देश की चर्चित पत्रिका हिल-मेल ने देश में उत्तराखंड की चर्चित हस्तियों में डॉ पंवार को दिया बड़ा स्थान

देश की चर्चित पत्रिका हिल-मेल में मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार डॉ के एस पंवार ने -शिखर पर उत्तराखंडी टॉप  में पाया बड़ा स्थान

(दीपक कैन्तुरा)

  देहरादून- देश की जानी-मानी पत्रिकाओं में शुमार हिल -मेल पत्रिका ने शिखर पर 2020की उत्तराखंड चर्चित शख्सियतें  शिखर पर उत्तराण्डी  टॉप-50 पहाड़ के मेहनती लगनशील बेटी-बेटों की वीरता हुनर और अपनी मेहनत और लग्न से अपने-अपने क्षेत्रों पर शीर्ष पर पहुंचे हैं और आज अपने अपने क्षेत्र में बुलंदियों पर हैं और देश के साथ उत्तराखंड का नाम विश्व पटल पर रोशन कर रहे हैैं इनके काम को आज समूचा विश्व देख रहा है।आज राजनीति और कूटनीति ,रक्षा और सुरक्षा, गीत-संगीत कला,योग, प्रर्यावरण साहित्य, सेवा के अलावा आज पहाड़ के सपूत सफलता के नए प्रतिमान स्थापित कर रहे हैं।




यह सिलसिला देश की राजनीति में चमक बिखेर रहे यूपी के मुख्यमंत्री और पौड़ी के बेटे योगी आदित्यनाथ (अजय सिंह बिष्ट) राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल,भारत के पहले चीफ  आप डिफेंस अजीत डोभाल,भारत के पहले चीफ आफ डिफेंस स्टाफ बनाए गए जनरल बिपिन रावत, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत या पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, निशंक ,बलूनी से होते हुए ऐसे लोगों तक जाता है जो आज नई पीढ़ी के लिए प्रेरेणादायक बने हुए हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सलाहकार भास्कर खुल्बे हों या समाज सेवा के पर्याय बन चुकी माता मंगला,एनडीएमए के सदस्य राजेंद्र सिंह हों या उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के औद्योगिक सलाहकार डॉ के एस पंवार। हिल-मेल पत्रिका ने पहाड़ के सपूत और मुंबई को अपनी कर्मभूमि बनाने वाले डॉ.के एस पंवार को हिल-मेल पत्रिका में शीर्ष पर 50उत्तराखण्डियों में जगह दी  डा के एस पंवार आज हमारे लिए एक आइकॉन बन गए हैं। और उनकी कहानी उन तमाम लोगों के लिए प्रेरेणा बन गई जो अपनी माटी की सेवा करना चहाते हैं। और देवभूमि को कुछ लोटाना चहाते हैं ।वह उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के औद्योगिक सलाहकार हैं।बात चाहिए उद्योगों कि हो ,या चाहिए फिर सामाजिक कार्य हो खेती बाड़ी बगवानी की या प्रदेश में उद्योग धंधों को रफ्तार देना । उन्होंने हर कार्य को बारीकी से समझा है और वह आज राज्य के प्रति अपनी जिम्मेदारी बड़े शिद्दत के साथ निभा रहे हैं। केमिकल इंड्रस्टी में बड़े मुकाम हासिल करने वाले डॉ. पंवार उत्तराखंड इंडस्ट्रीज लाने और रोजगार के अवसरों को पैदा करने में लगे हुए हैं। उत्तराखंड में ऐतिहासिक इन्वेस्टर समिट के सूत्रधार डॉ के एस पंवार हैं। हिल-मेल पत्रिका ने डॉक्टर पवार को उत्तराखंड के 50 लोगों में से 44 स्थान दिया है जो उत्तराखंड के साथ उद्योग जगत के लिए गौरव की बात है, डॉ के एस पंवार को उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए अलग-अलग क्षेत्रों से देश विदेश में कई सामानों से नवाजा गया। उन्होंने भले कर्मभूमि मुंबई को बनाया होगा लेकिन अपनी बोली भाषा संस्कृति को नहीं भुलाया । जिसका सफल परिणाम है की आज उनका पूरा परिवार मुंबई में होते हुए अपनी बोली भाषा संस्कृति से जुड़ा है।

.....….….......…..............................................................

(हिल-मेल पत्रिका में डॉ पंवार पर क्या लिखा इसे भी पढ़ें)

डा. के. एस. पंवार औद्योगिक सलाहकार, सीएम उत्तराखंड

पहाड़ के सपूत और मुंबई को अपनी कर्मभूमि बनाने वाले डा. केएस पंवार की कहानी उन तमाम लोगों के लिए प्रेरणा है, जो अपनी देवभूमि को कुछ न कुछ लौटाना चाहते हैं वह उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के औद्योगिक सलाहकार हैं। उद्योग-धंधे हों, सामाजिक कार्य, खेती या अब प्रदेश की औद्योगिक गतिविधियों को रफ्तार देना... हर क्षेत्र को उन्होंने बड़ी बारीकी से समझा है। वह राज्य के प्रति अपनी बड़ी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। केमिकल इंडस्ट्री में ऊंचा मकाम हासिल करने वाले पंवार उत्तराखंड में इंडस्ट्री लाने और रोजगार के अवसर पैदा करने की कोशिशों में लगे हुए हैं। महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, उत्तराखंड समेत देश के कई राज्यों में काम करने वाले केएस पंवार ने औद्योगिक सलाहकार की जिम्मेदारी मिलने के बाद खुद को प्रदेश के विकास में लगाया है। कोरोना काल में वह देहरादून रहे हों या मुंबई, ऑनलाइन माध्यम से सरकार और उद्योग के प्रतिनिधियों से जुड़े रहे।


चीन के खिलाफ जब दुनियाभर में विरोध का माहौल बन रहा है, ऐसे में वह चीन से निकलने की कोशिश करने वाली कंपनियों को उत्तराखंड लाने की पुरजोर कोशिश में लगे हैं। डा. कुंवर सिंह पंवार का केमिकल के विभिन्न सेक्टरों में काम करने का 27 साल का लंबा अनुभव है। उन्होंने अपने करियर की शुरूआत केमट्रीट इंडिया लिमिटेड में एक प्रोजेक्ट मैनेजर के तौर पर की थी। उन्होंने यहां केमिकल क्लीनिंग, शिप मेंटेनेंस केमिकल्स जैसी अनेक चीजों के बारे में अनुभव हासिल किया। हालांकि वह उद्यमी बनने का सपना देख रहे थे और उसके लिए मेहनत भी शुरू कर दी थी। आखिरकार उन्होंने 1999 में पॉलिगन केमिकल्स प्राइवेट लिमिटेड की नींव रखी और इन 20 साल में उन्होंने केमिकल से जुड़े कई असाइनमेंट का कुशलता से नेतृत्व किया। आज वह पॉलिंगन केमिकल्स के प्रबंध निदेशक हैं, जो काड 9001:2008 कंपनी है और सिविल कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री को तमाम चीजें उपलब्ध कराती है। मुंबई में हेड ऑफिस के साथ इसका दफ्तर गुजरात, दिल्ली और देहरादून में भी है। दो प्लांट मुंबई और देहरादून में स्थापित हैं। डा. पंवार उत्तराखंड को सेब के उत्पादन में ब्रांड बनाने के लिए काम कर रहे हैं उन्होंने अपने इलाके से इसकी शुरुआत की है। राज्य सरकार भी इस दिशा में आगे बढ़ी है।।


मिनरल वाटर ब्रांड बना पहचान


11 साल पहले उन्होंने देहरादून में मिनरल वाटर तैयार करने की फैक्ट्र शुरू की, जो ब्रांड से काफी मशहूर हो चुकी है। इसके अलावा व पॉलिइन्फ्राटेकनॉलोजीज के डायरेक्टर और सोशल गुप ऑफ कंपनी के चेयरमैन भी हैं। सोशल ग्रुप सौर ऊर्जा, फाइनेंस समेत विभिन्न क्षेत्र में काम करता है।डा.पंवार ने 2017 में फ्रांस से केमिकल इंजीनियरि में अपनी पीएचडी पूरी की ।इससे पहले वह श्रीलंका से 2014 में डॉक्ट ऑफ ऑनर्स (इंडस्ट्री) की डिग्री हासिल कर चुके थे। भारतीय उद्यो रतन अवॉर्ड, भारतीय निर्माण रतन अवॉर्ड समेत एक दर्जन से ज्या पुरस्कार पाने वाले केएसपवार सामाजिक गतिविधियों में भी लगे हुए है

इनवेस्टर समिट के सूत्रधार

डा. पंवार को कृषि और इंडस्ट्री सेक्टर की बारीकियों का मास्ट माना जाता है। वह जानते थे कि उत्तराखंड में उद्योग का ढांचा त खड़ाहो सकता है, जब यहां बड़े पैमाने पर निवेश हो । यही वजह है दि उनकी सलाह पर राज्य में इनवेस्टर समिट हुआ। राज्य सरकार 2018 में रायपुर स्टेडियम में इन्वेस्टर समिट का आयोजन किया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वयं आकर निवेशकों को उत्तराखंड में ह तरह की मदद देने का आश्वासन दिया था।इस समिट के बाद लगभ दो लाख करोड़ रुपये के एमओयू साइन हुए। उतराखंड इन्वेस्टमें के रूप में देखा रहा है।




Post a Comment

Previous Post Next Post