أبريل 2021
chamoli S D R F W H O अगस्त्यमुनि अंतरराष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट अंतरराष्ट्रीय महिला अंतरिक्ष अधीनस्थ सेवा चयन आयोग अनलॉक डाउन अनलॉक फॉर गाइड लाइन जारी अनुकृति गुसाईं रावत अपराध अभिनेता अल्मोड़ा आईएमए पासिंग आउट परेड आजादी का जश्न आत्मनिर्भर आपद प्रबंधन आपदा आपदा प्राधिकरण आपदा श्रीनगर गढ़वाल आबकारी आम आदमी उत्तराखंड आयुष आयूर्वैदिक आरटीपीसीआर आर्थिक इगास इंटरव्यू इटली इंद्रमणी बड़ोनी ईटावा उच्च शिक्षा उत्तर प्रदेश उत्तरकाशी उत्तराखंड उत्तराखंड आबकारी उत्तराखंड कलाकार उत्तराखंड कांग्रेस उत्तराखंड कोरोना उत्तराखंड कोरोना अपडेट उत्तराखंड गाइडलाइन उत्तराखंड पुलिस उत्तराखंड प्रवासी सोनू सूद उत्तराखंड बोर्ड उत्तराखंड राजनीति उत्तराखंड विधायक उत्तराखंड सरकार उत्तराखंड सिनेमा उत्तराखंड हेल्थ बुलेटिन उधम सिंह नगर उधममसिंह नगर उपनल कर्मियों उर्वशी रौतेला ऊखीमठ ऊधम सिंह नगर ऋषिकेश ऋषिकेश एम्स ऋषिकेश-कर्णप्रयाग एच एन बी विश्वविद्यालय एम्स ऋषिकेश कोरोनावायरस एम्स ऋषिकेश वारियर एम्स कोरोना अपडेट एम्स हेल्थ बुलेटिन एस कोरोना अपडेट औचक निरीक्षण कर्णप्रयाग कर्नाटक कविता कविता कोरोनावायरस कांग्रेस काठगोदाम कानपुर काफल कामयाबी कार्बेट नेशनल पार्क कांवड़ यात्रा किच्छा कुंभ घोटाला कुर्मांचल परिषद कृषि केदारनाथ केन्द्रीय सरकार कैबिनेट कैबिनेट बैठक कैबिनेट मंत्री कोटद्वार कोरोन वारियर कोरोना कोरोना अपडेट कोरोना कर्फ्यू शासन आदेश कोरोना कविता कोरोना दवाई कोरोना देश कोरोना पर सख्त कोरोना पॉजिटिव कोरोना बैठक कोरोना रोकथाम कोरोना वायरस कोरोना वारियर कोरोना वैक्सीन कोरोना समीक्षा बैठक कोरोनावायरस कोविड वैक्सीनेशन क्राइम क्रांइम क्वारंटाइन क्वांरेंटाइंन क्वॉरेंटाइन खाद्धय खाद्यान्न सामग्री खेल गंगोत्री नेशनल हाईवे गणतंत्र दिवस परेड गीत संगीत गुड़गांव गुमशुदा गुलदार गृह मंत्रालय गैरसैंण गोवा राज्यपाल ग्रीष्मकालीन राजधानी घनसाली चमोली चमोली आपदा चाइनीज एप चाइनीज एप्स चारधाम चारधाम यात्रा चिरबटिया जखोली जखोली जखोली पालाकुराली जखोली फतेडू जगदी जनता के नाम संदेश जन्मदिन श्रीदेव सुमन जयंती जयपुर जानकारी जापान जोशीमठ झारखंड झूठी अफवाह टिहरी टिहरी औचक निरीक्षण टिहरी घनसाली डिजिटल डीएम डॉ धन सिंह रावत डॉ हरक सिंह रावत डोईवाला तबादला तबादले तस्करी तीन बच्चों को जन्म तीरथ कैबिनेट तीरथ सिंह रावत तोताघाटी त्रिवेंद्र सिंह रावत त्रिस्तरीय पंचायत थराली दर्शन लाल आर्य दशहत दिल्ली दुर्घटना दून दूरदर्शन देवकी भंडारी देवस्थान बोर्ड देश देश दुनिया देश बजट देहरादून देहरादून आमिर खान देहरादून कैबिनेट देहरादून मुख्यमंत्री देहरादून सचिवालय देहरादून हादसा धरना प्रदर्शन धर्म धारचूला धार्मिक नई गाइडलाइन नई दिल्ली नगर निगम नंदा देवी नरेन्द्र सिंह नेगी नशा निधन नैनीताल पतंजलि पद्दम भूषण पुरस्कार परिवहन पर्यटक पर्यटन पर्वतारोहण पलायन पशुपालन पासिंग आउट पासिंग आउट परेड पिथोरागढ़ पिथौरागढ़ पीएनबी पीएम पीएम सम्मान पुरोला पुलिस पूर्व सैनिक पेयजल आपूर्ति पेशावर काण्ड पोड़ी पौड़ी पौड़ी कोरोना पौड़ी गढ़वाल पौड़ी नगरपालिका प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री राहत कोष प्रवासियों प्रवासी प्रवासी उत्तराखण्डी प्रशिक्षण प्रीतम भरतवाण फटी जीन्स फादर्स डे फिल्म जगत फूलदेई बगावत बड़ी खबर बद्रीनाथ धाम बांगर बागेश्वर बाघ बाजपुर बालिका दिवस बिहार बिहार आपदा बैंक बोली भाषा संस्कृति ब्योकी रस्याण ब्लैक फंगस भाजप उप चुनाव भाजपा भारत भारत निर्वाचन भारतीय रिजर्व बैंक भालू का हमला भावभीनी श्रद्धांजलि भूकंप मंत्रीमंडल विस्तार मत्स्य पालन मध्य प्रदेश मसूरी महाराष्ट्र महाविद्यालय महिला शक्तिकरण महेंद्र सिंह धोनी मित्र पुलिस मुख्य सचिव मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री उत्तराखंड मुख्यमंत्री राहत कोष मुख्यमंत्री विधानसभा गैरसैंण मुख्यमंत्री विमोचन मुख्यमंत्री सोशल मीडिया मुख्यमंत्री स्टाफ मुख्यमंत्री स्वरोजगार मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना मुजफ्फरनगर मुंबई मुम्बई मुलाकात मेडिकल कॉलेज मेरा गांव मौत मौसम यमकेश्वर यातायात नियम युवाओं को प्रेरेणा यूपी पुलिस योग रक्तदान रक्षा क्षेत्र रक्षाबंधन रमेश पोखरियाल निशंक राजनिति उत्तराखंड राजनीति राजस्थान राज्यपाल रानीखेत राम मंदिर रामदेव रामनगर रामायण राष्ट्रपति सम्मान राष्ट्रीय राष्ट्रीय वेवीनार रुड़की रुद्रप्रयाग रूद्रपुर रूद्रप्रयाग रूद्रप्रयाग जिला रूद्रप्रयाग जिला पंचायत अध्यक्ष रेलवे रैबार पांच खबर दिनभर रोजगार समाचार रोपणी लखनऊ लुठियाग लॉक डाउन लॉक डाउन 4 लॉकडाउन लोक पर्व लोकल फॉर वोकल वन विभाग वाद्य यंत्र वाध्य यंत्र वायरल मैसेज वायरल वीडियो विज्ञान विशेष विश्व पर्यावरण दिवस विश्वविद्यालय वीआरओ वीरता व्यक्तिव शख्सियत शहिद शहीद शादी शिक्षक शिक्षा शिक्षा विभाग शोक संवेदना श्रद्धांजलि श्रीनगर श्रीनगर गढ़वाल सख्सियत संघ सचिवालय सतपाल महाराज सतपाल महाराज एवं अमृता रावत समाज सेवा समाजसेवा समीक्षा बैठक संमूण फाउन्डेशन सम्मान संयुक्त राष्ट्र अवार्ड सरकारी नोकरी सरोज खान सल्ट संस्कृत शिक्षा संस्कृति सहकारिता साइबर कांइम सांसद निधि साहित्य साहित्यिक साहित्यिकार सीएम सीएम को ट्विट सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत सीएम राहत कोष सीएमओ देहरादून सीबीआई सुंदर लाल बहुगुणा सुसाइड सूचना महानिदेशक सूरत सूर्यग्रहण सेना सेवा चयन आयोग सोनू सूद का आभार सोशल डिस्टेंसिग स्पर्श गंगा स्वरोजगार स्वागत स्वास्थ्य स्वास्थ्य विभाग हरक सिंह रावत हरिद्वार हरीश रावत हरेला हल्द्वानी हंस फाउंडेशन हादसा पौड़ी हेल्थ बुलेटिन होली

रूद्रप्रयाग जखोली के इस गांव में मिले 17कोरोना पॉजिटिव मिलने से मचा हड़कंप-जानिए पूरी खबर



रूद्रप्रयाग- रुद्रप्रयाग ।जिले में कोरोना के लगातार बढ़ रहे सक्रमण ने अब गांवों में भी पांव पसार शुरू कर दिया ।

विकासखण्ड अगस्त्यमुनि के मणीगृह में 31 पॉजीटिव मिलने से उपजिलाधिकारी रुद्रप्रयाग द्वारा मिनी कन्टेमेंट जॉन बनाने की शिफारिश ।

विकास खण्ड  जखोली के डंगवाल गांव में 17 पॉजीटिव मिलने से उपजिलाधिकारी जखोली ने मिनी कन्टेमेंटजोन बनाने की शिफारिश ।


मणीगृह व डंगवाल गांव में होगा आवागमन पूर्ण रूप से प्रतिबंधित ।

थाना अगस्त्यमुनि को व्यवस्था बनाने के लिये किया गया आदेशित ।

जिले में अबतक 550 एक्टिव कोरोना मरीज ।

 डा. आरबीएस रावत बने सीएम के प्रमुख सलाहकार

डॉ आर बी एस रावत, मुख्यमंत्री के प्रमुख सलाहकार

देहरादून। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने उत्तराखंड वन विभाग के सेवानिवृत्त प्रमुख मुख्य वन संरक्षक और अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर की कई महत्वपूर्ण समितियों से जुड़े डा. आरबीएस रावत को अपना प्रमुख सलाहकार नियुक्त किया है। भारतीय वन सेवा के योग्यतम अफसरों में शुमार डा. रावत लंबे समय तक वन विभाग के मुखिया रहे। 

वन विभाग के मुखिया रहते हुए डा. रावत को तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने अपर मुख्य सचिव बनाने की पहल की थी, लेकिन आईएएस लाबी ने इस महत्वपूर्ण पद पर गैर आईएएस को बिठाने के प्रयासों को विफल कर दिया था।  

अंतरराष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं में काम करने से रावत की पहचान देश के योग्यतम अफसरों में होती है। उनके अनुभव व ज्ञान को देखते हुए आईएएस अफसर भी उनका बड़ा सम्मान करते‌ हैं। डा. रावत उस विवेकानंद फाउंडेशन से भी जुड़े हैं जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ताकत माना जाता है। सरल स्वभाव के डा. रावत चमोली जनपद के मूल निवासी हैं और फारेस्ट आफीसर होने के साथ-साथ वे अच्छे ट्रैकर भी रहे हैं। रावत को बाद में तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अधीनस्थ सेवा चयन आयोग का पहला चेयरमैन बनाया था।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बताया कि डा.रावत की प्रमुख सलाहकार पद पर नियुक्ति से संबंधित फाइल अनुमोदित कर दी गई है। उन्होंने कहा कि डा. रावत के अनुभवों का लाभ राज्य के विकास में उठाया जाएगा। गौरतलब है कि सेवानिवृत्त प्रमुख मुख्य वन संरक्षक डा.रावत वर्तमान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पर्यावरण गतिविधि के उत्तराखंड प्रांत संयोजक भी हैं। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री जल्द ही विभिन्न क्षेत्रों के कुछ और विशेषज्ञों को सलाहकार नियुक्त कर सकते हैं।

 दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने नकली रेमेडेसिविर इंजेक्शन बनाने और उन्हें बेचने वाले गैंग के 5 लोगों को कोटद्वार उत्तराखंड से गिरफ्तार


(मनोज नौडियाल, कोटद्वार)



कोटद्वार।दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने नकली रेमेडेसिविर इंजेक्शन बनाने और उन्हें बेचने वाले गैंग के 5 लोगों को कोटद्वार उत्तराखंड से गिरफ्तार किया। इन नकली इंजेक्शन को 25 हजार रुपये में ये जरूरतमंदों को बेचा करते थे। क्राइम ब्रांच डीसीपी मोनिका भारद्वाज की टीम ने एक जानकारी के बाद कोटद्वार की इस फैक्ट्री में छापा मारकर यहां से नकली इंजेक्शन, पैकिंग डिब्बे और मशीन बरामद की है। पुलिस ने बताया कि यह लोग एक इंजेक्शन को 25 हजार रुपये में बेचते थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से रेमडेसिविर के 196 नकली इंजेक्शन बरामद किए हैं और साथ ही इंजेक्शन पैक करने के लिए काम आने वाले 3000 वायल्स भी पुलिस ने बरामद किए हैं।आपको बता दें कि नकली असली रेमडेसिविर इंजेक्शन की पहचान कैसे करे इसके लिए क्राइम ब्रांच की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने ट्वीट किया था। क्राइम ब्रांच की टीम को जानकारी मिली थी कि यह गैंग नकली इंजेक्शन बनाकर लोगो की परेशानी का फायदा उठा रहा है।

बता दें कि इस समय देश के कई राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर ने कहर मचाया हुआ है। कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन का इस्तेमाल किया जा रहा है। यही वजह है कि अधिकांश जगहों पर इंजेक्शन की भारी किल्लत देखने को मिल रही है और इसे ऊंचे दामों पर बेचा जा रहा है। कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते उत्तराखंड भी रेमडेसिविर की कमी से जूझ रहा है।

 

 उत्तराखंड में कही जगह दिल्ली स्पेशल सेल और STF के छापे




 (अमित गिरि गोस्वामी देहरादून)


देहरादून- उत्तराखंड के रुड़की समेत हरिद्वार और कोटद्वार में दिल्ली स्पेशल सेल की रेड मामले में अब राज्य STF की टीम भी एक्टिव हो गई है अभी तक मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है आरोपी रुड़की में रेमडिसिवर नामक पेपर्स प्रिंटिंग कराकर दूसरे इंजेक्शन पर इसे चिपका देते थे और रेमेडिसविर नामक इंजेक्शन बताकर बेच देते थे DIG और प्रवक्ता नीलेश आनंद भरने ने बताया कि कुल 5 लोगों से जॉइंट इंट्रोगेशन चल रही है इंजेक्शन पर नाम का प्रिंट करबे वाले फैक्टरी मालिक को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया है उत्तराखंड STF और अधिक जानकारी जुटा रही है STF की टीमें भी रवाना की गई है STF नीलेश आनंद भरने ने बताया की कुल 5 लोगो मे से 2 उत्तराखंड के रुड़की हरिद्वार के निवासी है दिल्ली स्पेशल सेल ने दो लोगो को पहले दिल्ली में अरेस्ट किया था इसके आधार पर स्पेशल सेल दिल्ली से उत्तराखंड आयी है !



दुखद खबर-आजतक के प्रसिद्ध एंकर रोहित सरदाना का कोरोना से निधन




मशहूर न्यूज एंकर रोहित सरदाना की कोरोना से मौत हो गई है। लंबे समय तक जी न्यूज में एंकर रहे रोहित सरदाना इन दिनों आज तक न्यूज चैनल में एंकर के तौर पर काम कर रहे थे। सुधीर चौधरी ने ट्वीट किया, 'अब से थोड़ी पहले जितेंद्र शर्मा का फोन आया। उसने जो कहा सुनकर मेरे हाथ काँपने लगे। हमारे मित्र और सहयोगी रोहित सरदाना की मृत्यु की ख़बर थी। ये वायरस हमारे इतने क़रीब से किसी को उठा ले जाएगा ये कल्पना नहीं की थी। इसके लिए मैं तैयार नहीं था। यह भगवान की नाइंसाफ़ी है...। ॐ शान्ति।' 

लंबे समय से टीवी मीडिया का चेहरा रहे रोहित सरदाना इन दिनों 'आज तक' न्यूज चैनल प्रसारित होने वाले शो 'दंगल' की एंकरिंग करते थे। 2018 में ही रोहित सरदाना को गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार से नवाजा गया था। वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने भी रोहित सरदाना की मौत की जानकारी दी है। उन्होंने ट्विटर पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा, 'दोस्तों बेहद दुखद खबर है। मशहूर टीवी न्यूज एंकर रोहित सरदाना का निधन हो गया है। उन्हें आज सुबह ही हार्ट अटैक आया है। उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना।'



 

प्रदेश में रिमिडीसिवर इंजेक्शन का पर्याप्त कोटा, सरकार हर स्तर पर तैयार




प्रदेश में कोरोना संक्रमण को लेकर राज्य सरकार लगातार प्रयास कर रही है। राज्य सरकार ने दो दिनों में 7 मिड लेवल अस्पतालों की अतिरिक्त व्यवस्था की हैं जिसके बाद राज्य में 700 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड, 39 आईसीयू और दो वेंटीलेटर अतिरिक्त बढ़ गए हैं। सचिव स्वास्थ्य श्री पंकज कुमार पांडेय ने मीडिया सेंटर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि बीते राज्य सरकार के पास वर्तमान में 12 कोविड अस्पताल,62 डीसीएससी और 385 कोविड केयर सेंटर काम कर रहे हैं। सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि राज्य में 17 हजार के करीब अस्पतालों में बेड हैं जबकि 5500 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड, 1302 आईसीयू बेड, 774 वेंटिलेटर कोविड के लिए इस्तमाल किए जा रहे हैं।


जल्द हल्द्वानी और ऋषिकेश में बनेंगे दो अस्थाई अस्पताल


सचिव श्री पंकज कुमार पांडेय ने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा भारत सरकार को अनुरोध किया गया था जिसके बाद डीआरडीओ की मदद से दो अस्थाई अस्पताल बनने जा रहे हैं। कुमाऊ क्षेत्र के लिए यह अस्पताल हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज कैम्पस में बनेगा जिसे सुशीला तिवारी अस्पताल हाई संचालित करेगा। इसके अलावा गढ़वाल क्षेत्र के लिए अस्थाई अस्पताल आईडीपीएल ऋषिकेश में बनेगा जिसे एम्स ऋषिकेश संचालित करेगा। इन दोनों अस्थाई अस्पतालों में 500 -500 बैड की क्षमता होगी। हल्द्वानी में बनने वाले अस्थाई अस्पताल में 400 ऑक्सीजन बेड एवं 100 आईसीयू बेड बनाए जाएंगे, जबकि आईडीपीएल ऋषिकेश में 500 बेड ऑक्सीजन सपोर्टेड बनेंगे तथा राज्य सरकार की मदद से एम्स ऋषिकेश में 100 आईसीयू बेड अलग से बनाए जाएंगे। इसके अलावा हिमालय अस्पताल जौलीग्रांट में डीआरडीओ की मदद से ऑक्सीजन सपोर्टेड 400 बेड तैयार किए जाएंगे। सचिव पंकज पांडे ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को पूरी उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों के भीतर डीआरडीओ की मदद से ऑक्सीजन और आईसीयू सपोर्टेड 1400 नए बेड तैयार हो जाएँगे।*


सचिव स्वास्थ्य  पंकज कुमार पाण्डेय ने यह भी बताया कि प्रदेश में रिमिडीसिवर इंजेक्शन की पर्याप्त व्यवस्था कर दी गई है। राज्य सरकार द्वारा केंद्र को पत्र लिखते हुए अतिरिक्त इंजेक्शन की मांग की गई है।


दवाओं की कालाबाजारी के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम
सचिव श्री पंकज कुमार पाण्डेय ने बताया कि रिमिडीसिवर इंजेक्शन के रेट तय करते हुए अस्पतालों को उसी दामों पर इंजेक्शन देने के लिए निर्देशित किया गया है।उन्होंने बताया कि इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी हेतु कंट्रोल रूम की व्यवस्था की गई है। आम जनता काला बाज़ारी हेतु इन नम्बरों 0135 2656202, 9412029536 इन नंबरों के जरिए आम आदमी दवाओं की कालाबाजारी शिकायत कर सकते हैं।


300 रुपए की गई रैपिड एंटीजन टेस्ट की दर


इसके अलावा सचिव स्वास्थ्य श्री पंकज कुमार पाण्डेय ने बताया कि सरकार ने कोविड सम्बंधी जरूरी व्यवस्थाओं हेतु अधिकारियों को अलग-अलग जिम्मेदारी देते हुए नोडल अधिकारी तैनात किया गया है, जिनसे रोजाना कार्य प्रगति रिपोर्ट अपर मुख्य सचिव श्रीमती मनीषा पंवार द्वारा ली जाती है। यह भी बताया कि प्रदेश के नर्सिंग छात्रों को जिलेवार मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के माध्यम से तैनाती दी जा रही है। इसके अलावा राज्य सरकार ने रैपिड एंटीजन टेस्ट की दर को भी कम करते हुए अब मात्र ₹300 कर दिया गया है।


 उत्तराखण्ड राज्य आंदोलनकारी मंच ने की सरकार से प्रदेश में 45 दिन की संपूर्ण लॉकडाउन करने की मांग


प्रदीप कुकरेती, उत्तराखंड, आंदोलकारी,मंच के अध्यक्ष


      

 देहरादून-आज दिनांक 28-अप्रैल को उत्तराखण्ड राज्य आंदोलनकारी मंच द्बारा सरकार से विशेष विनती के साथ मांग क़ी है कि इस कोरोना से यदि निजात चाहिऐ तो सरकार तत्काल कम से कम 15-दिनो का संपूर्ण कर्फ्यू लगाएअन्यथा यह चेन टूटने लायक नही।


  प्रदेश अध्यक्ष जगमोहन सिंह नेगी व जिला अध्यक्ष प्रदीप कुकरेती ने अपने संयुक्त बयान जारी करते हुए माननीय मुख्यमन्त्री को वाट्सअप व ईमेल द्बारा कुछ सुझाव के साथ ज्ञापन भेज कर सम्पूर्ण लॉक  डॉउन क़ी मांग क़ी है साथ ही कहा कि केवल दवाइयों व स्वास्थ्य सम्बन्धी इकाई खोले बाकी 15 दिनो तक बन्द करें सब्जी मण्डियों से व बाजार में सामान क़ी दुकानों से जिस प्रकार ये कोरोना क़ी डाक बांटी जा रही है वह सामान्य व्यक्ति को भी प्रभवित कर रहा है। इससे हमारे पुलिस बल को भी काफी परेशानी उठानी पड़ रही है इसलिए पहली प्रथमिकता भीड़ को घर में रोकने क़ी है।

