ये कैसा विकास-चमोली,गैरसैंण: में 10 साल से पुल निर्माण नहीं होने से ग्रामीण परेशान

 चमोली,गैरसैंण:पुल निर्माण नहीं होने से ग्रामीण परेशान,-

(डी.एस.नेगी..रैबार पहाड़ का संवाददाता)

भर‌
पुल की मांग को लेकर प्रर्दशन करते ग्रामीण

चमोली: गैरसैंण ब्लाक की ग्राम सभा आगर लगा गांवली के आगरचट्टी नजदीक राजकीय इंटर कॉलेज आगरचट्टी मैं स्थानीय निवासी पिछले 10 साल से अधिक समय से लगातार पुल बनाने की मांग कर रहे है .स्थानीय निवासियों का कहना है कि उन्होंने लोक निर्माण विभाग, जिला प्रशासन, विधायक तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों से पुल निर्माण की मांग अरसे से की जा रही है. और कई पत्र भेजे चुके है .इस और ना तो जनप्रतिनिधि  ने ध्यान दिया और ना ही प्रशासन ने. जिले में गांव-गांव में आवागमन की सुविधा सुलभ कराने को लेकर सरकार तमाम दावे कर रही है. लेकिन इसके बावजूद भी प्रखंड के कई गांव में अभी भी आवागमन की सुविधा सुलभ नहीं हो पाई है, जिसके कारण ग्रामीणों को परेशानयों का सामना करना पड़ रहा है.


                   (पुष्पा देवी,ग्राम प्रधान, आगरचट्टी)


पुल न होने से ग्रामीण हुए परेशान

आज भी कई ग्रामीण इलाकों में जर्जर सड़कें और नदी में पुल न होने से लोगों को आवागमन में कठिनाई होती है. ऐसा ही एक ग्राम आगरचट्टी वासियों का कहना है कि पुल न होने से स्थानीय निवासियों को बरसात के दिनों में राम गंगा नदी का बहाव बहुत अधिक होता है  जिससे कि उन्हें अपने खेत में जाने के लिए 10 किलोमीटर दूर पैदल घूम कर जाना पड़ता है, तथा वही स्कूल के बच्चों को भी दूसरे मार्ग से 10 किलोमीटर घूम कर जाना पड़ता है।


     (खतरनाक ग्रामिण, आगरचट्टी)

 तथा जंगली जानवरों का भी डर बना रहता है. इसमें नदी पर पुल नहीं होने से स्थानीय लोगों को आने-जाने में कठिनाई हो रही है.पुल के अभाव में ग्रामीण सैंजी तक लगभग 10 किमी ज्यादा दूरी तय कर जाते हैं.जिससे ग्रामीणो में प्रशासन पर काफी आक्रोश है. वही आगर निवासी मान सिंह नेगी  ने कहा कि यहां पर पुल निर्माण की मांग अरसे से की जा रही है. इस ओर ना ही जनप्रतिनिधि ने ध्यान दिया ना ही प्रशासन ने. पुल  निर्माण होने से लोगों को काफी सुविधा होगी. पुल निर्माण हो जाने से आम जनता के साथ-साथ किसानों को भी काफी सुविधा मिलेगी.

                         (हरिदत्त,देवली, आगरचट्टी)

बरसात के दिनों में होती है परेशानी, ग्राम वासियों का कहना है कि पुल न होने  से स्थानीय निवासियों को  बरसात के दिनों में उन्हें अपने खेत में जाने के लिए 10 किलोमीटर दूर  पैदल घूम कर जाना पड़ता है वही स्कूल के बच्चों को भी दूसरे मार्ग से 10 किलोमीटर घूम कर राजकीय इंटर कॉलेज आगर चट्टी जाना पड़ता है तथा जंगली जानवरों का भी डर बना रहता है, आगर के नजदीक राजकीय इंटर कॉलेज आगर चट्टी में सुमेरपुर,आगर,सनेड्डा,जिंगोड आदि स्कूल के बच्चे पढ़ने आते है.


पुल बनने  के लिए मांग रहे स्थानीय निवासी, नदी पर पुल न होने से लोगों को काफी परेशानियां होती है. खासकर बरसात के दिनों में परेशानी और बढ़ जाती है, जिससे स्थानीय निवासियों, स्कूल के बच्चों तथा किसानो को 10 किलोमीटर दूर पैदल घूम कर  सैंजी पुल से होकर जाना पड़ता है. तथा ग्रामीण आगर में  स्थानी निवासियों की खेती है उनमें सुमेरपुर, सनेड्डा,जिंगोड ,मल्ली स्यूणी,आगरचट्टी तथा फरसो आदि गांव की जमीन है जहां पर स्थानीय निवासी पुल के लिए लगातार मांग उठा रहे हैं ग्राम सभा आगर लगा गांव वाली के ग्राम प्रधान श्रीमती पुष्पा देवी, गीता देवी, तारा देवी, मानसिंह, दीपा देवी ,शांति देवी, खुशाल सिंह, अनीता देवी, चंदा देवी, संगीता देवी, गांव सुमेरपुर से जगदीश प्रसाद, हरिदत्त देवली, गांव फरसो खुशाल सिंह नेगी,हंसी देवी, मंगला देवी,धना नेगी, गांव मल्ली स्यूणी कुंवर सिंह आदि ग्रामवासी लगातार पुल निर्माण के लिए मांग कर रहे.

पुल बनने से आवागमन आसान, ग्रामीणों ने बताया कि यदि नदी पर पुल बना दिया जाए तो, लोगों को आवागमन में काफी आसानी होगी. इसके साथ ही गांव आगरचट्टी नजदीक राजकीय इंटर कॉलेज आगरचट्टी पुल बनने के बाद आवागमन आसान हो जाएगा. इसे लेकर उन लोगों ने जिला प्रशासन से नदी पर पुल बनाने की मांग की है.       

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget