आदमखोर गुलदार ने जखोली कुरछोला के वृद्ध व्यक्ति को बनाया अपना निवाला

 रामरतन सिह पवांर/जखोली


आदमखोर गुलदार ने वृद्ध व्यक्ति को बनाया अपना निवाला

विकासखंड जखोली के कुरछोला गांव की है घटना

ग्रामीण इलाकों में बनी है दहशत






रुद्रप्रयाग। विकासखंड जखोली के कुरछोला गांव निवासी एक 80 वर्षीय वृद्ध कृपाल सिह पवांर अपने घर से 19 फरवरी से लापता चल रहा था, जब दूसरे दिन भी कृपाल सिह अपने घर वापस नही आया तो उनके घर वालो ने ढूंढ़ खोज शूरु कर दी।जबकि इस व्यक्ति को घर लापता हुए 14 दिन का समय बीत चुका था, कृपाल सिह के घर वाले बताते है कि वे आज से 14 दिन पूर्व बिना किसी को बताये बिना घर से निकल गये  ,जब काफी खोज बीन के बाद वो नही मिले तो घर वाले हिम्मत हार गये  


जानकारी के मुताबिक, कुरछोला गांव के कृपाल सिंह पंवार पिछले माह की 19 तारीख से लापता चल रहे थे। जगह-जगह खोजबीन के बावजूद उनका कहीं पता नहीं चल पाया। जब शुक्रवार की सुबह  जखनोली गाँव की कुछ महिलाएं अपने मवेशियों  केलिए घास लेने जंगल जा रही थी तो जंगल मे पहुँचते ही उन्होने देखा कि जंगल मे एक शव पड़ा है. जंगल में घास लेने गई महिलाओं ने उनका शव देखा तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। शव का अधिकांश हिस्सा आदमखोर गुलदार खा चुका था। शव का सिर्फ एक चौथाई हिस्सा ही बचा था। महिलाओं ने इसकी सूचना अन्य लोगों को दी। इसके बाद पुलिस और वन विभाग की टीम मौके पर पहुँची। शव को कब्जे में लेने के बाद पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेजा गया। स्थानीय निवासी दीपक रावत का कहना है कि इस घटना के बाद से गांव में दहशत बनी हुई है। 


वहीं उत्तराखंड क्रांति दल के युवा नेता मोहित डिमरी ने इन घटना पर गहरा दुःख प्रकट करते हुए वन विभाग को जल्द से जल्द पीड़ित परिवार को मुआवजा देने को कहा। उन्होंने कहा कि गुलदार कभी भी दूसरी घटना को अंजाम दे सकता है। इससे पहले कि कोई अनहोनी हो, वन विभाग को पिंजड़ा लगाकर आदमखोर गुलदार को पकड़ना चाहिए। मोहित डिमरी ने कहा कि महिलाएं घास लेने जंगल जाते समय सावधानी बरतें। अकेले कोई भी महिला जंगल न जाएं। महिलाएं यह कोशिश करें कि ज्यादा दूर जाने के बजाय गांव के आसपास ही घास काटें। कम से कम 10-12 महिलाएं एक साथ जंगल जाएं। बच्चों को शाम और सुबह के समय घर के अंदर ही रखें। उन्होंने कहा कि कुरछोला, जखनोली सहित आसपास के ग्रामीण सजग रहें।

Post a Comment

Previous Post Next Post