कलयुगी बाप ने पैंसों के लालच में बेच डाला 14 साल की बेटी को ... क्यों हुआ रिश्ता शर्मसार-देखें पूरी ख़बर

 कलयुगी बाप ने पैंसों के लालच में बेच डाला 14 साल की बेटी को ... क्यों हुआ रिश्ता शर्मसार




( दीपक कैन्तुरा की कलम से)

..देवभूमि में ये क्या होने लगा है?

·         बाप ने क्यों बेचा अपना जिगर का टुकड़ा?

·         इंसान गरीब पर इंसानियत शर्मसार क्यों?

·          कलयुगी बाप को किसने किया मजबूर?

·         गांव के लोग बुद्धिजीवी मुखिया और रिश्तेदार क्यों खामोश?

·          महिला आयोग बाल आयोग का क्या रहेगा रुख !

·         32 साल के नशेड़ी को 14 साल की मासूम को क्यों बेचा गया ?

·         बाप की मजबूरी थी या फिर साजिश?

·         बेटी का सौदागर क्यों बना बाप?

·         कहीं मानव तस्करी तो नहीं हो रही पहाड़ में?

·         एसडीएम ने मामले का लिया संज्ञान।

·         पुलिस कर रही मामले की छानबीन।

  • कितने और मासूम बेटियों पर हुआ होगा अत्याचार? 
  • जबाब देगा कौन


 

(वायरल वीडियो अध्यापक उपेन्द्र  सती का)

चमोली-हमारे देश में महिलाओं को देवी रुप में जाना जाता है। और महिलाओं की पूजा होती है। दुर्गा, लक्ष्मी, सरस्वती सभी नारी के अवतार हैं। लेकिन इसके बाद भी आज महिलाएं कहीं न कहीं अपने आप को असहज महसूस करती है। हमारे समाज में नारी को लेकर घृणित मानसिकता उसके भ्रूण से शुरु हो जाती है की जब वह मां के पेट में पलती तब से उसकी चर्चा शुरु हो जाती है की लड़की है कि लड़का। यदि लड़की हो तो उसका अपमान उसकी मां की कोख में शुरु हो जाता है। और जब उसका जन्म होता है तो उसकी मां को भी उसका विरोध झेलना पड़ता है.. की लड़की हुई .. फिर जब वह बड़ी होती तो तब उसको अपने परिवार से लेकर समाज तक का अपमान सहना पड़ता है। वहीं सरकार नारी कल्याण के लिए कई योजनाएं संचालित कर रही हैं.. की नारी मजबूत हो, लेकिन ये योजनाएं योजना बनकर रह जाती है। देश के प्रधानमंत्री बेटी–बचाओ, बेटी पढ़ाओं का नारा देते हैं..और उनकी कोशिश है कि महिलाएं मजबूत हो, जागरुक हों..लेकिन चमोली में पोखरी की इस घटना के बारे में सुनकर आपकी रुह कांप जाएंगी। राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय हरि शंकर पोखरी ब्लॉक के अध्यापक द्वारा वायरल वीडियो में कहा जा रहा है की उनके उच्च प्राथमिक विद्यालय की एक 14 साल की छात्रा को उसके पिता ने गांव के कुछ लोगों के साथ मिलकर उसकी शादी 25 वर्षीय नशेड़ी युवक के साथ कर दी और होली के दिन उस युवक ने उस 14 साल की बालिका को जलाने का प्रयास भी किया। 


      (वैभव गुप्ता, एसडीएम,चमोली)


उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों में इस तरह लड़कियों को खरीद कर शहर में ले जाने वाले गिरोह पहले से भी सक्रिय रहे हैं।  जिन का शिकार अधिकतर ज्यादा लड़कियां होती हैं या फिर वह जो गरीब परिवार से होते हैं। वहीं एसडीएम पोखरी  बैभव गुप्ता ने मामले  का संज्ञान लेते हुए  राजस्व टीम  पुलिस प्रशासन  को मौके पर भेज दिया है और कहा कि मामले में सभी के बयान लिए जा रहे हैं।  और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।  इस घटना से मालूम होता है कि कितनी गरीब परिवार में जन्मी लड़कियों को अत्याचार सहना पड़ता है।

Post a Comment

Previous Post Next Post