कैबिनेट मंत्री डॉ हरक सिंह रावत के प्रयास से गुजरात से उत्तराखंड को मिले 500ऑक्सीजन सिलेंडर

कैबिनेट मंत्री डॉ हरक सिंह रावत के प्रयास से गुजरात से उत्तराखंड को मिले 500ऑक्सीजन सिलेंडर



 उत्तराखंड राज्य में दिन प्रतिदिन बढ़ रहे संक्रमण के मामले ने सरकार की चिंताओं को बढ़ा दिया है। चिंता इस बात की है कि किस तरह से राज्य सरकार प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति कर सकें। इसके लिए विधायक से लेकर मंत्री तक सभी अपने संबंधों का इस्तेमाल कर अन्य राज्यों से ऑक्सीजन सिलेंडर मांगने की जुगत में जुटे हुए हैं। इसी क्रम में कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने रायपुर से विधायक उमेश शर्मा काऊ के सहयोग से 500 ऑक्सीजन सिलेंडर गुजरात से मंगा रहे हैं। जिसमें से ढाई सौ सिलेंडर रविवार को देहरादून पहुंच गया है बाकी ढाई सौ सिलेंडर अगले एक-दो दिन में देहरादून पहुंचने की उम्मीद है।

वही कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने बताया कि इस समय राज्य सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है कि राज्य मैं ऑक्सीजन की आपूर्ति किया जाए, इसके लिए अपने अपने स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं। इसके लिए रायपुर विधायक की मदद से गुजरात से 500 सिलेंडर मंगाए गए हैं। जिसका एडवांस भुगतान भी कर दिया गया है। हालांकि, अभी फिलहाल 250 ऑक्सीजन सिलेंडर देहरादून पहुंच गया है। इन ढाई सौ ऑक्सीजन सिलेंडर में से 100 ऑक्सीजन सिलेंडर सहसपुर स्थित निजी अस्पताल में भेजा जाएगा। हालांकि इस निजी अस्पताल को भी कोविड-19 केयर सेंटर में तब्दील कर दिया गया है। जिसमें 100 बेड उपलब्ध कराए गए हैं।


इसके अतिरिक्त 60 ऑक्सीजन सिलेंडर को कोटद्वार, 20 ऑक्सीजन सिलेंडर को पौड़ी, 40 ऑक्सीजन सिलेंडर को बेस चिकित्सालय श्रीनगर के साथ ही 30 ऑक्सीजन सिलेंडर को माधव आश्रम चिकित्सालय रुद्रप्रयाग को भेजा जा रहा है। साथ ही के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने बताया कि ढाई सौ ऑक्सीजन सिलेंडर की अगली खेप आने के बाद अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर को जरूरत के हिसाब से भिजवाया जाएगा। यही नहीं कैबिनेट मंत्री ने कहा कि उन्हें पौड़ी और रुद्रप्रयाग जिले की जिम्मेदारी सौंपी गई है। ऐसे में उन्हें सिर्फ पौड़ी और रुद्रप्रयाग जिले के लिए काम नहीं करना है बल्कि पूरे प्रदेश के लिए काम करना है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget