चमोली गलेशियर टूटने से 8 लोगों की हुई मौत-सीएम रावत ने किया घटनास्थल का हवाई निरीक्षण


  • उत्तराखंड सीएम तीरथ सिंह रावत ने चमोली जिले के नीति वैली में सुमना घाटी का किया हवाई  सर्वे ।

  • कल यहां ग्लेशियर टूटने से सड़क निर्माण के जारी काम मे लगे मजदूर व स्थानीय लोगो पर ये आपदा बनकर टूटा था  ग्लेशियर


  • अभी तक 384 लोगो को बचाया जा चुका है जबकि 8 शव मिल बरामद।

  • 6 घायलों की स्थिति नाजुक बनी हुई है।




 चमोली- 23 अप्रैल 2021 को लगभग 4 बजे तिब्बत चाइना बॉर्डर पर ग्लेशियर सुमना – रिमखिम सड़क पर सुमना से लगभग 4 किमी दूर एक स्थान पर टूटा । यह जोशीमठ – मलारी- गिरथिडोबला – सुमना- रिमखिम क्षेत्र में स्थित है।



आपको बता दें कि यहाँ सड़क निर्माण कार्य के लिए पास में एक बीआरओ टुकड़ी और दो श्रमिक शिविर मौजूद हैं। एक सेना शिविर सुमना से 3 किलोमीटर (बीआर सुमना डिटेल से लगभग 1 किलोमीटर छोटा) स्थित है।

इस क्षेत्र में पिछले 5 दिनों से भारी बारिश और हिमपात हुआ है और अभी भी जारी है।


भारतीय सेना द्वारा तुरंत बचाव अभियान शुरू किया गया। 384 मजदूरों को सुरक्षित बचा लिया गया है और अब वे आर्मी कैंप में हैं। दोनों शिविरों में अन्य मजदूरों का पता लगाने के लिए बचाव अभियान जारी है। अब तक दो शव बरामद किए गए हैं।


मल्टीपल लैंड स्लाइड के कारण 4 से 5 स्थानों पर सड़क की पहुंच कट जाती है। जोशीमठ से बीआरटीएफ की टीमें बीती शाम से भपकुंड से लेकर सुमना तक की स्लाइड्स को साफ करने में लगी हैं। इस पूरे इलाके को साफ करने में 6 से 8 घंटे लगने की उम्मीद है।






Post a Comment

Previous Post Next Post