आपदा में बह गए कुतिया के बच्चे अपने बच्चों की आस में नदी को निहार रही कुतिया

 आपदा में बह गए कुतिया के बच्चे अपने बच्चों की आस में नदी को निहार रही कुतिया



गोपेश्वर। ऋषिगंगा में आई आपदा ने इंसानों के साथ ही जानवरों पर कहर बरपाया है। यहां पर एक कुतिया सात फरवरी से लगातार ऋषिगंगा को निहार रहा है। उसे बिस्किट या कुछ और खाने को दो तो वह नहीं खा रही है। स्थानीय लोगों ने बताया कि सात फरवरी को आई बाढ़ में इसके बच्चे भी बह गए हैं। ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट में काम करने वाले कर्मचारी इसे खाना देते थे, वह भी इसमें बह गए। उस दिन से यह कुतिया उदास है। वह रोज सुबह आकर एक ही जगह पर बैठकर नदी को निहारती रहती है। कई लोगों ने उसे खाना देने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं खाती है। 



Post a Comment

Previous Post Next Post