   महासचिव रामलाल व मोहन खत्री ने कहा कि कोरोना पुष्टि के बाद भी किट सप्ताह तक भी नही पहुंच रही जिससे आमजन उस उस किट के भरोसे अपनी बिमारी और गम्भीर कर रहा हे। प्रदीप कुकरेती ने स्वास्थ्य सचिव से मांग क़ी है क़ी वर्तमान परिस्तिथि को देखते हुए शहर को चार जोन में बाटे और तत्काल चार C M O स्तर के अधिकारी नियुक्त करें साथ ही किट सम्बन्धी वितरण हेतु डाक्टर क़ी जगह किसी दूसरे लोगो क़ी ड्यूटी लगाए ताकि डाक्टर अपनी असल जिम्मेदारी निभा सके।

पूरन सिंह लिंग्वाल ने कहा कि प्रशासन मण्डी को अपने अधिकार में लेकर वार्डवार वयवस्था करें आमजन का जाना बन्द करें जीवन जरूरी है कम खा लेगे परन्तु कई जीवन बचा लेगें।



 कैबिनेट मंत्री ने बुलाई आयुष विभाग की आपातकालीन बैठक

 (अमित गिरि गोस्वामी  की रिपोर्ट)




कोटद्वार- प्रदेश के वन-पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन सहित श्रम-कौशल विकास एवं सेवायोजन के अलावा आयुष एवं आयुष शिक्षा मंत्री डाॅ. हरक सिंह रावत की अध्यक्षता में उनके विधान सभा स्थित कार्यालय कक्ष में होम्योपैथिक तथा आर्युेवेदिक एवं यूनानी चिकित्सा सेवाओं के अधिकारियों के साथ कोविड-19 के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण निर्णय लेने हेतु आयुष विभाग की आपातकालीन बैठक आयोजित की गई उन्होंने होम्योपैथिक तथा आर्युेवेदिक विभागों के अधिकारियों को प्रत्येक जनपद में लोगो की कोविड-19 से सम्बन्धित निःशुल्क सहायता देने आयुष किट प्रदान करने तथा इससे सम्बन्धित लोगो की काउंसलिग करने एवं जरूरी जानकारी प्रदान करने के लिए संयुक्त रूप से एक आयुष हैल्प डेस्क स्थापित करने के निर्देश दिये उन्होंने कहा कि इसके लिए दोनो विभागों को कुल 05 करोड 85 लाख रूपये की धनराशि सरकार द्वारा तत्काल अवमुक्त की गई है इस आयुष हैल्प डेस्क के माध्यम से होम आईसोलेशन और विभिन्न स्वास्थ्य केन्द्रो में उपचार हेतु आने वाले आगन्तुकों तथा लोगो द्वारा डिमांड किये जाने पर 24 धण्टे के भीतर आयुष चिकित्सा किट उपलब्ध कराये जाने का प्रयास किया जायेगा यह हैल्प डेस्क 24 धण्टे कार्य करेगा जहाॅ पर आयुष चिकित्सक सम्बन्धित स्टाफ के साथ उपस्थित रहेंगे प्रदेश के विभिन्न स्वास्थ्य केन्द्रों में मानक के अनुरूप आर्युेवेदिक एवं होम्योपैथिक आयुष चिकित्सक उपलब्ध हो सके इसके लिए मंत्री ने तत्काल संविदा के माध्यम से चिकित्सकों की भर्ती कराने से सम्बन्धित प्रस्ताव बनाने के अधिकारियों को निर्देश दिये मंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में हर्रावाला में आर्युेवेद विश्वविद्यालय परिसर में स्थित राजकीय आर्युेवेदिक मेडिकल कालेज में 60 बैड को कोविड-19 हेतु आरक्षित करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया जिसमें 20 आक्सीजन बैड रखे जायेगें रावत ने सम्बन्धित कुलसचिव को तत्काल इससे सम्बन्धित प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिये बैठक में उन्होंने कहा कि आयुष विभाग में होम्योपैथिक तथा आर्युेवेदिक एवं यूनानी चिकित्सा सेवाएं के एैसे चिकित्सक और विभिन्न कार्मिक जो विभिन्न तरीकों से कोविड-19 से सम्बन्धित लोगो के उपचार में लगे है उनके जीवन बीमा से लेकर अन्य प्रकार की सुविधाएं एलोपैथिक चिकित्सको की भाॅति ही प्रदान की जायेगी इस दौरान मा0 मंत्री ने कहा कि आयुष विभाग द्वारा प्रत्येक जनपद में हैल्प डेस्क स्थापित करने से लेकर आर्युेवेदिक कोविड अस्पताल तथा विभिन्न क्षेत्रों में आयुष चिकित्सकों की तैनाती होने से एक ओर गाॅव में ही कोविड-19 की प्राथमिक चिकित्सा का विकल्प उपलब्ध हो सकेगा और मुख्य अस्पतालों में मरीजों का भार भी कम हो सकेगा दूसरी ओर इससे कोविड-19 के उपचार में एलोपैथिक चिकित्सा पर बढता दबाव भी कम हो सकेगा इस बैठक में आयुष एवं आयुष शिक्षा सचिव डी. सेन्थिल पाण्डियन, निदेशक होम्योपैथिक सेवाएं डा. ए बी भट्ट, निदेशक आर्युेवेदिक एवं यूनानी सेवाएं डा. एम पी सिंह, कुलसचिव राजकीय आर्येवेद विश्वविद्यालय उत्तम कुमार शर्मा सहित सम्बन्धित चिकित्सक और कार्मिक उपस्थित थे !



टीकाकरण के लिए इस लिंक पर करें अपना पंजीकरण-देखें पूरी जानकारी



 देहरादून

देशभर में आज से युवाओं के लिए टीकाकरण के लिए पंजीकरण हुआ शुरू

उत्तराखंड राज्य में भी टीके के लिए पंजीकरण की हुई शुरुआत

रजिस्ट्रेशन Cowin.gov.inCowin.gov.in, या फिर आरोग्य सेतु एप के माध्यम से किया जा सकता है

उत्तराखंड के 50 लाख से ज्यादा युवाओं को मिलेगा लाभ

सभी को फ्री में लगाई जाएगी वैक्सीन

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने युवाओं से की टीका लगाने की अपील


टीकाकरण अभियान के तहत 18-45 वर्ष तक के लोगों को लगेगी वेक्सीन

 रामरतन  सिंह पवांर/जखोली


शत प्रतिशत वैक्सीनेशन वाले शिक्षकों को ही कोविड ड्यूटी पर तैनाती दी जाय--शिव सिंह नेगी

   



श्रीनगर। राजकीय शिक्षक संघ ने कोविड ड्यूटी पर शत प्रतिशत वैक्सीनेशन वाले शिक्षकों को ही तैनात किये की मांग की है। प्रेस को जारी विज्ञप्ति में राजकीय शिक्षक संघ के पूर्व मण्डलीय मंत्री शिवसिंह नेगी ने वर्तमान जोखिम को देखते हुए शासन प्रशासन व विभाग से मांग की है कि राजकीय माध्यमिक शिक्षकों को कोविड ड्यूटी में लगाने से पूर्व शत प्रतिशत वैक्सीनेशन किया जाय व उसके पश्चात ही माध्यमिक शिक्षकों को बारी-बारी से कोविड ड्यूटी में तैनात किया जाय। पूर्व मण्डलीय मंत्री शिवसिंह नेगी ने यह भी मांग की है कि शिक्षकों को शत प्रतिशत वैक्सीनेशन करने के साथ ही पीपीपी कीट व अन्य सुरक्षा उपकरण मुहैया कराने के बाद ही कोविड ड्यूटी पर लगाया जाय। उन्होंने यह भी कहा कि माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक लगातार शिक्षण कार्य को बखूबी ढंग से निभाने के साथ साथ परिषदीय परीक्षा हेतु प्रयोगात्मक परीक्षा में परीक्षक के रूप में तैनात किये गये थे, इसलिए श्री नेगी ने मांग की है कि शैक्षणिक कार्य के साथ साथ प्रयोगात्मक परीक्षा कार्य में जुटे रहने के कारण अन्य शिक्षकों को बारी बारी से कोविड ड्यूटी में तैनात किया जाय ताकि भविष्य में उचित समय आने पर प्रस्तावित परिषदीय परीक्षाओं का शिक्षक सफलतापूर्वक सम्पादन कर सकें। श्री नेगी ने शासन प्रशासन व विभाग से लगातार कोविड ड्यूटी दे रहे शिक्षकों को भी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की भांति कोविड ड्यूटी में तैनात माध्यमिक शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करने की मांग की है। 


 *स्टेट प्लेन से आज उत्तराखंड पहुँचेगी 7500 रेमडिसिविर इंजेक्शन की खेप*


*सीएम तीरथ रावत के निर्देशों पर अहमदाबाद से मँगवाई गए 7500  रेमडिसिविर इंजेक्शन*




उत्तराखंड में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के विशेष प्रयासों  के बाद प्रदेश को आज 7500 रेमडिसिविर इंजेक्शन प्राप्त हो गए हैं. मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के निर्देशों पर आज सुबह ही स्टेट प्लेन को अहमदाबाद भेजा गया था, राज्य सरकार का यह विशेष विमान रेमडिसिविर इंजेक्शन की खेप लेकर देर रात तक उत्तराखंड पहुँचेगा.  अब प्रदेश में अब अगले कुछ दिनों तक रेमडिसिविर इंजेक्शन की किल्लत नहीं होगी. 


अहमदाबाद से इस खेप के आ जाने के बाद कोविड 19 संक्रमण के बाद इलाज में इस्तेमाल किए जाने वाले रेमडिसिविर इंजेक्शन का पर्याप्त कोटा प्रदेश के पास हो जाएगा. *मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए है कि सभी जिलों में रेमडिसिविर इंजेक्शन के खपत और अनुपात तय करते हुए पर्याप्त मात्रा में रेमडिसिविर इंजेक्शन भेज दिए जाएं. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण से जूझ रहे किसी भी प्रदेश वासी को रेमडिसिविर इंजेक्शन की कमी ना हो*. बीते 72 घंटों में उत्तराखंड में लगभग 11 हजार रेमडिसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति हो गई है. बीते शनिवार को भी उत्तराखंड में 3500 रेमडिसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति हुई थी.  अगले 24 घंटों में उत्तराखंड को 2000 रेमडिसिविर इंजेक्शन की और आपूर्ति हो जाएगी.

  ममता रावत ने फिर किया उत्तराखंड का नाम रोशन भारतीय  महिला वाणिज्य और उद्योग चैंबर के संस्कृति और पर्यटन की बनाई गई ममता उत्तराखंड की  अध्यक्ष  


ममता रावत,भारतीय  महिला वाणिज्य और उद्योग चैंबर के संस्कृति और पर्यटन की बनाई गई ममता उत्तराखंड की  अध्यक्ष  


देहरादून -उत्तराखंड की नारीयों ने हमेशा अपनी प्रतिभा और हुनर के दम पर उत्तराखंड का नाम रोशन किया चाहिए क्षेत्र खेल का हो या राजनीति का हो कला का हो या फिर पर्यावरण के क्षेत्र और औद्योगिक क्षेत्र में राज्य का नाम  रोशन किया । वहीं इस बार जनपद पौड़ी की ममता रावत ने ने एक बार फिर उत्तराखंड और साथ में पौड़ी जिले का नाम भी रोशन किया।  यह बहुत ही गर्व की बात है की  ममता रावत जी को भारतीय महिला वाणिज्य और उद्योग चेम्बर के संस्कृति और पर्यटन अध्यक्ष  ( president Women’s indian chamber of commerce and industry - Uttarakhand(Tourism and culture )) पद पर नियुक्त किया गया है। इन्होंने बहुत से सपनो को साकार किया है, और ये बहुत सी महिलाओं के लिये मिसाल भी हैं, इन्होंने ज़रूरतमंद लोगों को रोज़गार भी दे कर एक सर्वश्रेठ महिला होने का परिचय दिया है।  ममता रावत हमेशा उत्तराखंड को बढ़ावा देने के लिए आगे रहीं हैं, और उनकी मेहनत और लग्न ने आज उन्हें ऐसे पद का भार दिया गया है। श्रीमती ममता रावत बख़ूबी ईमानदारी और लगन से उत्तराखंड की संस्कृति, पर्यटन, और कला को एक बहुत ही अच्छे मुक़ाम पर ले जायेंगी।  ममता रावत को उत्तराखंड के पर्यटन और संस्कृति क्षेत्र में सकारात्मक योगदान देने के प्रयासों के लिए हम सभी शुभकामनाएं देते हैं।


 

  पिज़्ज़ा हट पर धारदार हथियारों से हमले का वीडियो वायरल

(अमितगिरी गोस्वामी)



हरिद्वार- जनपद में रुड़की की गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के मकतूलपुरी नामक मौहल्ले में रविवार की देर रात कुछ शराबी युवको के द्वारा एक पिज्जा की दूकान पर धारदार हथियारों से हमला करने के मामले में पुलिस ने अब आरोपी युवको की तलाश तेज कर दी है हमले की यह घटना दूकान में लगे CCTV कैमरे में कैद हो गई थी जिसका एक वीडियो अब सोशल मिडिया पर वायरल भी हो रहा है बता दे कि गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के मकतूलपुरी में रविवार की रात कुछ शराबी युवको ने एक पिज्जा की दूकान से जबरन पिज्जा माँगा था लेकिन दूकानदार ने दूकान बंद होने की बात कहकर पिज्जा देने से इंकार कर दिया था जिस पर शराबी युवको ने दुकान स्वामी नवनीत सिंह के साथ गाली गलौच कर दी थी नवनीत सिंह ने जब विरोध किया तो शराबी युवको ने अपने कुछ साथियो को मोके पर बुलाकर दूकान स्वामी और उनके एक वर्कर पर धारदार हथियारों से हमला कर दिया था जिसमे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए थे हमला करने के बाद शराबी युवक मौके से फरार हो गए थे हमले की यह घटना दूकान में लगे CCTV कैमरे में कैद हो गई थी पीड़ित दूकानदार ने पुलिस को तहरीर और वीडियो देकर आरोपी युवको पर कार्यवाही की मांग की थी इस मामले में अब पुलिस ने आरोपी युवको की तलाश तेज कर दी है हमले का एक वीडियो अब सोशल मिडिया पर वायरल भी हो रहा है !



 रामरतन सिंह पवांर/जखोली


करोना मे कारगर साबित हो सकती है होम्योपैथिक औषधि

डॉ शैलेन्द्र ममगाईं चिकित्सा अधिकारी


श्रीनगर। श्रीनगर में कोरोना महामारी संक्रमण व इससे बचाव में होम्योपैथी भी कारगर हो रही है। राजकीय उप जिला चिकित्सालय श्रीनगर के होम्योपैथी विभाग के चिकित्साधिकारी डॉ शैलेंद्र ममगाई ने बताया कि कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए होम्योपैथी दवाओं का लक्षण के अनुसार सेवन करने से लाभकारी परिणाम आ सकते हैं।

कोविड-19 में आने वाले लक्षणों को बहुत हद तक होम्योपैथिक दवाइयों से नियंत्रित किया जा सकता है जिसमें फॉस्फोरस 200, आर्सेनिक एलबम 30, कार्बो वेज 6, ब्रायोनिया एलबम 200 के बहुत ही अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं।

कार्बो वेज 6 और 30 पोटेंसी की दवा ऐसे मरीजों में बहुत लाभदायक है जिनको ऑक्सीजन की कमी महसूस हो रही हो। डॉ शैलेंद्र ममगाई ने लोगों को सलाह देते हुए कहा कि लगातार खिड़की दरवाजे खोल के स्वांस लेना और बाहर खुले में जाने की इच्छा होती है,ऑक्सीजन कंसेंट्रेसन कम होने से सायीनोसिस की स्थिति उत्पन्न हो, होंठ और चेहरा नीला पड़ने लगे हीमोग्लोबिन की कमी हो जाए ऐसी परिस्थितियों में कार्बो वेज 6 या 30 दिन में तीन या चार बार दें। 

फास्फोरस 200 पोटेंसी की दवा फेफड़े के बीमारियों में प्रभावकारी होती है और ये ऐसे मरीजों को देना चाहिए जिनको सांस लेने में बहुत दिक्कत होती हो ऐसा प्रतीत होता है कि फेफड़ा काम करना बंद कर दिया हो और फेफड़े में जकड़न हो गई हो लगातार सूखी खांसी आए, ऐसी परिस्थितियों में फास्फोरस 200 दिन में एक या दो बार दे, 3 दिन से ज़्यादा लगातार ना दें। 

ब्रायोनिया एलबम 200 पोटेंसी की दवा में सांस लेने में दिक्कत होना, फेफड़े गले और नाक की म्यूकस मेंब्रेन पूरी तरह से सूखने की स्थिति में सूखी ख़ासी आना, स्वाँस फूलना, फटने वाला सर दर्द, उल्टी महसूस होना, ज़रा भी चलने फिरने में दिक़्क़त बढ़ जाना, कफ निकलने में बहुत दिक्कत आना ऐसे मरीजों को 2 या  3 बार दिया जा सकता है।

आर्सेनिक एलबम 30 एक जीवन रक्षक होम्योपैथिक दवा है। उन्होंने कहा कि  कोविड19 के लक्षणों जैसी बीमारियों में यह एक प्रतिरोधक दवा है। इसमें शरीर में जबरदस्त कमजोरी और बहुत ज्यादा घबराहट होती है लगता है कि वो नहीं बच पाएगा, जरा भी हिलने डुलने में थकान, स्वाँस लेने में दिक़्क़त होना, सिर्फ़ बैठकर ही स्वाँस लेना, लेटते ही स्वाँस फूलना और घबराहट। ऐसी परिस्थितियों में आर्सेनिक एलबम 30 दिन में 2 या 3 बार लेने से बहुत राहत मिल सकती है। कहा कि दवा की खुराक के लिए होम्योपैथिक चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

मंत्री मंडल की बैठक में लिए गए निर्णय

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत फाइल फोटो

- प्रदेश में कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए 18 से 45 वर्ष आयुवर्ग के सभी लोगों को निशुल्क टीका लगेगा, जिसकी आबादी करीब 50 लाख है। जिसका खर्च लगभग 450 करोड़ का खर्च सरकार करेगी


- 18 से 45 वर्ष आयुवर्ग में लगने वाले टीके में 90 प्रतिशत कोविशील्ड तथा 10 प्रतिशत कोवैक्सीन का टीका लगेगा

- प्रदेश में वैक्सीन की आपूर्ति यथाशीघ्र हो इसके लिए त्वरित अग्रिम भुगतान हेतु महानिदेशक चिकित्सा तथा चिकित्सा शिक्षा को अधिकृत गया है। तथा सचिव उद्योग सचिन कुर्वे को वैक्सीन उपलब्ध कराने का दायित्व सौंपा गया है।

- रेमडेसिविर इंजेक्शन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने और शीघ्र आपूर्ति हेतु शत शत प्रतिशत अग्रिम भुगतान का प्रावधान किया गया है। तथा आपूर्ति को बैंक गारंटी व अर्नेस्ट मनी आदि की औपचारिकताओं से इसे मुक्त रखा गया है।

- सार्वजनिक स्थानों व परिसरों में मास्क ना पहनने वालों पर लगाए जाने वाले जुर्माने की धनराशि में बढ़ोतरी करते हुए 500, 700 कर दिया गया है

- राजकीय मेडिकल कालेजों में आउस सोर्सिंग से कार्यरत 479 कर्मियों की सेवा विस्तार का निर्णय लिया है।

- महाकुंभ हरिद्वार में स्थापित आधार चिकित्सालय व बाबा बर्फानी चिकित्सालयों को फिलहाल यथावत रखा जाएगा।

- स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर तैनात किए गए चिकित्सकों व अन्य कर्मियों को पूर्व की भांति यथावत रखा जाएगा।



- जिन जगहों पर कर्फ्यू लगाया गया है, वहाँ इसका  कड़ाई से अनुपालन किया जाएगा।



- कोविड कफर्यू के दौरान मीडिया कवरेज हुए पत्रकारों के प्रेस कार्ड को ही कर्फ्यू पास माना जाएगा। 



- कोरोना कर्फ्यू के दौरान कामकाज प्रभावित ना हो इसके लिए मजदूरों को भी आवाजाही की छूट होगी।



- उपनल कार्मियों की समस्याओं के निस्तारण के संबंध में कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी की अध्यक्षता में समिति का गठन किया गया, जिसमें अपर मुख्य सचिव कार्मिक एवं सचिव वित्त  को भी सदस्य बनाया गया है।



- त्रिस्तरी पंचायत व्यवस्था के अंतर्गत जिला पंचायत और निदेशालय ढांचे को मंजूरी प्रदान करते हुए 570 पदों को स्वीकृत किया गया है।



-कैबिनेट ने राज्य की जनता से मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने और घर से बाहर अनावश्यक न निकलने की अपील की है। जनजागरूकता और जनसहभागिता से ही कोविड पर विजय पाई जा सकती है। 



-राज्य के पब्लिक डेबिट मैनुअल के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। इसके तहत राज्य सरकार द्वारा आरबीआई के माध्यम से बाजार से लिए जाने वाले ऋण की प्रक्रिया को परिभाषित किया गया है। 



-डीआईटी और यूनिसन विवि अधिनियमों में मामूली संशोधन किया गया है। 



-

 माहेश्वरी फिल्मस के कार्यालय मैं माहेश्वरी फिल्मस दृारा निर्मित व डी.एस. पवांर कृत गढ़वाली फीचर फिल्म खैरी का दिन का ऑफिशियल ट्रिजर रिलिजिंग किया गया| इस दौरान र्निमाता -र्निदेशक 


खैरी का दिन का ट्रिजर लांच करते  निर्माता निर्देशक अशोक कुमार

 अशोक चौहान जी ने बताया कि कोविड(19) को ध्यान में रखते हुए , बढते हुए कोरोना  के दौरान सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन को ध्यान में रखा गया.इस कारण किसी भी गणमान्य व्यक्ति व फिल्म से जुड़े हुए कलाकारों को आमंत्रित नहीं किया गया ।| करोना काल को ध्यान में रखते हुए गढ़वाली फीचर फिल्म खैरी का दिन को प्रदर्शित किया जाएगा माहेश्वरी फिल्मस ऑफिशियल ट्रिजर रिलिजिंग के दौरान उपस्थित निर्माता -निर्देशक अशोक चौहान व अभिनेता पुरुषोत्तम जेठुडी, गुंजन तिवारी, ईशान चौहान , शांतनु चौहान व समाजसेवी हंस राज बडोनी उपस्थित रहै।



|फिल्म की शूटिंग गढ़वाल के भिन्न-भिन्न स्थानों व सुन्दर वादियो मे की गई गांव ढनकुर, पटटी सितोंस्यों.कोट ब्लोक, पौडी गढ़वाल, टिहरी झील, मंसुरी, देहरादुन, ऋषिकेश आदि रमणीक स्थान में की गयी||फिल्म को रोचक बनाने में विभिन्न कलाकारों की भूमिका रही||

