चमोली गलेशियर फटने से अब बाढ़ का खतरा टला-देखिए ताजा अपडेट

 चमोली गलेशियर फटने से अब बाढ़ का खतरा टला-देखिए ताजा अपडेट



चमोली जिले के सीमांत क्षेत्र तपोवन के समीप ऋषि गंगा में आज सुबह ग्लेशियर टूटने से बिजली परियोजना के कर्मचारियों की क्षति का आँकलन अभी तक नहीं हो पाया है लेकिन चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में सम्भावित बाढ़ का खतरा पूरी तरह टल गया है। चमोली के आपदा प्रबंधन अधिकारी एन के जोशी ने बताया कि परियोजना स्थल तथा समीपवर्ती क्षेत्रों में हुई जनहानि का पता लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अलकनन्दा में जल का स्तर लगभग सामान्य हो गया है। वरिष्ठ पत्रकार ललिता प्रसाद लखेड़ा का कहना कि अलकनन्दा का जल-स्तर सामान्य होने के कारण अब बाढ़ का कोई खतरा नहीं है।

इधर रुद्रप्रयाग के आपदा प्रबंधन अधिकारी श्री रजवार ने बताया है कि यद्यपि नदी का जल-स्तर कम होना बताया जा रहा है लेकिन खतरे का अलर्ट अभी जारी है। बाढ़ का पानी जिले में पहुँचने के बाद ही स्थिति की समीक्षा कर अग्रिम कार्यवाही की जाएगी। जिले के वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता औऱ व्यापारी प्रदीप बगवाड़ी ने कहा है कि जिले में कोई संकट नहीं है लेकिन सावधानी बरतने में कोई कमी नहीं रहनी चाहिए।

Post a Comment

Previous Post Next Post