युवा प्रधान अरविंद पंवार की कड़ी मेहनत की बदौलत मिला उत्तरकाशी पुरोला की मठ पंचायत को राष्ट्रीय पुरस्कार-पीएम ने की अरविंद पंवार के कार्यों की सराहना

युवा प्रधान अरविंद पंवार की कड़ी मेहनत की बदौलत मिला उत्तरकाशी पुरोला की मठ पंचायत को पंचायत राष्ट्रीय पुरस्कार-पीएम ने की अरविंद पंवार के कार्यों की तारीफ

विधायक केदार सिंह रावत और जिलाधिकारी मयूर दिक्षीत अरविंद पंवार को सम्मानित करते हुए


 देहरादून-उत्तराखंड को राष्ट्रीय पंचायत दिवस पर 10 राष्ट्रीय पुरस्कार में से अकेले तीन पुरुस्कार  जनपद उत्तरकाशी को मिले जो अपने आप में गर्व की बात है ।

उत्तरकाशी के सम्मानित जनप्रतिनिधि


आपको बता दें कि हर साल 24अप्रैल को देश के प्रधानमंत्री  दिल्ली उत्तकृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को दीनदयाल राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार से सम्मानित करते हैं। लेकिन पिछले साल से कोविड के चलते यह पुरूस्कार वर्चुअल माध्यम से दिया जा रहा है।

अरविंद पंवार का फूलमालाओं से स्वागत करते लोग

 आपको बता दें की जनपद उत्तरकाशी के पुरोला विकासखंड के मठ गांव के युवा कर्मठ और प्रगतीशील प्रधान अरविंद सिंह पंवार को अपने गांव में स्वच्छता और महिलाशक्तिकरण के लिए यह पुरस्कार दिया गया। पंवार को यह पुरस्कार यमनोत्री विधायक केदार सिंह रावत और उत्तरकाशी के जिलाधिकारी मयूर दिक्षीत ने जिलाधिकारी कार्यालय में दिया गया। वहीं युवा प्रधान अरविंद पंवार ने पंचायत विभाग का आभार प्रखट करते हुए पुरूस्कार गांव के लोगों को समर्पित किया।

अरविंद पंवार समूह फोटो में


 अरविंद पंवार का कहना है की गांव के लोगों के प्यार प्रेम और आशीर्वाद से यह पुरस्कार मिला।यदि गांव के लोग मेरे पर विश्वास नहीं करते और मुझे दोबारा प्रधान नही बनाते तो यह पुरस्कार कहां से मिलता मुझे। वहीं अरविंद पंवार को पुरुस्कार मिलने पर क्षेत्र के विधायक केदार सिंह रावत ने अरविंद पंवार को शुभकामनाएं दी और कहा की यह अरविंद पंवार की दूरगामी सोच और कठिन मेहनत का परिणाम है साथ ही विधायक रावत ने कहा की उत्तरकाशी को तीन पुरुस्कार मिलना राज्य और जिले के लिए गौरव की बात है।


युवा प्रधान अरविंद पंवार के बारे में यह भी पढ़ें.....

ग्राम प्रधान अरविंद पंवार का कहना है की पुरूस्कार की मिली धनराशि को जनहित कार्य में खर्च किए जायेंगे।


  • (रैबार पहाड़ स्पेशल डेस्क)

  •  उत्तराखंड के युवा आज हर क्षेत्र आज सफलता हासिल कर रहे हैं 
  • राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित होंगी मठ व देवजानी ग्राम पंचायत
  • विकास के दम पर दोबारा प्रधान बने अरविंद पंवार

पीएम पुरस्कार से सम्मानित होने वाले ग्राम प्रधान मठ अरविंद पंवार


 परिचय

  •  नाम-अरविंद सिंह पंवार
  • शिक्षा,बीएसी, राजकीय महाविद्यालय पुरोला
  • राजकीय महाविद्यालय पुरोला, निर्विरोध छात्र संघ अध्यक्ष
  • जिला अध्यक्ष 2014, युवा मोर्चा उत्तरकाशी
  • 2014 में पहली बार प्रधान बने फिर 2019 में चुने गए
भारत सरकार द्वारा प्राप्त पत्र

पंचायतों में स्वच्छता के क्षेत्र में बेहतर काम करने तथा उत्कृष्ठ विकास कार्यों के लिए दिए जाने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण राष्ट्रीय पुरस्कार में उत्तराखंड ने अपनी छाप छोड़ी है। 



पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण के तहत मिलने वाले पुरस्कार के लिए उत्तराखंड से चार ग्राम पंचायतों का चयन हुआ है, जिसमें से उत्तरकाशी की दो ग्राम पंचायतें पुरोला की मठ और मोरी की देवजानी ग्राम पंचायत शामिल हैं। राष्ट्रीय स्तर पर क्षेत्र की दो ग्राम पंचायतों का पुरस्कार के लिए चयन होने पर क्षेत्र में हर्ष की लहर है। 

पंचायती राज विभाग की शुभकामना संदेश


वहीं ग्राम पंचायत मठ के ग्राम प्रधान अरविंद पंवार ने क्षेत्र में नया आयाम स्थापित किया है,उन्होंने दूसरी बार प्रधान रह कर यह उपलब्धि अपने नाम की है। अरविंद पंवार एक युवा नेता हैं। जो आज दूसरों से हटकर अपने क्षेत्र का विकास कर रहे है। अरविंद पंवार ने राजकीय महाविद्यालय पुरोला से बीएससी की. वह 2011 में राजकीय महाविद्यालय पुरोला के निर्विरोध छात्र संघ अध्यक्ष चुने गए। और 2014 में उन्हें उत्तरकाशी के भारतीय जनता युवा मोर्चा का जिला अध्यक्ष बनाया गया। आज युवा वर्ग देश के विकास के लिए हमेशा से ही तत्पर रहता है। युवा इस बात को समझ चुका है कि देश के लिए कुछ करना है तो उसे अपने क्षेत्र से पूरी  लगन और निष्ठा के साथ शुरू करना होगा। इसी सोच को लेकर अरविंद पंवार 2014 में पहली बार और 2019 में दूसरी बार प्रधान बने। और अब तक अपने क्षेत्र के विकास के लिए बेहतर काम कर रहे हैं। जिस वजह से आज पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए उनकी ग्राम पंचायत का चयन हुआ है।


समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचार


 ग्राम प्रधान अरविंद पंवार ने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम पंचायत सशक्तिकरण राष्ट्रीय स्तर पर ग्राम पंचायतों का चयन स्वच्छता, महिला सशक्तिकरण, ग्राम्य विकास के तहत हुआ है। जिसमें मठ ग्राम पंचायत पूरी तरह खरी उतरी है। राष्ट्रीय स्तर पर मिलने वाला पुरस्कार ग्राम पंचायत के साथ पूरे जिले के लिए सम्मान की बात है। 24 अप्रैल को उन्हें दिल्ली में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

वहीं देवजानी की ग्राम प्रधान बबिता चौहान ने पुरस्कार मिलने पर खुशी जताते हुए कहा कि पुरस्कार में मिलने वाली धनराशि को गांव के विकास कार्यों में खर्च किया जाएगा ।


Post a Comment

Previous Post Next Post