अभिनेता-राजेश मालगुडी

अभिनेत्री -गीता उनियाल

अभिनेता-पुरुषोत्तम जेठुडी ,पुजा काला , रणवीर चौहान- शिवांगी देवली, 

अभिनेता - रमेश रावत ,रीता भण्डारी,राजेश नौगाई, नवल सेमवाल,धर्मेंद्र चौहान सतेस्वरी भटट, नीशा भण्डारी, गुंजन तिवारी,गोकुल पंवार,रवि ममगांई,विक्रम बिष्ट, बसन्त धिल्डियाल, कुलदीप देवली रोशन उपाध्याय,प० अमित ,ईंदु भट्ट ममगांई,  तथा बाल कलाकार -प्राज्वल ममगांई, आयुश ममगांई, गरिमा बलोधी |

लाईन प्राडुसर-पुरुषोत्तम जेठुडी

नृत्य निर्देशक -अरविंद नेगी ,

फाईट मास्टर-प्रदीप नेगी

संगीतकार-अमित वी० कपूर 


सहनिर्माता-रोशन उपाध्याय

गीतकार- शैलेंद्र पटवाल ,सूर्यापाल श्रीवाण, राकेश राज,जितेंद्र पंवार वीरेंद्र राजपूत,डी.एस. भंडारी

गायक-मीना राणा ,गजेन्द्र राणा, धूमसिह सिह रावत, वीरेंद्र सिंह राजपूत ,जितेंद्र पंवार ,राकेश राज ,प्रियंका पंवार, मंजु सुंदरियाल,सूर्यापाल श्रीवाण

मेकअप- रविंद्र,चाहत  बिजय चाहत 

डी.ओ.पी.- युदॄबीर सिंह नेगी 

कैमरा सहायक-करेब बाबा, शुभम ममगांई

सह निदेृशक- जयदेव भटटाचार्य ,कुलदीप देवली, बसंत घिल्डियाल

संकलन-अरुण नेगी

कैटरिंग-मेरवान जेठुडी श्यामपुर

ट्रांसपोर्ट -दिनेश जयाडा||

नहीं रहे घनसाली बुढा केदार के प्रसिद्ध समाजसेवी और डॉक्टर नरेंद्र सिंह नेगी

दिवंगत डॉ नरेन्द्र सिंह नेगी

 टिहरी-टिहरी गढ़वाल के अन्र्तगत भिलंगना विकास खण्ड के ग्राम थाती बूढ़ा केदार में जन्में प्रख्यात चिकित्सक डाॅक्टर नरेन्द्र सिंह नेगी की उम्र लगभग 80 वर्ष थी। वह पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे और आज प्रातः अपने हाल निवास चंबा में अंतिम सांस के साथ ही परलोक को  सिधार गये जिससे क्षेत्र के लोगों में शोक की लहर दौड़ गई । उनके निवास स्थान पर श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा हुआ हैै उन्हें दाहसंस्कार के लिए उनके पैतृक घाट बूढ़ा केदार के लिए ले जाया जाएगा।

चार भाईयों में दूसरे नंबर के स्वयं डाॅ. नरेन्द्र सिंह नेगी, सबसे बड़े भाई सैनेट्री इंस्पेक्टर से सेवा निवृत सूरत सिंह नेगी, तीसरे नंबर के अनुज भाई पूरण सिंह नेगी फौज से सेवा निवृत व सबसे छोटे भाई टिहरी/भिलंगना के पूर्व विधायक बलवीर सिंह नेगी हैं, जबकि डाॅक्टर नेगी के बड़े पुत्र डाॅक्टर विजय प्रताप नेगी का नई टिहरी के बौराड़ी में स्वयं का क्लीनिक है और छोटे पुत्र टोनी दिल्ली में एडवोकेट हैं।

आयुर्वेद के विशेषज्ञ, मृदुभाषी, व्यवहार कुुशल और सौम्य स्वभाव के चिकित्सक डाॅक्टर नरेन्द्र सिंह नेगी ने पुरानी टिहरी में 30 वर्षों तक मरीजों की न्यूनतम फीस में सेवा की तथा टिहरी डुबने के बाद अपने निवास स्थान मसूरी रोड चंबा में गरीबों को चिकित्सा उपलब्ध करायी । लोगों का कहना है कि उनके हाथ में काफी जस था। उनके निधन से जनपद टिहरी गढ़वाल को अपूर्णीय क्षति हुई है।

युवा प्रधान अरविंद पंवार की कड़ी मेहनत की बदौलत मिला उत्तरकाशी पुरोला की मठ पंचायत को पंचायत राष्ट्रीय पुरस्कार-पीएम ने की अरविंद पंवार के कार्यों की तारीफ

विधायक केदार सिंह रावत और जिलाधिकारी मयूर दिक्षीत अरविंद पंवार को सम्मानित करते हुए


 देहरादून-उत्तराखंड को राष्ट्रीय पंचायत दिवस पर 10 राष्ट्रीय पुरस्कार में से अकेले तीन पुरुस्कार  जनपद उत्तरकाशी को मिले जो अपने आप में गर्व की बात है ।

उत्तरकाशी के सम्मानित जनप्रतिनिधि


आपको बता दें कि हर साल 24अप्रैल को देश के प्रधानमंत्री  दिल्ली उत्तकृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को दीनदयाल राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार से सम्मानित करते हैं। लेकिन पिछले साल से कोविड के चलते यह पुरूस्कार वर्चुअल माध्यम से दिया जा रहा है।

अरविंद पंवार का फूलमालाओं से स्वागत करते लोग

 आपको बता दें की जनपद उत्तरकाशी के पुरोला विकासखंड के मठ गांव के युवा कर्मठ और प्रगतीशील प्रधान अरविंद सिंह पंवार को अपने गांव में स्वच्छता और महिलाशक्तिकरण के लिए यह पुरस्कार दिया गया। पंवार को यह पुरस्कार यमनोत्री विधायक केदार सिंह रावत और उत्तरकाशी के जिलाधिकारी मयूर दिक्षीत ने जिलाधिकारी कार्यालय में दिया गया। वहीं युवा प्रधान अरविंद पंवार ने पंचायत विभाग का आभार प्रखट करते हुए पुरूस्कार गांव के लोगों को समर्पित किया।

अरविंद पंवार समूह फोटो में


 अरविंद पंवार का कहना है की गांव के लोगों के प्यार प्रेम और आशीर्वाद से यह पुरस्कार मिला।यदि गांव के लोग मेरे पर विश्वास नहीं करते और मुझे दोबारा प्रधान नही बनाते तो यह पुरस्कार कहां से मिलता मुझे। वहीं अरविंद पंवार को पुरुस्कार मिलने पर क्षेत्र के विधायक केदार सिंह रावत ने अरविंद पंवार को शुभकामनाएं दी और कहा की यह अरविंद पंवार की दूरगामी सोच और कठिन मेहनत का परिणाम है साथ ही विधायक रावत ने कहा की उत्तरकाशी को तीन पुरुस्कार मिलना राज्य और जिले के लिए गौरव की बात है।


युवा प्रधान अरविंद पंवार के बारे में यह भी पढ़ें.....

ग्राम प्रधान अरविंद पंवार का कहना है की पुरूस्कार की मिली धनराशि को जनहित कार्य में खर्च किए जायेंगे।


  • (रैबार पहाड़ स्पेशल डेस्क)

  •  उत्तराखंड के युवा आज हर क्षेत्र आज सफलता हासिल कर रहे हैं 
  • राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित होंगी मठ व देवजानी ग्राम पंचायत
  • विकास के दम पर दोबारा प्रधान बने अरविंद पंवार

पीएम पुरस्कार से सम्मानित होने वाले ग्राम प्रधान मठ अरविंद पंवार


 परिचय

  •  नाम-अरविंद सिंह पंवार
  • शिक्षा,बीएसी, राजकीय महाविद्यालय पुरोला
  • राजकीय महाविद्यालय पुरोला, निर्विरोध छात्र संघ अध्यक्ष
  • जिला अध्यक्ष 2014, युवा मोर्चा उत्तरकाशी
  • 2014 में पहली बार प्रधान बने फिर 2019 में चुने गए
भारत सरकार द्वारा प्राप्त पत्र

पंचायतों में स्वच्छता के क्षेत्र में बेहतर काम करने तथा उत्कृष्ठ विकास कार्यों के लिए दिए जाने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण राष्ट्रीय पुरस्कार में उत्तराखंड ने अपनी छाप छोड़ी है। 



पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण के तहत मिलने वाले पुरस्कार के लिए उत्तराखंड से चार ग्राम पंचायतों का चयन हुआ है, जिसमें से उत्तरकाशी की दो ग्राम पंचायतें पुरोला की मठ और मोरी की देवजानी ग्राम पंचायत शामिल हैं। राष्ट्रीय स्तर पर क्षेत्र की दो ग्राम पंचायतों का पुरस्कार के लिए चयन होने पर क्षेत्र में हर्ष की लहर है। 

पंचायती राज विभाग की शुभकामना संदेश


वहीं ग्राम पंचायत मठ के ग्राम प्रधान अरविंद पंवार ने क्षेत्र में नया आयाम स्थापित किया है,उन्होंने दूसरी बार प्रधान रह कर यह उपलब्धि अपने नाम की है। अरविंद पंवार एक युवा नेता हैं। जो आज दूसरों से हटकर अपने क्षेत्र का विकास कर रहे है। अरविंद पंवार ने राजकीय महाविद्यालय पुरोला से बीएससी की. वह 2011 में राजकीय महाविद्यालय पुरोला के निर्विरोध छात्र संघ अध्यक्ष चुने गए। और 2014 में उन्हें उत्तरकाशी के भारतीय जनता युवा मोर्चा का जिला अध्यक्ष बनाया गया। आज युवा वर्ग देश के विकास के लिए हमेशा से ही तत्पर रहता है। युवा इस बात को समझ चुका है कि देश के लिए कुछ करना है तो उसे अपने क्षेत्र से पूरी  लगन और निष्ठा के साथ शुरू करना होगा। इसी सोच को लेकर अरविंद पंवार 2014 में पहली बार और 2019 में दूसरी बार प्रधान बने। और अब तक अपने क्षेत्र के विकास के लिए बेहतर काम कर रहे हैं। जिस वजह से आज पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए उनकी ग्राम पंचायत का चयन हुआ है।


समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचार


 ग्राम प्रधान अरविंद पंवार ने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम पंचायत सशक्तिकरण राष्ट्रीय स्तर पर ग्राम पंचायतों का चयन स्वच्छता, महिला सशक्तिकरण, ग्राम्य विकास के तहत हुआ है। जिसमें मठ ग्राम पंचायत पूरी तरह खरी उतरी है। राष्ट्रीय स्तर पर मिलने वाला पुरस्कार ग्राम पंचायत के साथ पूरे जिले के लिए सम्मान की बात है। 24 अप्रैल को उन्हें दिल्ली में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

वहीं देवजानी की ग्राम प्रधान बबिता चौहान ने पुरस्कार मिलने पर खुशी जताते हुए कहा कि पुरस्कार में मिलने वाली धनराशि को गांव के विकास कार्यों में खर्च किया जाएगा ।


मंत्रीमंडल की बैठक में आज हो सकता उत्तराखंड में सशर्त लॉकडाउन पर फैसला  



 देहरादून। कोविड संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए सोमवार को प्रस्तावित मंत्रीमंडल की बैठक में प्रदेश में सशर्त लॉकडाउन पर फैसला हो सकता है। कई मंत्री हालात को देखते हुए प्रदेश में लॉकडाउन के पक्ष में हैं। हालांकि,अंतिम फैसला मुख्यमंत्री के स्तर से ही होना है जिस पर अभी तस्वीर साफ नहीं हुई है।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर कई मंत्री पक्ष में.है आज कैबिनेट में आ सकता है प्रस्ताव

