्रस्तुत जागरों को सुनने के लिए श्रद्धालु सिद्धबली मंदिर में पहुंचे।हालांकि कोरोना महामारी के चलते श्रद्धालुओं की भीड नही रही ।सिद्धबाबा के आशीर्वाद के उपरांत श्रद्धालुजनों ने सवामन आटे के रोट का भोग लगाया गया।मेले के दौरान तीन दिनों तक विशाल भंडारे का भी आयोजन उद्योगपति अनिल कंसल की ओर से आयोजित किया गया था ।जोकि रविवार को मेला समाप्त होने के साथ ही संपन्न हो गया। तीन दिन तक सिद्धबाबा के दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालुओं ने भंडारे में शामिल होकर प्रसाद ग्रहण किया।

Post a Comment

Previous Post Next Post