अगर पन्द्रह सूत्रीय माँगो पर नही हुई कोई ठोस कार्यवाही तो सदन मे ही दी अनशन करने की चेतावनी........

 रामरतन सिह पवांर/जखोली


अगर पन्द्रह सूत्रीय माँगो पर नही हुई कोई ठोस कार्यवाही तो सदन मे ही दी अनशन करने की चेतावनी........




क्षेत्रपंचायत भूपेन्द्र सिंह भंडारी

ने बी डी सी बैठक मे दी चेतावनी

भले ही जखोली मे क्षेत्र पंचायत की बैठक कोविड 19 के चलते पंचायत चुनाव होने के एक वर्ष बाद हुई जबकि बैठक का आयोजन हर तीसरे माह होता है।

लेकिन शुक्रवार को समस्त जनप्रतिनिधि अपने अपने क्षेत्रो की समस्याओं को लेकर सदन मे पहुंचे,जिसमे कि ललूड़ी के क्षेत्र पंचायत सदस्य व रूद्रप्रयाग विधायक के जनसंपर्क अधिकारी भूपेन्द्र सिह भण्डारी ने सदन के माध्यम मे जनता व जनप्रतिनिधियों के हित की बातो को ध्यान मे रखते हुए जखोली के खण्डविकास अधिकारी के नाम पर पन्द्रह सूत्रीय मांग पत्र को सदन मे रखा गया,जिस मांग पत्र के माध्यम से जखोली की सभी समस्याओ के निराकरण हेतू समंधित विभागो को कार्यवाही की बात कही है।सर्वप्रथम मांग पत्र मे उन्होंने क्षेत्र पंचायत सदस्यों का मानदेय पाँच सौ से बढा कर एक हजार रू देने की मांग की है,वर्तमान व्यवस्था मे केवल क्षेत्रपंचायत सदस्यों को छोड़ कर समस्त पंचायत प्रतिनिधियों को मासिक नियत वेतन दिया जाता है।जिससे कि मासिक नियत वेतन बढा कर क्षेत्रपंचायत सदस्यों को भी सम्मान वेतन दिया जाय,

राज्य वित्त/पन्द्रहवें वित मे सोलर लाईट खरीदने का अधिकार क्षेत्रपंचायतो को दिया गया है, इसलिए नियम को शिथिलता प्रदान करते हुए आवश्यकतानुसार सदस्यों को खरीद का अधिकार दिया जाना चहिए।उन्होंने कहा कि खंडविकास के आलाव तहसील, ट्रेजरी बैक इत्यादि मे सभी कार्य इटंरनेट के द्वारा किये जाते है, कनेक्टिविटी न होने के कारण लाभार्थियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, जिससे की सुचारु रुप से व्यवस्थित रखने हेतु समंधित विभाग को निर्देशित किया जाय।

साथ ही विकासखंड मे अधिकतर कार्य मनरेगा के तहत किये जाते है,जिसमें 90 कार्य करने वाले श्रमिकों को श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का भी लाभ दिया जाता है, जिस कारण से श्रमिको का रजिस्ट्रेशन भी विकासखंड स्तर पर किया जाय,

कोविड वैक्सीनेशन के लिए वृदजनोव असहाय को आने जाने जाने हेतू वाहन उपलब्ध कराये जाय ताकि उन लोगो को परेशानियों का सामना न करना पड़े जबकि सरकार के निर्देशानुसार राज्य वित व पन्द्रहवें वित की बीस प्रतिशत धनराशि कोविड रोग थाम मे खर्च की जानी है, जिसे कि इस धनराशि को असहाय व बृदजनो को वैक्सीनेशन हेतू स्वास्थ्य केन्द्र लाने मे खर्च की जानी चहिये।

किसी योजना को पूर्ण करने के लिए युगपतीकरण किये जाने,

विकासखंड कार्यालय मे डाटा इटंरी आपरेटर की तैनाती किये जाने ,विकास समितियों का पुनर्गठन किये जाने,सहित विकासखंड के अतिथि गृह पर वित्तिय वर्ष मे रेनोवेशन तथा फर्नीचर खरीद मे धनराशि खर्च की गयी है,जिस कारण से इस गेस्ट हाऊस का संचालन एक समिति के माध्यम से अतिथि गृह के नियमो के ही अनुसार किया जाय,जैसे कि कई जनप्रतिनिधि दूरस्थ क्षेत्रो मे जनता के कार्य हेतू जखोली आते है और कभी कभार काम करते देरी कारण वे अपने घर वापस नही जा सकते है।तो इस स्थिति मे वो जनप्रतिनिधि रात्री विश्राम अतिथि गृह मे कर सके इसके लिए भी कुछ किराया तय हो सके ताकि गेस्ट हाउस के बिजली ,पानीव साफ सफाई की व्यवस्था सूचारू रुप से समपन्न हो सके।नेता प्रतिपक्ष भूपेन्द्र सिह भंडारी ने सदन मे चेतावनी दी है कि अगर क्षेत्रपंचायत की अगली होने वाली त्रैमासिक बैठक तक अगर इस पन्द्रह सूत्रीय माँग पत्र पर कोई ठोस कार्यवाही अगर नही की जाती है तो मै सदन के ही अंदर अपना अनशन शूरु कर दूँगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post