मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना के लिए बजट में 25 करोड़ का प्रावधान जानिए त्रिवेंद्र के आम बजट की बड़ी बातें-देखें पूरी खबर

 गैरसैंण (Gairsain) में सीएम त्रिवेंद्र पेश कर रहे हैं वर्ष 2021-22 का आम बजट (Uttarakhand Budget 2021-22)




करीब 57 हजार 400करोड़ का बजट पेश हो रहा है।

आगामी वित्त वर्ष में सड़क निर्माण के लिए पीडब्ल्यूडी को 1511 करोड़ रुपए का प्रावधान। इसके तहत 843 किमी सड़कों का निर्माण, 743 किमी सड़कों का पुनर्निर्माण तथा 43 पुलों का निर्माण शामिल है। सड़कों के रखरखाव व सुदारीकरण के लिए भी 385.87 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

उद्योग विभाग के तहत विभिन्न कार्यक्रमों के तहत ऋण, सब्सिडीग्रोथ सेंटर स्थापना आदि के लिए 132.60 करोड़ का प्रावधान

स्मार्ट सिटी से संबंधित कार्यों के लिए 695 करोड़ का प्रावधान

त्रिस्तरीय पंचायतों के लिए 425 करोड़ का प्रावधान, ग्राम स्वराज अभियान के लिए 49.86 करोड़ का प्रावधान

मुख्यमंत्री पलायन रोकथाम योजना के तहत स्वरोजगार के अवसर देने व कौशल विकास के लिए 18 करोड़ का प्रावधान

मनरेगा के लिए 272.45 करोड़ का प्रावधान

स्वच्छ भारत मिशन(ग्रामीण) के तहत वेस्ट मैनेजमेंट व सीवरेज ट्रीटमेंट के लिए 101 करोड़ का प्रावधान

जल जीवन मिशन तथा पेयजल से संबंधित योजनाओं के लिए 667 करोड़ का प्रावधान

जामरानी बांध परियोजना के लिए 240 करोड़ रुपए का बजटीय प्रावधान

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के लिए 25 करोड़ का प्रावधान

किसानों एवं किसान समूहों को 47 करोड़ रुपए का ब्याजमुक्त ऋणवितरित किया गया

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत राज्य में फिश आउटलेट्स के लिए 17.33 करोड़ का प्रावधान

कृषि तथा संबंधित क्षेत्र में प्राथमिकता से सुधार किए हैं।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के लिए 67.94 करोड़ का प्रावधान

राज्य कृषि विकास योजना के लिए 20 करोड़ का प्रावधान

एकीकृत आदर्श कृशि योजना के लिए 12 करोड़ का प्रावधान

गन्ना किसानों का समय पर भुगतान करने के लिए 245 करोड़ रुपए का प्रावधान बजट में किया गया।

इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में राज्य में अभूतपूर्व कार्य हो रहा है। डबल इंजन सरकार अपेक्षाओं के अनुरूप काम कर रही है। वर्षों से लटके डोबरा चांठी पुल का काम पूरा कराया है। जानकी सेतु बनाया है।

केंद्र से राज्य के लिए कई योजनाओं को मंजूर किया है।

पलायन रोकने के लिए कदम उठाए, रिवर्स पलायन के लिए लोग प्रेरित हुए हैं।

सीमांत क्षेत्रों के विकास के लिए सीमांत क्षेत्र विकास परियोजना लागू की है।

सूचना प्रौद्योगिकी का लाभ आम जन तक पहुंचाने के प्रयास किए हैं।

सीएम ह्ल्पलाइन से आमजन को लाभ मिल रहा है।

बेटी बचाओ के क्रियान्वयन में हम कई राज्यों से आगे रहे।

15वें वित्त आयोग में केंद्र से भरपूर मदद मिली। करीब 89 हजार करोड़ की रकम अगले 5 साल में मिलेगी

सीएम ने आपदा में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी। आपदा के दौरान हमारी संस्थाओं ने सराहनीय कार्य किया। एसडीआरएफ की भी सीएम ने तारीफ की।

सीएम ने गिनाई उपलब्धियां, चुनौतियों के बावजूद प्रगति कर रहे हैं।

कोरोना काल में अच्छा काम करने वालों को सीाएम ने सराहा।

Post a Comment

Previous Post Next Post