ग्रामीणों के सहयोग से सम्पन्न हुआ ईष्ट देव मंदिर का भूमि पूजन

 ग्रामीणों के सहयोग  से सम्पन्न हुआ ईष्ट देव मंदिर का भूमि पूजन



मनोज नोडियाल

कोटद्वार।नैनीडांडा विकासखंड की पश्चिम सीमा के अंतिम गांव डांडा तोली जो कि ग्राम सभा भोपाटी  के अंतर्गत आने वाला एक गांव है, यहाँ आज प्रवासियों निवासियों और गाँव मे निवास करने वाले ग्राम वासियों के एक आपसी ताल मेल का समन्यवय देखने को मिला।कई सालों से  बुजर्गो के मन की एक इच्छा थी कि, डांडा तोली के ईष्ट देव (श्री भैरव जी) का अपना एक   मंदिर गांव में स्थापित किया जाये । मगर सोच तब तक साकार नही होती जब तक उसको धरातल में उतारने के लिये पहल ना की जाये ।  बुजर्गो की इसी इच्छा को साकार करने के लिये गांव के युवाओं, मात्र शक्ति एवं बुजुर्गों की एक टीम गठित करके इसे धरातल में स्थापित करने का निर्णय लिया गया । प्रवासियों भाई बन्धु ने भी इसे साकार करने के लिये अपनी स्वीकृति दे दी और फलस्वरूप आज गांव में इस धार्मिक कार्य को सम्पन्न करने के लिये भूमि पूजन की नींव रखी गई ।ग्राम वासियो ने इस धार्मिक कार्य मे अपने छेत्रिय प्रतिनिधियों ग्राम प्रधान जशोदा रावत,  BDC मेंबर शोभा गोयल, निकट गांव तोलियू डांडा के प्रधान  हरेंद्र सिंह एवं ग्राम सभा भोपाटी के पूर्व अनुभवी प्रधान  ध्यान सिंह जी को भी स सम्मान आमंत्रित किया।ग्राम प्रधान जशोदा रावत ने ग्राम वासियो के इस सामूहिक कार्य को सम्पन्न कराने की पहल की तारीफ़ की है और ग्राम वासियो को इस कार्य को सम्पन्न कराने में हर संभव सहायता का आश्वाशन दिया है । अगर आप सभी भक्त जन आज के इस कार्यक्रम की इन तस्वीरों को देखे तो भक्तों का अपने ईष्ट देव के प्रति जुनून देखने को मिलता है। कोरोना काल की आर्थिक मार हो या नष्ट होती खेती का दर्द, सबके दिलों में अपने ईष्ट देव के प्रति आस्था आज भी बनी हुई है कि ईष्ट देव हम सब के दुःख दर्दो का निवारण जरूर करेंगे और गांव के साथ साथ समस्त उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर लौटेगी ।

Post a Comment

Previous Post Next Post