गजब-हे भगवान रिस्तेदार ने ही चोरों को बुलाया था -आज पुलिस ने बताया

 एसएसपी पौड़ी ने 25 दिसंबर को हुई लूट का किया खुलासा

कोटद्वार । जनपद पौड़ी के कोटद्वार थाना क्षेत्र की पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। दस दिन पूर्व सुबह लगभग सात बजे एक घर में हुई डकैती और लूट का खुलासा करते हुए पुलिस ने पांच लुटेरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बदमाशों के पास से लूट के 2,60,000 रुपए व ज्वेलरी बरामद कर तीन तमन्चे, आठ जिन्दा कारतूस व दो चाकू भी जप्त किए हैं। साथ ही चोरी में प्रयुक्त तीन बाइकों को भी जप्त किया है ।बता दें कि बीती 25 दिसंबर को शातिरों द्वारा सुबह सात बजे एक घर को निशाना बनाया गया था। जिसमें पुलिस ने कार्रवाई करते हुए इनके पास से दो लाख साठ हजार रूपए की नकदी के साथ सोने के सभी जेबरात बरामद कर लिए हैं। पुलिस का कहना है इसमें लगभग साठ प्रतिशत लूट का सारा सामान बरामद कर लिया गया है।

कोटद्वार : एसएसपी पौड़ी ने 25 दिसंबर को हुई लूट का किया खुलासा

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी रेणुका देवी ने बताया कि घटना के बाद से ही पुलिस की सात तेज तर्रार टीमें लगाई गई थी। जिसमें पुलिस ने 9 दिनों के लगातार अथक प्रयास से सोमवार को अभियोग में संलिप्त अभियुक्त राजकुमार छोटा पुत्र जयवीर व उसके चार साथियों को चरथावल क्षेत्र मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश से डकैती के माल सहित गिरफ्तार किया है । पूछताछ के दौरान अभियुक्त राजकुमार द्वारा बताया गया कि प्रवीण प्रजापति वाली प्रमोद कुमार का करीबी रिश्तेदार है उसने ही हमें बताया कि वह काफी धनवान व्यक्ति है और अन्य जानकारियां भी जिसमें कपिल कुमार उर्फ रावण, संदीप कुमार उर्फ पिंटू ,संजीव कुमार उर्फ सोनू ,धीरज ,अंकित पुंडीर, प्रवीण प्रजापति ने मिलकर अमोद कुमार के घर में डकैती करने की रणनीति बनाई फिर हमने प्रमोद कुमार के घर में डकैती की घटना को अंजाम दिया अभी तो गणों द्वारा पश्चिमी उत्तर प्रदेश व नेत्र भी टूटने की घटना करना प्रकाश में आया है अपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है ।अभियुक्त गणों के विरुद्ध आर्म्स एक्ट में भी अभियोजन पंजीकृत किए गए हैं । दो अभियुक्त प्रवीण प्रजापति पुत्र चंद्रपाल व अंकित पुंडीर उत्तर प्रदेश की गिरफ्तारी नहीं हुई हैं इसके लिए पुलिस प्रयासरत है । इनमें से दो अभियुक्त राजकुमार व कपिल कनखल हरिद्वार लूट में भी शामिल है । यह सब लोग कौडिया कोटद्वार से आए व लूट की घटना को अंजाम देने के बाद लालढांग के रास्ते वापस मुजफ्फरनगर गए । एसएसपी ने बताया कि यह लोग 1 महीने पहले ही रेकी करके गये थे । डकैती का पर्दाफाश करने वाली टीम को पुलिस महानिदेशक द्वारा घटना के अनावरण हेतु बीस हजार का नगद इनाम की घोषणा की गई है ।

Post a Comment

Previous Post Next Post