प्रदेश में स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण लॉकडाउन जरूरी हो गया है। मेरी अन्य मंत्रियों से भी बात हुई है। और उनकी ओर से भी सहमति जताई जा रही है। देहरादून में लोगों को अस्पतालों में जगह तक नहीं मिल पा रही है। सोमवार को कैबिनेट है और इसमें लॉकडाउन पर विचार किया जा सकता है।

 इम्‍युनिटी मजबूत करने के लिए खाएं संतरा, दूर भागेगा कोरोना- डॉ राजे सिंह नेगी






ऋषिकेश-  इम्‍युनिटी मजबूत करने के लिए खाएं संतरा, वरदान साबित हो रहा है।इसके नियमित सेवन से कोरोना की जंग जीतने में अनकों संक्रमित रोगियों को जबरदस्त फायेदा भी मिला है। अधिकतर चिकित्सकों का कहना है संतरा कोरोना से लडऩे की शक्ति बढ़ाने में काफी हद तक कामयाब हो रहा है।

यह समय कोरोना से जंग का है। इसे हराने की जुगत सभी तलाश रहे हैं। इम्युनिटी बढ़ाने की कवायद में हर कोई जुटा हुआ है।नेत्र चिकित्सक व विभिन्न सामाजिक संगठनों से जुड़े समाजसेवी डा राजे सिंह नेगी का कहना है कि इस जंग में खुद को स्वस्थ बनाए रखना पहली प्राथमिकता है। ऐसे में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना जरूरी है। इसके लिए कई चीजें हैं, लेकिन संतरे का जवाब नहीं।उनका कहना है कि यह फल कोरोना से लडऩे की शक्ति बढ़ाने में काफी हद तक कामयाब हो रहा है। क्योंकि, इसमें विटामिन-सी भरपूर है, जिससे इम्यूनिटी मजबूत होती है। वे मरीजों को नियमित सेवन की सलाह भी दे रहे हैं।डा नेगी के अनुसार इम्युनिटी मजबूत करने के लिए विटामिन से भरपूर फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए। ताकि संक्रमण और वायरल अटैक से बचा जा सके। संतरे में 88 फीसद विटामिन सी होता है। इसके अलावा फाइबर, थियामिन व पोटैशियम जैसे खनीज पदार्थ भी प्रचुर मात्रा में होते है।संतरे में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, पेट संबंधी रोगों में भी यह फायदेमंद है। कब्ज, बवासीर में संतरे के सेवन से आराम मिलता है। आंखों के लिए भी लाभदायक है। संतरे में कैल्शियम होने से हड्डी और दांत मजबूत होते हैं। थकान या कमजोरी महसूस होने पर संतरे का सेवन करने से राहत मिलती है। यही नहीं, संतरे में मौजूद फोलेट घाव भरने में सहायक होता है। वहीं, साइट्रिक एसिड गुर्दा और मूत्र संबंधित रोगों को दूर करता है।संतरा खाने से वजन नहीं बढ़ता है और इम्युनिटी भी मजबूत बनी रहती है।मौसमी बीमारियों से बचने के लिए संतरे का सेवन काफी मददगार होता है।

 द्वारीखाल ब्लॉक प्रमुख महेन्द्र राणा को लगातर तीसरी बार उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार देकर किया सम्मानित   

(रैबार पहाड़ का डेस्क)



कोटद्वार।राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर बेविनार के माध्यम से आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पुरस्कार वर्ष 2021 के लिए पुरस्कार तथा स्वामित्व कार्डों का वितरण किया गया। 



प्रधानमंत्री ने बटन दबाकर राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार के रूप में दी जाने वाली पांच से पचास लाख रुपये तक की पुरस्कार राशि विजेता पंचायतों के बैंक खातों में सीधे अंतरित की गई। 



जनपद के द्वारीखाल ब्लाक प्रमुख को राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार 2021 के तहत दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार एवं 25 लाख की धनराशि दी गई। इस अवसर पर जनपद पौड़ी के द्वारीखाल ब्लॉक प्रमुख महेंद्र राणा को विधायक मुकेश सिह कोली तथा जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार देकर सम्मानित किया। जिलाधिकारी ने कहा कि द्वारीखाल ब्लॉक प्रमुख को लगातर तीसरी बार उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया है। कहा कि महेंद्र राणा के प्रमुख रहते समय उनके द्वारा क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर उन्हें सम्मानित किया गया है। जिससे  पौड़ी जनपद के लिए गर्व की बात है। उन्होंने समस्त विकासखंड के जनप्रतिनिधियों को कहा की अपने अपने क्षेत्र में बेहतर कार्य करें, जिससे यह पुरस्कार आगे आप भी प्राप्त कर सकेंगे।जिलाधिकारी कैंप कार्यालय पौड़ी में वर्चुअल के माध्यम से प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार 2021 वितरण हेतु कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रधानमंत्री ने देश के समस्त ब्लॉक प्रमुखों को वर्चुअल के माध्यम से बधाई देते हुए कहा कि आगे भी इसी तरह के कार्य अपने क्षेत्र में करते रहना। साथ ही उन्होंने कोविड-19 गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए सावधानी बरतने को कहा। कहा की सामाजिक दूरी, मास्क, सैनिटाइजर का उपयोग लगातार करते रहे। जिससे हमारा देश कोरोना से जीत सकेगा। क्षेत्रीय विधायक मुकेश सिह कोली तथा जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार वितरण हेतु आयोजित कार्यक्रम में जनपद पौड़ी द्वारीखाल ब्लॉक के ब्लॉक प्रमुख महेंद्र राणा को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। विधायक श्री कोली ने ब्लाॅक प्रमुख को बधाई देते हुए कहा कि इसी तरह के कार्य से अन्य जन प्रतिनिधियों को अपने दायित्व एवं कार्य के प्रति मार्गदर्शन मिल सकेंगा। कहा कि इससे गांव के जनप्रतिनिधियों को सीख लेना चाहिए कि किस प्रकार से स्वच्छता, जल संचय संबर्धन, सहित अन्य विकास कार्यो को किया जाना है। जिलाधिकारी ने कहा कि द्वारिखाल प्रमुख द्वारा अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर उन्हें सम्मानित किया गया। उन्होंने समस्त विकास खंडों के जनप्रतिनिधियों को भी अपने क्षेत्रों में बेहतर कार्य करने को कहा जिससे वह आने वाले वर्ष इस पुरस्कार को हासिल कर सकेंगे। प्रधानमंत्री द्वारा देशभर के विभिन्न गांव में वर्चुअल के माध्यम से स्वामित्व योजना के अंतर्गत कार्डों का वितरण भी किया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद पौड़ी में 3041 राजस्व ग्रामों में से 2381 का सर्वे ड्रोन के माध्यम से पूर्ण कर लिया गया है। जिसमें लगभग 1500 राजस्व ग्रामों के नक्शे सर्वे ऑफ इंडिया से प्राप्त हो चुके हैं। जिसमें से आज 56 राजस्व ग्राम पंचायतों के 1089 से अधिक लाभार्थियों को स्वामित्व कार्ड से लाभान्वित किया गया। उन्होंने कहा कि जनपद के समस्त ग्राम पंचायतों में अगले 02 से 03 माह के स्वामित्व योजना का कार्य पूर्ण किया जाएगा।द्वारीखाल ब्लाक प्रमुख महेंद्र राणा ने कहा कि उन्होंने कहा कि क्षेत्र महिला मंगल दल, मुर्गी बड़ा, मनरेगा, कृषि, विकासखंड के कार्य सहित विभिन्न योजनाओं से लोगों को जोड़ा है। जिससे क्षेत्र के लोग स्वरोजगार अपनाकर अपनी आर्थिकी को मजबूत बना सकेंगे। कहा कि क्षेत्र में अधूरे कार्यों को भी जल्द पूर्ण किया जाएगा जिससे लोगों को इसका लाभ मिल सकेगा।इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई, अपर जिलाधिकारी डॉ .एस के बरनवाल, उप जिलाधिकारी श्याम सिंह राणा, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, डीपीआरओ एम एम खान, अपर मुख्य अधिकारी संतोष खेतवाल सहित अन्य उपस्थित थे।

--

 

बड़ी खबर-देहरादून में लगा सात दिन का लॉकडाउन-जानिए पूरी खबर

जिलाधिकारी देहरादून का आदेश



देहरादून– देहरादून जिला प्रशासन ने लिया बड़ा फैसला डीएम आशीष कुमार श्रीवास्तव ने देहरादून के नगर निगम क्षेत्र ऋषिकेश देहरादून के छावनी परिषद गढ़ी कैंट और क्लेमेंट टाउन में कोरोना का क्यों लगा दिया है यानी 26 अप्रैल से 3 मई तक देहरादून में पूर्ण लॉकडाउन रहेगा इसके तहत फल सब्जी की दुकान में डेयरी बेकरी की दुकान है राशन की दुकान है सस्ते गल्ले की दुकान है तथा पशु चारे की दुकानें अपराहन 4:00 बजे तक ही खुल सकेंगे पेट्रोल पंप गैस आपूर्ति और दवा की दुकान है पूरे समय खुली रहेंगी आवश्यक सेवा से जुड़े वाहनों व सरकारी वाहनों को केवल ड्यूटी केले आवागमन की छूट होगी हवाई जहाज ट्रेन व बस से यात्रा करने वाले व्यक्तियों को आवागमन में छूट रहेगी के अलावा कहीं आदेश किए गए हैं जारी देखिए आदेश

   जिलाधिकारी देहरादून का आदेश

कोविङ-19 संक्रमण में हो रही निरन्तर वृद्धि के फलस्वरूप जन सुरक्षा हित में यह निर्णय लिया जाना आवश्यक हो गया है। अत: Uttarakhand Epidemic Diseases, COVID-19 Regulations 2020 एवं Epidemic Diseases Act 1897 सपठित दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 तथा आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 के अधीन प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए मैं डॉ० आशीष कुमार श्रीवास्तव, जिला मजिस्ट्रेट, देहरादून पूर्व पारित आदेशो में आंशिक संशोधन करते हुए जनपद देहरादून के नगर निगम ऋषिकेश, देहरादून एवं छावनी परिषद गढीकैन्ट और क्लेमनटाऊन के क्षेत्र हेतु निम्नवत आदेश निर्गत करता हूँ


1 दिनांक 26 अप्रैल 2021 (सोमवार) की सांय 07 बजे से दिनांक 03 मई 2021 (सोमवार) प्रातः 05 बजे तक जनपद देहरादून के नगर निगम ऋषिकेश, देहरादून एवं छावनी परिषद गढीकैन्ट और क्लेमनटाऊन के क्षेत्रार्न्तगत पूर्णतः कोरोना कर्फ्यू रहेगा। इस दौरान निजी वाहनों का आवागमन भी पूर्णतयाः प्रतिबन्धित रहेगा।


2 उक्त कोरोना कर्फ्यू अवधि में निम्नवत सेवाओं से जुड़े दुकानो व वाहनों को सशर्त छूट निम्न प्रकार से रहेगी फल, सब्जी की दुकानें, डेरी, बेकरी, मीट-मछली (वैध लाईसेंसधारी) की दुकाने, राशन की दुकाने, सरकारी सस्ता


गल्ला की दुकाने तथा पशुचारा की दुकाने अपरान्ह 04 बजे तक ही खुली रह सकेगी। पेट्रोल पम्प व गैस आपूर्ति तथा दवा की दुकानें पूरे समय खुली रहेगी।


→ आवश्यक सेवा से जुड़े वाहनो तथा सरकारी वाहनों को केवल ड्यूटी हेतु आवागमन में छूट होगी। हवाई जहाज ट्रेन तथा बस से यात्रा करने वाले व्यक्तियों को आवागमन में छूट होगी।


→ शादी और संबन्धित समारोहों में प्रवेश करने के लिए बैंकेट हॉल / सामुदायिक हॉल और विवाह समारोहों से संबंधित व्यक्तियों / वाहनों की आवाजाही हेतु प्रतिबन्धों के साथ छूट रहेगी समारोह स्थल पर 50 से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं हो सकेंगे ।


→ सार्वजनिक हित के निर्माण कार्य चलते रहेगे तथा इनसे जुड़े हुए कार्मिक एवं मजदूरों तथा निर्माण सामग्री के वाहनों को आवागमन में छूट रहेगी।


> औद्योगिक इकाईयो, तथा इनके वाहन व कार्मिको को आने-जाने की छूट होगी। → रेस्टोरेन्ट तथा मिठाई की दुकानों से होम डिलवरी में छूट रहेगी ।


→ शव यात्रा से संबंधित वाहनों को छूट रहेगी तथा अंतिम संस्कार में 20 से अधिक व्यक्ति सम्मलित नहीं हो सकेंगे। केन्द्र सरकार तथा राज्य सरकार के अधीन समस्त शासकीय तथा अशासकीय कार्यालय (आवश्यक सेवा के


कार्यालयों को छोड़कर) बन्द रहेंगे। → मालवाहक वाहनों के आवागमन में छूट रहेगी।


→ वास्तविक रूप से चिकित्सालय उपचार हेतु जाने वाले व्यक्तियों के वाहनों को आवागमन में छूट होगी। → कोविड-19 जांच एवं टीकाकरण हेतु निकटवर्ती केन्द्र तक आवागमन की छूट होगी।


> पोस्ट ऑफिस तथा बैंक यथा समय खुले रहेंगे। दिनांक 26.04.2021 को बाजार सांय 05 बजे तक खुले रहेंगे तथा सांय 07 बजे से पूर्व की भाँति रात्रि


कर्फ्यू लागू रहेगा।


जनपद देहरादून के अन्य स्थानों पर पूर्व आदेश संख्या: 3391 / सीपीओ-डीएम-2021 दिनांक 21.04.2021 यथावत लागू रहेगा।


3 कोविड-19 संक्रमण के प्रसार को रोकने हेतु समय-समय पर जारी भारत सरकार / उत्तराखण्ड शासन तथा जिला प्रशासन के दिशा-निर्देशों का अनुपालन अनिवार्य होगा उल्लंघन की स्थिति में सम्बन्धित के विरुद्ध आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 व Uttarakhand Epidemic Diseases, COVID-19 Regulations 2020 Epidemic Diseases Act 1897 एवं भारतीय दण्ड संहिता तथा अन्य अधिनियमो की सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।



 पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कोविड से निपटने के लिए विधायक निधि से दिया एक करोड़ का अंशदान, CM से अनुभव भी किये साझा




 देहरादून।  पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेश में कोविड के  कोविड से निपटने के लिए दिया एक करोड़ का अंशदानबढ़ते प्रकोप को देखते हुए रविवार को मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत से मुलाक़ात की। उन्होंने कोविड से निपटने के लिएअपने कार्यकाल में उठाए गए कदमों और कार्यों के अनुभव को साझा किया । श्री त्रिवेंद्र ने मुख्यमंत्री को राज्य में कोविड से निपटने के लिए सहयोग के तौर पर अपनी विधायक निधि से मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 करोड़ की धनराशि के अंशदान की भी घोषणा की। उन्होंने सुझाव दिया है कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोगों की जान बचाने के लिये प्रदेश में सख़्ती बरतने में हिचक नहीं होनी चाहिये। 

 पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि देश में कोविड महामारी से उत्पन्न ऑक्सीजन संकट को देखते हुए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देशभर में 551 और ऑक्सीजन उत्पादन प्लांटों के प्रस्ताव के फ़ैसले से स्वास्थ्य सेवाओं को मज़बूती मिलेगी। इस पर ख़र्च होने वाली   राशि का वहन PM केयर फंड से  किया जाएगा                                                                      । कोविड के ख़िलाफ़ टीकाकरण अभियान के अगले चरण में एक मई से 18-45 वर्ष के नागरिकों को टीकाकरण किया जाएगा । वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है इसलिए सभी नागरिक अपनी बारी आने पर अवश्य टीका लगायें ।

उन्होंने आज माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अप्रैल माह की “मन की बात” को सुना। इस बार की मन की बात में कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाने को लेकर बेहद ही महत्वपूर्ण जानकारियां माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा साझा की गई। मा प्रधानमंत्री जी ने कोरोना की दूसरी लहर के बारे में देश के विभिन्न राज्य के चुनिंदा देवतुल्य डॉक्टरों, फ्रंटलाइन वर्कर्स, एम्बुलेंस ड्राइवर, कोविड विनर इत्यादि लोगों से बात कर उनके अनुभवों के बारे में जाना। 


उन्होंने कहा कि अनुभवों से यह निकलकर सामने आया कि हमें बिल्कुल भी इस महामारी से घबराना नहीं है। संयम बनाए रखना है और सावधानी के साथ आगे बढ़ना है। इस संकट काल में धैर्य बिल्कुल भी नहीं खोना है। डॉक्टरों ने दूसरी लहर को पहले लहर कि तुलना में तेज जरूर बताया है लेकिन यह भी बताया कि इस समय रिकवरी रेट पहले की तुलना में ज्यादा है और इसमें मृत्यु दर भी कम है।

 बड़ी खबर-उत्तराखण्ड आने के लिए पंजीकरण जरूरी-क्यूआर कोर्ड के जरिए भी कर सकते आप पंजीकरण-देखें रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया



 देहरादून-उत्तराखंड प्रवासियों के लिए यह खबर जरूरी है। उत्तराखंड आने वाले सभी प्रवासियों के लिए सरकार ने पंजीकरण को अनिवार्य कर दिया साथ ही अब बिना पंजीकरण के राज्य में प्रवेश वर्जित कर दिया गया..आप इसके लिए राज्य सरकार के स्मार्ट सिटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन को जरुरी कर दिया है।



 साथ ही सरकार के द्वारा स्मार्ट सिटी पोर्टल पर क्यूआर कोड के जरिए भी आवेदन किया जा सकता हैआप अपने फोन के जरिए ही क्यूआर कोड स्कैन कर अपनी जानकारी स्मार्ट सिटी पोर्टल पर अपलोड कर सकते हैं और उसके बाद आपका पंजीकरण होने के बाद उत्तराखंड में प्रवेश को अनुमति मिल जाएगी उत्तराखंड परिवहन विभाग के द्वारा इसको जारी किया गया है।


 *राजस्व से अधिक मुझे प्रदेश की जनता की चिंता हैः मुख्यमंत्री तीरथ*

*मुख्यमंत्री ने लिया शराब की दुकानें अन्य दुकानों के साथ ही 2ः00 दोपहर बंद करने का निर्णय*

*कोविड संक्रमण के फैलाव को कम करने के लिए सरकार ने लिया निर्णय*




कोविड संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए प्रदेश सरकार ने एक बड़ा निर्णय लिया है। उसके तहत अब शराब की दुकानें भी बाजार की अन्य दुकानों की तरह ही 2ः00 बजे दोपहर में बंद हो जायेंगी। आज  मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि उन्हें राजस्व से कहीं अधिक राज्य के वासियों के स्वास्थ्य की चिंता है। संक्रमण को रोकने के लिए जो भी जरूरी कदम होंगे वह उठाए जायेंगे।

जब से प्रदेश में कोरोना का संक्रमण में तेजी आई है सरकार ने भी रोकथाम के प्रयास तेज कर दिए हैं। इसमें खासतौर कोविड की चेन तोड़ने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। महामारी के खिलाफ चल रही लड़ाई के क्रम में  बाजार के प्रतिष्ठनों को दोपहर 2 बजे ही बंद करने के निर्देश दिए। 



आज मुख्यमंत्री ने यह निर्णय लिया  कि प्रदेश में संचालित शराब की दुकानें भी बाजार के अन्य प्रतिष्ठानों के साथ ही दोपहर दो बजे में बंद हो जायेंगी। 


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि शराब की दुकानें जल्दी बंद किए जाने से राजस्व का नुकसान होना तो स्वाभाविक है। लेकिन मुझे अपने प्रदेश की जनता की चिंता है। हर हाल में प्रदेश को संक्रमण के प्रभाव से बचाना है। इसके लिए जो भी कदम उठाने जरूरी होंगे वह उठाए जायेंगे।

  डाॅ0 आलोक सागर गौतम को हे0न0ब0 गढ़वाल विश्वविद्यालय श्रीनगर द्वारा वार्षिक शोध सम्मान के लिए चुना गया।



हे0न0ब0 गढ़वाल विष्वविद्यालय श्रीनगर के भौंतिकी विभाग के सहायक प्रोफेसर डाॅ0 आलोक सागर गौतम को उत्कृष्ट शोध कार्यों के लिए वार्षिक शोध सम्मान के लिए चुना गया। हे0न0ब0 गढ़वाल विश्वविद्यालय द्वारा गठित अनुसंधान और परामर्ष समन्वय सेल (आर0सी0सी0 सेल) के द्वारा विष्वविद्यालय के शिक्षकों से उत्कृष्ट शोध कार्यों के लिए आवेदन मांगे गये थे, जिसमें आर0सी0सी0 सेल द्वारा षिक्षकों से उनके शोध कार्य, शोध पत्र, शोध परियोजनाओं, इम्पैक्ट फैक्टर, साइटेषन इन्डैक्स आदि मानदण्डों से सम्बन्धित आवेदन मांगे गये थे जिसमें सर्वोच्च और उत्कृष्ट शोध पत्रों, शोध परियोजनाओं को प्रकाशित करने के लिए भौंतिकी विभाग के प्रोफेसर डा0 आलोक सागर गौतम को चुना गया। 


डाॅ0 आलोक सागर गौतम लगातार वायु की गुणवत्ता का अध्ययन, बादल बनने की प्रक्रिया को समझने, बिजली गिरने की घटनाओं, ग्लेशियर पर ब्लैक कार्बन एयरोसोल के प्रभावों पर शोध कर रहे हैं। अन्र्तराष्ट्रीय/राष्ट्रीय शोध पत्रिकाओं में 55 से ज्यादा शोध पत्र प्रकाशित कर चुके हैं। कई शोध परियोजनाओं को पूर्ण और कार्य कर रहे हैं। डाॅ0 गौतम मानव स्वास्थय और खासकर महिलाओं के स्वास्थ्य पर वायु प्रदूषणों के प्रभाव पर शोध कर रहे हैं। डाॅ0 गौतम को पूर्व में भी अन्र्तराष्ट्रीय/राष्ट्रीय संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया गया, जिसमें इंटरनेशनल सेन्टर फार थ्योरिटिकल फिजिक्स इटली द्वारा एसोसियेटषिप, 28वें भारतीय दल के रूप में दक्षिण ध्रुव अन्टार्कटिका में शोध कार्य, उत्तराखण्ड साइन्स एण्ड टैक्नोलाॅजी (यूकास्ट) देहरादून द्वारा युवा वैज्ञानिक सम्मान, पर्यावरण विषेषज्ञ सम्मान आदि से सम्मानित किया जा चुका है। 


डाॅ0 गौतम समाज के लिए शोध के आधार पर आउटरीच कार्यक्रमों के तहत् विभिन्न कार्यक्रमों में संचालित कर रहे हैं जिसमें एरोसोल, एअर क्वालिटी एण्ड क्लाइमेट चेंज रिसर्च सोसायटी के माध्यम से समाज के कल्याण के लिए शोध, जे0एस0टी0आर0 शोध पत्रिका के माध्यम से शोध कार्यों को बढ़ावा दे रहे हैं और विष्वविद्यालय के छात्र लाभान्वित हो रहे हैं।


डाॅ0 गौतम हे0न0ब0 गढ़वाल विश्वविद्यालय  श्रीनगर के इन्नोवेषन सेल के उपाध्यक्ष और आई0क्यू0ए0सी0 के सदस्य भी हैं।

  कैबिनेट मंत्री कर रहे नियमो का उल्लंघन

रिपोर्टर : शुभम गंभीर




बाजपुर : भले ही केंद्र और प्रदेश सरकार कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए नई नई गाइडलाइन तैयार कर रही है लेकिन सरकार की गाइडलाइन का उनके ही मंत्री मजाक उड़ा रहे हैं। यही कारण है कि बाजपुर में कैबिनेट मंत्री सरकार की योजनाओं का शिलान्यास करने के लिए जनसभाओं में पहुंच रहे हैं। वही कैबिनेट मंत्री के कार्यक्रम में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी खामोश बनकर तमाशा देख रहे हैं। बता दें कि उत्तराखंड सरकार के कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ग्राम रजपुरा नंबर 2 पहुंचे। जहां कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने प्रधान मंत्री जन विकास कार्यक्रम एमएसडीपी के तहत 4 करोड़ 40 लाख की लागत से पेयजल योजना के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया। इस दौरान कैबिनेट मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हर घर नल और हर नल में जल योजना के तहत कार्य किया जा रहा है। जिसके चलते पेयजल योजना का निर्माण कार्य 9 माह में पूरा किया जाएगा और आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों को स्वच्छ पानी उपलब्ध कराया जाएगा। वही सरकार द्वारा किसी भी कार्यक्रम में 50 लोगों के एकत्रित होने की जारी की गई गाइडलाइन का जमकर मजाक उड़ाया गया। जहां सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे। वही जब गाइडलाइन के उल्लंघन का सवाल कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य से किया गया तो उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में सामाजिक दूरी और मास्क का पूरा ध्यान रखा गया है। वही कार्यक्रम के उपरांत कैबिनेट मंत्री बीते दिनों खनन क्षेत्र में हुए अग्निकांड पीड़ितों से मुलाकात करने पहुंचे जहां उन्होंने पीड़ितों को सरकार द्वारा हर संभव सहायता उपलब्ध कराने की बात कही।



 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  जखोली प्रमुख प्रदीप थपलियाल को  मिला राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार -क्षेत्र में खुशी की लहर

(रामरतन सिंह पंवार, जखोली)



जखोली। राष्ट्रीय पंचायत दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा क्षेत्र पंचायत प्रमुख जखोली प्रदीप थपलियाल को राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार वर्ष 2021 के तहत उत्तराखंड राज्य से पं. दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार मिलने पर जनपद रुद्रप्रयाग सहित विकासखंड जखोली के विभिन्न जनप्रतिनिधियों व क्षेत्रीय जनता ने उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्तर पर जखोली ब्लाक प्रमुख प्रदीप थपलियाल को सम्मानित होने पर खुशी व्यक्त करते हुए लोगों ने जखोली बाजार सहित रणधार,पौंठी,चौंरा,मयाली,चिरबटियां,बुढना,अमकोटी,त्यूंखर,सुमाड़ी,तैला,सिद्धसौड़,मुन्नादेवल,घंघासु,घेंगड़खाल,सौंराखाल आदि स्थानों पर लोगों व उनके समर्थकों ने जोरदार आतिशबाजी कर मिठाई बांटी व  एक दूसरे को बधाई दी। लोगों ने कहा कि ब्लाक प्रमुख जखोली ने पहली बार जखोली को राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाकर क्षेत्र का नाम रोशन किया है। बधाई देने वालों में कांग्रेस जिलाध्यक्ष ईश्वर सिंह बिष्ट,शिक्षक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष शिवसिंह रावत, ब्लॉक अध्यक्ष सुरेंद्र सकलानी,जिपं अध्यक्ष अमरदेई शाह,विधायक भरत सिंह चौधरी, विधायक केदारनाथ मनोज रावत,ज्येष्ठ प्रमुख नागेन्द्र पंवार,कनिष्ठ उप प्रमुख कवीन्द्र सिंधवाल,अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष शर्मा लाल,राजीव गांधी पंचायत राजमार्ग संगठन के जिला संयोजक अजय पुण्डीर,पूर्व जिपं अध्यक्ष लक्ष्मी राणा,पूर्व जिपंस बीरेंद्र बुटोला,अगस्त्यमुनि ब्लाक प्रमुख विजया देवी,प्रमुख ऊखीमठ श्वेता पाण्डेय,सुमन तिवाड़ी आदि शामिल थे।


 टिहरी के नर्सिंग कॉलेज में हुआ कोरोना विस्फोट95 छात्र-छात्राएं निकले कोरोना पॉजिटिव



टिहरी जनपद के सुरसिंगधार स्थित नर्सिंग कॉलेज में हुआ कोरोना विस्फोट।  95 छात्र-छात्राएं निकले कोरोना पोस्टिव। सभी को कॉलेज में ही किया जा रहा है आइसोलेट। 200 से अधिक छात्र-छात्राओं की गई थी सैंपलिग।

नर्सिंग कॉलेज को कंटेनमेंट जोन बनाकर शासन के द्वारा सैनिटाइजिंग की व्यवस्था भी की जा रही है नेगेटिव आई छात्रों को घर भेज दिया गया है और उनको होम आइसोलेट होने के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं।

प्रशासन द्वारा स्टाफ की सैंपलिंग भी जल्द से जल्द करा दी जाएगी जिससे कि सभी लोग सुरक्षित रहें। नर्सिंग कॉलेज के छात्र छात्राओं में पूर्व में भी कोरोना के लक्षण थे स्कूल प्रशासन की लापरवाही के कारण उनके सैंपलिंग बहुत देर से किए गए।

3 बदमाशों ने चाकू घोंपकर युवती को दिनदहाड़े मौत के घाट उतारा, लोगों ने घेराबंदी कर 1 बदमाश दबोचा तो 2 मौका पाकर हुए फरार

  

(अमित गिरि गोस्वामी हरिद्वार (उत्तराखंड)


रूड़की- इस वक्त की बड़ी खबर हरिद्वार के रुड़की से आ रही है हरिद्वार जनपद के रुड़की क्षेत्र में बदमाशों के हौसले कुछ इस कदर बुलंद हो चुके हैं कि सरेआम एक युवती को चाकू घोंपकर उसे मौत के घाट उतार दिया गया मामला दरअसल रुड़की की गंगनहर कोतवाली क्षेत्र का है जहां बदमाशों द्वारा दिनदहाड़े एक युवती को बीच रास्ते रोक कर सरेआम और दिनदहाड़े उसे चाकू से गोदकर मौत के हवाले कर दिया गया चाकू से हमला कर युवती को मौत के घाट उतारने वाले बदमाशों की संख्या 3 बताई जा रही है जो युवती को जान से मारने की ताक में बैठे हुए थे वहीं इस घटना से पुलिस महकमे में जबरदस्त हड़कंप मचा हुआ है साथ ही साथ आपको बता दें कि इस दौरान जैसे ही तीनों बदमाशों ने युवती पर चाकू से हमला करना शुरू कर दिया तो आसपास के मोहल्ले वासियों ने बदमाशों का घेराव कर लिया और हालात को समझने में देर नहीं की तो लोगों द्वारा बदमाशों की घेराबंदी के दौरान एक बदमाश को मौके पर ही धर दबोच लिया मगर इस दौरान उसके साथ आए दो अन्य बदमाश मौका पाकर लोगों के चंगुल से फरार होने में कामयाब हो गए वही फिलहाल पुलिस ने बदमाश को अपनी हिरासत में ले लिया है और फिलहाल पुलिस अधिकारियों द्वारा सीधे अपने संज्ञान में लेकर मामले को गंभीरता से जांच के लिए निर्देशित किया जा चुका है वहीं फिलहाल मौके पर भारी पुलिस बल की तैनाती भी कर दी गई है !



 पार्षद कमली भट्ट नगर निगम की टीम के साथ कर रही क्षेत्र को सैनिटाइजेशन




देहरादून- उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार की ओर से सैनिटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है आज इसी के तहत देहरादून में जगह-जगह सैनिटाइजेशन का कार्य हुआ देहरादून के एक वार्ड में पार्षद कमली भट्ट ने अपने क्षेत्र में नगर निगम की टीम के साथ मिलकर सैनिटाइजेशन का कार्य किया इस दौरान सभी घरों और  गाड़ियों को सैनिटाइज किया गया दरअसल समूचे उत्तराखंड में कोरोना का आंकड़ा राजधानी देहरादून में सबसे ऊपर है और आए दिन कोरोना के संक्रमण से ग्रसित पॉजिटिव के आंकड़े दोगुनी होने के कारण शासन प्रशासन के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग के सामने एक बड़ी चुनौती बनी हुई है हालांकि अपने स्तर पर पर्याप्त संसाधनों का दावा करने सरकारी तंत्र इन दिनों दिन रात एक कर के कोरोना के कहर से लड़ाई में मुस्तैदी के साथ जुड़ा हुआ है ऐसे में इसके बचाव की श्रेणी में आने वाले महत्वपूर्ण रूप से सैनिटाइजेशन और सामाजिक दूरियों के अनुपालन पर खास जोर दिया जा रहा है !




  • उत्तराखंड सीएम तीरथ सिंह रावत ने चमोली जिले के नीति वैली में सुमना घाटी का किया हवाई  सर्वे ।

  • कल यहां ग्लेशियर टूटने से सड़क निर्माण के जारी काम मे लगे मजदूर व स्थानीय लोगो पर ये आपदा बनकर टूटा था  ग्लेशियर


  • अभी तक 384 लोगो को बचाया जा चुका है जबकि 8 शव मिल बरामद।

  • 6 घायलों की स्थिति नाजुक बनी हुई है।




 चमोली- 23 अप्रैल 2021 को लगभग 4 बजे तिब्बत चाइना बॉर्डर पर ग्लेशियर सुमना – रिमखिम सड़क पर सुमना से लगभग 4 किमी दूर एक स्थान पर टूटा । यह जोशीमठ – मलारी- गिरथिडोबला – सुमना- रिमखिम क्षेत्र में स्थित है।



आपको बता दें कि यहाँ सड़क निर्माण कार्य के लिए पास में एक बीआरओ टुकड़ी और दो श्रमिक शिविर मौजूद हैं। एक सेना शिविर सुमना से 3 किलोमीटर (बीआर सुमना डिटेल से लगभग 1 किलोमीटर छोटा) स्थित है।

इस क्षेत्र में पिछले 5 दिनों से भारी बारिश और हिमपात हुआ है और अभी भी जारी है।


भारतीय सेना द्वारा तुरंत बचाव अभियान शुरू किया गया। 384 मजदूरों को सुरक्षित बचा लिया गया है और अब वे आर्मी कैंप में हैं। दोनों शिविरों में अन्य मजदूरों का पता लगाने के लिए बचाव अभियान जारी है। अब तक दो शव बरामद किए गए हैं।


मल्टीपल लैंड स्लाइड के कारण 4 से 5 स्थानों पर सड़क की पहुंच कट जाती है। जोशीमठ से बीआरटीएफ की टीमें बीती शाम से भपकुंड से लेकर सुमना तक की स्लाइड्स को साफ करने में लगी हैं। इस पूरे इलाके को साफ करने में 6 से 8 घंटे लगने की उम्मीद है।






MKRdezign

نموذج الاتصال

الاسم

بريد إلكتروني *

رسالة *

يتم التشغيل بواسطة Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget