مايو 2021
chamoli S D R F W H O अगस्त्यमुनि अंतरराष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट अंतरराष्ट्रीय महिला अंतरिक्ष अधीनस्थ सेवा चयन आयोग अनलॉक डाउन अनलॉक फॉर गाइड लाइन जारी अनुकृति गुसाईं रावत अपराध अभिनेता अल्मोड़ा आईएमए पासिंग आउट परेड आजादी का जश्न आत्मनिर्भर आपद प्रबंधन आपदा आपदा प्राधिकरण आपदा श्रीनगर गढ़वाल आबकारी आम आदमी उत्तराखंड आयुष आयूर्वैदिक आरटीपीसीआर आर्थिक इगास इंटरव्यू इटली इंद्रमणी बड़ोनी ईटावा उच्च शिक्षा उत्तर प्रदेश उत्तरकाशी उत्तराखंड उत्तराखंड आबकारी उत्तराखंड कलाकार उत्तराखंड कांग्रेस उत्तराखंड कोरोना उत्तराखंड कोरोना अपडेट उत्तराखंड गाइडलाइन उत्तराखंड पुलिस उत्तराखंड प्रवासी सोनू सूद उत्तराखंड बोर्ड उत्तराखंड राजनीति उत्तराखंड विधायक उत्तराखंड सरकार उत्तराखंड सिनेमा उत्तराखंड हेल्थ बुलेटिन उधम सिंह नगर उधममसिंह नगर उपनल कर्मियों उर्वशी रौतेला ऊखीमठ ऊधम सिंह नगर ऋषिकेश ऋषिकेश एम्स ऋषिकेश-कर्णप्रयाग एच एन बी विश्वविद्यालय एम्स ऋषिकेश कोरोनावायरस एम्स ऋषिकेश वारियर एम्स कोरोना अपडेट एम्स हेल्थ बुलेटिन एस कोरोना अपडेट औचक निरीक्षण कर्णप्रयाग कर्नाटक कविता कविता कोरोनावायरस कांग्रेस काठगोदाम कानपुर काफल कामयाबी कार्बेट नेशनल पार्क कांवड़ यात्रा किच्छा कुंभ घोटाला कुर्मांचल परिषद कृषि केदारनाथ केन्द्रीय सरकार कैबिनेट कैबिनेट बैठक कैबिनेट मंत्री कोटद्वार कोरोन वारियर कोरोना कोरोना अपडेट कोरोना कर्फ्यू शासन आदेश कोरोना कविता कोरोना दवाई कोरोना देश कोरोना पर सख्त कोरोना पॉजिटिव कोरोना बैठक कोरोना रोकथाम कोरोना वायरस कोरोना वारियर कोरोना वैक्सीन कोरोना समीक्षा बैठक कोरोनावायरस कोविड वैक्सीनेशन क्राइम क्रांइम क्वारंटाइन क्वांरेंटाइंन क्वॉरेंटाइन खाद्धय खाद्यान्न सामग्री खेल गंगोत्री नेशनल हाईवे गणतंत्र दिवस परेड गीत संगीत गुड़गांव गुमशुदा गुलदार गृह मंत्रालय गैरसैंण गोवा राज्यपाल ग्रीष्मकालीन राजधानी घनसाली चमोली चमोली आपदा चाइनीज एप चाइनीज एप्स चारधाम चारधाम यात्रा चिरबटिया जखोली जखोली जखोली पालाकुराली जखोली फतेडू जगदी जनता के नाम संदेश जन्मदिन श्रीदेव सुमन जयंती जयपुर जानकारी जापान जोशीमठ झारखंड झूठी अफवाह टिहरी टिहरी औचक निरीक्षण टिहरी घनसाली डिजिटल डीएम डॉ धन सिंह रावत डॉ हरक सिंह रावत डोईवाला तबादला तबादले तस्करी तीन बच्चों को जन्म तीरथ कैबिनेट तीरथ सिंह रावत तोताघाटी त्रिवेंद्र सिंह रावत त्रिस्तरीय पंचायत थराली दर्शन लाल आर्य दशहत दिल्ली दुर्घटना दून दूरदर्शन देवकी भंडारी देवस्थान बोर्ड देश देश दुनिया देश बजट देहरादून देहरादून आमिर खान देहरादून कैबिनेट देहरादून मुख्यमंत्री देहरादून सचिवालय देहरादून हादसा धरना प्रदर्शन धर्म धारचूला धार्मिक नई गाइडलाइन नई दिल्ली नगर निगम नंदा देवी नरेन्द्र सिंह नेगी नशा निधन नैनीताल पतंजलि पद्दम भूषण पुरस्कार परिवहन पर्यटक पर्यटन पर्वतारोहण पलायन पशुपालन पासिंग आउट पासिंग आउट परेड पिथोरागढ़ पिथौरागढ़ पीएनबी पीएम पीएम सम्मान पुरोला पुलिस पूर्व सैनिक पेयजल आपूर्ति पेशावर काण्ड पोड़ी पौड़ी पौड़ी कोरोना पौड़ी गढ़वाल पौड़ी नगरपालिका प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री राहत कोष प्रवासियों प्रवासी प्रवासी उत्तराखण्डी प्रशिक्षण प्रीतम भरतवाण फटी जीन्स फादर्स डे फिल्म जगत फूलदेई बगावत बड़ी खबर बद्रीनाथ धाम बांगर बागेश्वर बाघ बाजपुर बालिका दिवस बिहार बिहार आपदा बैंक बोली भाषा संस्कृति ब्योकी रस्याण ब्लैक फंगस भाजप उप चुनाव भाजपा भारत भारत निर्वाचन भारतीय रिजर्व बैंक भालू का हमला भावभीनी श्रद्धांजलि भूकंप मंत्रीमंडल विस्तार मत्स्य पालन मध्य प्रदेश मसूरी महाराष्ट्र महाविद्यालय महिला शक्तिकरण महेंद्र सिंह धोनी मित्र पुलिस मुख्य सचिव मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री उत्तराखंड मुख्यमंत्री राहत कोष मुख्यमंत्री विधानसभा गैरसैंण मुख्यमंत्री विमोचन मुख्यमंत्री सोशल मीडिया मुख्यमंत्री स्टाफ मुख्यमंत्री स्वरोजगार मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना मुजफ्फरनगर मुंबई मुम्बई मुलाकात मेडिकल कॉलेज मेरा गांव मौत मौसम यमकेश्वर यातायात नियम युवाओं को प्रेरेणा यूपी पुलिस योग रक्तदान रक्षा क्षेत्र रक्षाबंधन रमेश पोखरियाल निशंक राजनिति उत्तराखंड राजनीति राजस्थान राज्यपाल रानीखेत राम मंदिर रामदेव रामनगर रामायण राष्ट्रपति सम्मान राष्ट्रीय राष्ट्रीय वेवीनार रुड़की रुद्रप्रयाग रूद्रपुर रूद्रप्रयाग रूद्रप्रयाग जिला रूद्रप्रयाग जिला पंचायत अध्यक्ष रेलवे रैबार पांच खबर दिनभर रोजगार समाचार रोपणी लखनऊ लुठियाग लॉक डाउन लॉक डाउन 4 लॉकडाउन लोक पर्व लोकल फॉर वोकल वन विभाग वाद्य यंत्र वाध्य यंत्र वायरल मैसेज वायरल वीडियो विज्ञान विशेष विश्व पर्यावरण दिवस विश्वविद्यालय वीआरओ वीरता व्यक्तिव शख्सियत शहिद शहीद शादी शिक्षक शिक्षा शिक्षा विभाग शोक संवेदना श्रद्धांजलि श्रीनगर श्रीनगर गढ़वाल सख्सियत संघ सचिवालय सतपाल महाराज सतपाल महाराज एवं अमृता रावत समाज सेवा समाजसेवा समीक्षा बैठक संमूण फाउन्डेशन सम्मान संयुक्त राष्ट्र अवार्ड सरकारी नोकरी सरोज खान सल्ट संस्कृत शिक्षा संस्कृति सहकारिता साइबर कांइम सांसद निधि साहित्य साहित्यिक साहित्यिकार सीएम सीएम को ट्विट सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत सीएम राहत कोष सीएमओ देहरादून सीबीआई सुंदर लाल बहुगुणा सुसाइड सूचना महानिदेशक सूरत सूर्यग्रहण सेना सेवा चयन आयोग सोनू सूद का आभार सोशल डिस्टेंसिग स्पर्श गंगा स्वरोजगार स्वागत स्वास्थ्य स्वास्थ्य विभाग हरक सिंह रावत हरिद्वार हरीश रावत हरेला हल्द्वानी हंस फाउंडेशन हादसा पौड़ी हेल्थ बुलेटिन होली

 जरूरतमंदों तक खाद्यान्न पहुंचाएगी एटी इंडिया

लाखामंडल व चमोली के लिए कल पहली खेप रवाना

(रैबार पहाड़ डेस्क, देहरादून)



देहरादून । कोविड महामारी के इस दौर में कई लोग खाद्यान्न एवं स्वास्थ्य की परेशानियों से जूझ रहे हैं। ऐसे विकट समय में कई संस्थाओं ने आगे बढ़कर जरूरतमंदों को खाद्यान्न एवं दवाई उपलब्ध कराई है जिसके कारण ना केवल सैकड़ों हजारों लोग लाभान्वित हुए बल्कि ऐसे लोगों की इच्छाशक्ति को देखकर अन्य लोगों ने भी सहायता के हाथ बढ़ाएं। उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए कार्य करने वाली ऐसी ही एक संस्था एप्रोप्रियेट टेक्नोलॉजी इंडिया है जिसके द्वारा सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों में खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है।

खाद्यान्न की पहली खेप जैन धर्मशाला से कल सुबह लाखामंडल एवं चमोली के लिए रवाना की जा रही है जो कि संस्था के स्वयंसेवकों द्वारा जरूरतमंदों तक पहुंचाई जाएगी। खाद्यान्न पैकेट में दैनिक उपभोग की वस्तुओं के साथ ही साबुन, माचिस, मास्क व सैनिटाइजर जैसी आवश्यक वस्तुएं रखी गई है। संस्था के ऑर्गेनाइजिंग डायरेक्टर संजय बिष्ट ने बताया कि संस्था द्वारा पहले कुछ ग्रामीण क्षेत्रों का सर्वे किया गया है और इसी के आधार पर ऐसे स्थानों पर खाद्यान्न पहुंचाया जा रहा है जहां या तो अब तक पर्याप्त मात्रा में प्रभावित लोगों को खाद्यान्न नहीं पहुंचा या अब तक ऐसे क्षेत्र सहायता से अछूते पड़े हुए हैं। उन्होंने बताया कि कुछ स्थानों पर संस्था द्वारा ऐसे पैकेट भी बनाए गए हैं जिनमें महिलाओं को उनकी नियमित स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों की वस्तुएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं। 

संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर यशवंत रावत के अनुसार संस्था फिलहाल 6 जिलों में कार्य कर रही है जहां उनकी संस्था द्वारा वाटर शेड, डेरी वर्क एवं अन्य रोजगार उन्मुख प्रोजेक्ट को संचालित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि संस्था 21000 लाभार्थियों के साथ जुड़ी हुई है जहां से इन लाभार्थियों को आजीविका संबंधी प्रशिक्षण एवं रोजगार के अवसर भी उपलब्ध कराए जा रहे है। राहत सामग्री वितरण कार्य का प्रबंधन देख रहे प्रबंधक वित्त एवं प्रशासन अतुल जैन ने बताया की सर्वप्रथम पहली खेत में लाखामंडल एवं चमोली वह देहरादून के कोविड-19 अस्पतालों में जरूरतमंदों को भी यह राशन किट उपलब्ध कराई जाएगी। श्री जैन ने बताया कि यह संपूर्ण सामग्री संस्था द्वारा अपनी वित्तीय व्यवस्था से उपलब्ध कराई जा रही है एवं आगे भी परिस्थिति के अनुसार जरूरतमंदों को खाद्यान्न किट उपलब्ध कराया जाएगा।in

नहीं रही केदार नृत्य की प्रख्यात लोक नृत्यांगना गजुला देवी-देखिए VIDEO में गजुला देवी का नृत्य


फोटो - 1956 जवाहरलाल नेहरू के साथ दिल्ली में ।


      टिहरी- केदार नृत्य की प्रख्यात लोक नृत्यांगना गजुला देवी का आज प्रातः टिहरी गढ़वाल के ढुंग, बजियाल गांव (अखोड़ी) में निधन हो गया।



       गजुला देवी उस टीम की अंतिम जीवित नृत्यांगना सदस्य थी, जिसने 1956 और फिर 1960 के दशक में भी दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड के अवसर पर केदार नृत्य की प्रस्तुति दी थी। तब टिहरी गढ़वाल की यह टीम उत्तराखंड के गांधी इंद्रमणि बडोनी के निर्देशन में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व करने गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल हुई थी, जिसमें उनके पति भी शामिल थे। गजुला देवी तब मात्र 18 या 19 साल की थी।

        गजुला देवी के पति शिवजनी टिहरी गढ़वाल ही नहीं बल्कि उत्तराखंड के श्रेष्ठ और पारंगत ढोल वादक और लोक गायक हैं। पति पत्नी कई दशकों से गांव की छानियों में जीवन यापन करते रहे। पीछे पुत्र, पुत्रियां नाती, पोतों से भरा पूरा परिवार, गांव और अन्य जगहों पर अपनी रोजी-रोटी के संघर्ष में लगे रहे। 

       पिछले साल नई टिहरी में केदार नृत्य कार्यशाला शुरू की थी, जिसमें पति पत्नी दोनों नई टिहरी आते रहे लेकिन कोरोना के चलते कार्यशाला रोकनी पड़ी थी। तब वह पूरी तरह से स्वस्थ थी। तीन चार दिन से उनका स्वास्थ्य कुछ खराब हुआ और फ़िर आज रात अनन्त यात्रा पर चल दी 

      

      

 जनपद रूद्रप्रयाग के जखोली ब्लॉक की बड़मा पट्टी में ऐसा मचाया बारिश और ओलावृष्टि ने तांडव-देखिएVIDO




रिपोर्ट कुलदीप राणा आजाद/ रूद्रप्रयाग 

जखोली :  रुद्रप्रयाग जनपद के  बड़मा पट्टी में भारी अतिवृष्टि व ओलावृष्टि के कारण तबाही मची है दोपहर बाद हुई बारिश के कारण बड्मा पट्टी के धरियांज और किरोड़ा गांव में गाड गधेरे उफान पर आ गए जिसने दोनों गांव की सिंचित खेती को पूरी तरह से तबाह कर दिया है वहीं किरोडा गांव में तुफान से एक आवासीय घर की छत उड़ गई है।



 जबकि गुप्तकाशी-मयाली मोटर मार्ग भी जगह-जगह अवरुद्ध हो गया है जिससे यहां यातायात ठप हो गया है। अतिवृष्टि के कारण यहां जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। हालांकि अभी जनहानि की कोई सूचना नहीं है लेकिन क्षेत्र के अन्य गांव में भी अतिवृष्टि व ओलावृष्टि के कारण खेतों को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा है। अभी तक मौके पर प्रशासन की तरफ से कोई भी टीम नहीं पहुंच पाई है। यूकेडी के नेता मोहित डिमरी ने मौके पर पहुंचकर आपदा ग्रस्त क्षेत्र का जायजा लिया है उन्होंने कहा है गांव में व्यापक पैमाने पर खेती को नुकसान हुआ है जिसमें ग्रामीणों की धान सहित सब्जियों की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। उन्होंने कहा प्रशासन को इन गांव का जल्दी मौका महीना कर सड़क को बहाल करना चाहिए और लोगों को हुए नुकसान की भरपाई की जानी चाहिए।




शासन के संज्ञान में आया है कि सोशल मिडिया पर यह भ्रामक सूचना प्रसारित की जा रही है कि कोविड-19 से मृत्यु होने पर मृतक आश्रित को रू० 4.00 लाख की सहायता उपलब्ध करायी जायेगी।




उक्त के सम्बन्ध में प्रसारित आवेदन पत्र में एम०एच०ए० पत्र संख्या 32-7 / 2014 एन०डी०एम०-1, दिनांक 08.04.2015 का भी उल्लेख किया गया है। प्रश्नगत पत्र के सम्बन्ध में अवगत कराना है कि “वित्तीय वर्ष 2015-20 तक की अवधि के लिये राज्य आपदा मोचन निधि (State Disaster Response Fund: SDRF) एवं राष्ट्रीय आपदा अनुकिया कोष (National Disaster Response Fund NDRF) से सहायता हेतु मदों एवं मानकों का पुनर्निधारण" किया गया है, जिसके अन्तर्गत कोविड-19 महामारी आच्छादित नहीं है।


भारत सरकार, गृह मंत्रालय, राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्रभाग, नई दिल्ली द्वारा कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के सम्बन्ध में अपने पत्र संख्या-33-04/2020- एन०डी० एम०-1, दिनांक 15.04.2021 में "Item and norms of assistance under State Disaster Response Fund (SDRF) for containment measures of COVID-19” में 1. Measures for quarpatine, sample collection and screening: तथा 2 2. Procurement of essential equipments/labs for response of COVID-19 मानकों का निर्धारण किया गया है, जिसके अन्तर्गत कोविड-19 संक्रमण से मानव हानि होने पर राहत राशि प्रदान किये जाने उल्लेख नहीं किया गया है।


अतः सोशल मिडिया पर प्रसारित हो रहे राज्य आपदा मोचक निधि ( SDRF ) / राष्ट्रीय आपदा मोचक निधि ( NDRF) के अंतर्गत सहायता हेतु कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत मृत्यु होने पर मुआवजा दिये जाने सम्बन्धी आवेदन पत्र आपदा प्रबन्धन विभाग द्वारा निर्गत नहीं किया गया है। उक्त संदेश का आपदा प्रबन्धन विभाग खण्डन करता है।

(कोरोना कर्फयू की नई गाइडलाइन देखिए पूरी जानकारी)



पूर्व में राज्य सरकार द्वारा राज्यभर में बढ़ते हुए कोविड-19 के संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण के दृष्टिगत कोविड कर्फ्यू के आदेश संख्या 131 /USDMA/792(2020). जोकि दिनांक 24 मई, 2021 को जारी की गयी थी। इस COVID Curfew की अवधि को राज्य में गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी आदेश संख्या 40-3 / 2020 DM-1(A) दिनांक 27 मई, 2021 के प्राविधानों का संज्ञान लेते हुए अग्रिम 07 दिवस के लिए निम्नलिखित दिशा-निर्देशों के साथ बढ़ाया जा रहा है :
1. राज्य में दिनांक 01.06.2021 प्रातः 06:00 बजे से दिनांक 08.06.2021 प्रातः 06:00 तक COVID Curfew प्रभावी रहेगा।
2. COVID Curfew के मध्य COVID Vaccination का कार्यक्रम राज्य में जारी रहेगा 2 तथा Vaccination हेतु निकटवर्ती COVID Vaccination Centre तक (1© & 2nd Dose हेतु) आवागमन हेतु Vaccination रजिस्ट्रेशन / Messages / Other proof दिखाने पर व्यक्तियों को निजी वाहन, टैक्सी, ऑटो रिक्शा में जाने हेतु छूट दी जायेगी।
3. COVID 19 के संक्रमण को देखते हुए COVID Curfew अवधि में यथासंभव विवाह समारोह आयोजित न करने की सलाह दी जाती है। यदि विवाह समारोह को स्थगित किया जाना संभव न हो तो अधिकतम 20 लोगों को RT-PCR Negative Test Report (अधिकतम 72 घंटे पूर्व) के साथ सम्मिलित होने की अनुमति जिला प्रशासन द्वारा प्रदान की जायेगी।
4. शवयात्रा में अधिकतम 20 लोग ही सम्मिलित हो सकते हैं।
5. समस्त शैक्षिक प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान, आदि अग्रिम आदेश तक बंद रहेगें। ऑनलाइन / डिस्टेंस लर्निंग की अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित किया जाएगा। हालांकि, MBBS (4th & 5th year), BDS (4th year ). Nursing classes
संख्या 15/USDMA/792220)
(3 Year) only will continue. राज्य / राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय निकायों द्वारा परीक्षाओं के संचालन की अनुमति संबंधित विभागों द्वारा Case to Case के आधार पर सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों के द्वारा सूचना दी जाएगी।
6. समस्त सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, व्यापारिक प्रतिष्ठान, बाजार, जिम, खेल संस्थान, स्टेडियम, खेल के मैदान, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थियेटर, ऑडोटोरियम, आदि स्थान व इनसे सम्बन्धित गतिविधियाँ अग्रिम आदेश तक बंद रहेगें।
7. समस्त सामाजिक राजनीतिक खेल गतिविधियां / मनोरंजन / शैक्षिक / सांस्कृतिक समारोह /
other gatherings and large congregation अग्रिम आदेश तक बंद रहेगें।
8. मंदिरा की दुकान एवं बार अग्रिम आदेश तक बंद रहेगें।
9. बाहरी राज्यों से उत्तराखंड राज्य में आने वाले सभी व्यक्तियों को अधिकतम 72 घंटे पूर्व की RT PCR Negative Test Report के साथ ही राज्य में प्रवेश की अनुमति प्रदान की जायेगी।
10. बाहरी राज्यों से उत्तराखंड राज्य में आने वाले सभी व्यक्तियों को अनिवार्य रूप से Smart City के Web Portal 'http://smartcitydehradun.uk.gov.in पर पंजीकरण किया जाना होगा एवं सभी व्यक्तियों द्वारा राज्य में प्रवेश के उपरान्त MHA, MoH&FW GOI and State Government द्वारा जारी SOPs का अनुपालन किया जाना होगा।
11. बाहरी राज्यों से उत्तराखंड राज्य में अपने पैत्रिक गांव वापस आ रहे प्रवासियों द्वारा COVID-19 के संक्रमण के रोकथाम हेतु विगत वर्ष की भांति ग्राम पंचायत / ग्राम प्रधान की निगरानी में गांव में स्थापित Village quarantine facility में अनिवार्य रूप से 7 दिवसों तक isolation में रहेगें उक्त isolation पूर्ण होने के उपरान्त COVID-19 के लक्षण परिलक्षित न होने पर अपने घर में जा सकते है। उपरोक्त Village quarantine facility संचालन पर (पेयजल व्यवस्था, साफ सफाई, विद्युत व्यवस्था, बिस्तर आदि) आने वाले व्यय का भुगतान ग्राम पंचायत को State Finance Commission से प्राप्त निधि से वहन किया जायेगा तथा इसके अतिरिक्त आवश्यकता होने पर जिलाधिकारी द्वारा राज्य आपदा मोचन निधि (State Disaster Response Fund) एवं CMRF से village quarantine facility में होने वाले व्यय ग्राम पंचायत को प्रदान किया जायेगा।
12. विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी जिला प्रशासन द्वारा आवश्यकतानुसार Quarantine
centers का संचालन जिला स्तर पर किया जायेगा तथा उपरोक्त पर आने वाले व्यय का भुगतान State Disaster Response Fund के COVID-19 Management के मानक अनुसार एवं CMRF से वहन किया जायेगा।
13.COVID curfew अवधि में नगर निकाय द्वारा समस्त सार्वजनिक स्थलों यथा आवासीय क्षेत्रों, बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन मार्केटस एवं मण्डी आदि भीड़ भाड़ वाले स्थानों को निरन्तर sanitize करवाना सुनिश्चित करेगें।
14.COVID curfew अवधि में निम्नवत सेवाओं से जुड़े व्यक्तियों, दुकानों कार्यालयों को
ii. राज्य स्तर पर बिजली का उत्पादन, पारेषण और वितरण ।
iii. डाकघरों सहित डाक सेवाएं।
iv. राज्य में नगरपालिका / स्थानीय निकाय स्तरों पर जल, स्वच्छता और अपशिष्ट प्रबंधन क्षेत्रों का संचालन
V. टेलीकॉम टावरों के रख रखाव और प्रीपेड मोबाइल कनेक्शन के लिए रिचार्ज सुविधाओं सहित दूरसंचार, डीटीएच और इंटरनेट सेवाएं प्रदाता आदि जनसुविधाओं हेतु कर्मचारियों एवं वाहनों का आवागमन
vi. COVID curfew सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करते हुए इलेक्ट्रिशियन / प्लम्बर को अपने व्ययावसायिक कार्यों हेतु आवागमन में छूट रहेगी।
14.D. वाणिज्यिक और निजी प्रतिष्ठान, जैसा कि नीचे सूचीबद्ध है
i COVID Curfew के दौरान सार्वजनिक वितरण प्रणाली के खाद्यान्न वितरण को सरल बनाने के लिए राज्य के समस्त PDS-Ration के सस्ते गल्ले की दुकानें दिनांक 01 जून 2021 से 08 जून, 2021 तक प्रातः 08:00 बजे से सुबह 11.00 बजे तक खुली रहेंगी।
राशन की दुकानें, किराने के समान की दुकाने एवं General Stores दिनांक 01 जून, 2021 एवं 05 जून, 2021 को प्रातः 8.00 बजे से अपरान्ह 01:00 बजे तक खुली रहेंगी।
iii Stationery एवं किताबों की दुकानें दिनांक 01 जून, 2021 एवं 05 जून 2021
को प्रातः 8.00 बजे से अपरान्ह 01:00 बजे तक खुली रहेंगी।
iv. सभी मालवाहक वाहनों (लदे हुए अथवा खाली) को राज्य और अंतरराज्यीय आवागमन के साथ सामग्री के परिवहन की अनुमति है।
V. फल, सब्जी, डेयरी और दूध Backery Manufacturing, माँस, चिकन और मछली की बिक्री, उनके परिवहन, वेयर हाउसिंग और संबंधित गतिविधियाँ दैनिक आधार पर प्रातः 08:00 से प्रातः 11:00 बजे तक खुली रहेंगी। यह प्रतिष्ठान सभी COVID 19 सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करेंगे।
vi. आम जनता को फल और सब्जियों आदि की सीधी खरीद के लिए मंडी परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी।
vii. जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय विक्रेताओं के माध्यम से फलों और सब्जियों, डेयरी और दूध, माँस आदि की होम डिलीवरी को प्रोत्साहित किया जायेगा तथा इस हेतु आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध करायी जायेंगी ।
viii. होटल, रेस्तरां, भोजनालयों और ढाबों को केवल खाद्य पदार्थों की Takeaway / होम डिलीवरी के लिए रसोई संचालित करने की अनुमति होगी। होटल, ढाबे, रेस्तरां में बैठकर भोजन करना पूरी तरह से निषिद्ध रहेगा। होटल, ढाबे, रेस्तरा और भोजनालय होम डिलीवरी हेतु वाहनों का उपयोग कर
संख्या 150/USDMA/792(2020)
सकते हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अन्य मार्गों में चलने वाले मालवाहक एवं अन्य वाहनों के चालकों / यात्रियों की सुविधा हेतु भोजन को पैकिंग कर दिये जाने की अनुमति होगी।
ix. COVID 19 सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पशु चारा, बीज, उर्वरक और कीटनाशक से संबंधित प्रतिष्ठान तथा उनके परिवहन, वेयर हाउसिंग एवं अन्य संबंधित गतिविधियां दैनिक आधार पर प्रातः 08:00 से सुबह 11:00 बजे तक खुले रहेंगे।
x. ई कॉमर्स प्लेटफॉर्म के अन्तर्गत अमेजन, फ्लिपकार्ट, ब्लू डार्ट, DIDC, Myntra आदि द्वारा सभी सेवाओं की ऑनलाइन डिलीवरी / होम डिलीवरी की अनुमति है। राज्य के किसी भी स्थान पर चेकिंग के दौरान उन सेवादाता कम्पनियों के कर्मचारियों को अपने प्रतिष्ठानों से जारी किये गये वैध परिचय पत्र को दिखाना अनिवार्य होगा।
xi. खाद्य और किराने की वस्तुओं के फुटकर विक्रेताओं को भी होम डिलीवरी सेवाएं प्रदान करने की अनुमति होगी।
xii. प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया
xiii. दूरसंचार इंटरनेट सेवाएं प्रसारण और केबल सेवाएं / डीटीएच और ऑप्टिकल फाइबर
xiv. पेट्रोल पंप एलपीजी पेट्रोलियम और गैस खुदरा और भंडारण आउटलेट . बिजली उत्पादन, पारेषण और वितरण इकाइयाँ और सेवाएँ।
XV.
xvi. कोल्ड स्टोरेज और वेयरहाउसिंग सेवाएं।
xvii. कार्यालय और आवासीय परिसरों के रख-रखाव के लिए निजी सुरक्षा सेवाएं और सुविधाएं प्रबंधन सेवाएं
xviii. क्वारंटाइन सुविधाओं के उपयोग हेतु चिह्नित किए गए प्रतिष्ठान
xix. निर्माण उपकरण और आपूर्ति जैसे सीमेंट, सरिया, चिप्स आदि की दुकानें (प्रातः 8:00 बजे से प्रातः 11:00 बजे तक)।
XX. ऑटो मोबाइल मरम्मत की दुकानें
xxi. आटो मोबाइल Accessories की दुकानें दिनांक 05 जून 2021 को प्रातः 8:00 बजे से अपरान्ह 01:00 बजे तक खुले रहेंगे।
xxii. उपर्युक्त सभी सेवाओं में शामिल कर्मचारियों को बिना किसी प्रतिबंध के वैध आईडी कार्ड के साथ अपने प्रतिष्ठानों में आने जाने की अनुमति होगी।
14. E. परिवहन:
i. Inter-State movement of public transport shall continue with occupancy restricted at 50% and subject to SOPs issued by State Transport Department, Passengers travelling to the State by air,
15/USDMA/79
bus, railways and private vehicles/ taxi shall register on Smart City e-pass web portal (http://smartcitydehradun.uk.gov.in) of Uttarakhand Government prior to commencement of their journey, बाहरी राज्यों से उत्तराखंड राज्य में आने वाले सभी व्यक्तियों (बस और टैक्सी के ड्राईवर, कन्डक्टर और हैल्पर) को अधिकतम 72 घंटे पूर्व की RT-PCR Negative Test Report के साथ ही राज्य में प्रवेश की अनुमति प्रदान की जायेगी।
ii. सार्वजनिक परिवहन का अंतरराज्यीय आवागमन 50 प्रतिशत के प्रतिबंधित और राज्य परिवहन विभाग द्वारा जारी एसओपी के अधीन जारी रहेगा।
iii. राज्य के निवासी जो गढ़वाल से कुमाऊँ एवं कुमाँऊ से गढ़वाल यूपी के बार्डर के माध्यम से यात्रा करेंगे (अन्तर्राज्यीय) उन्हें कोविड परीक्षण के प्रमाण पत्र (RTPR/RAT) की आवश्यकता नहीं होगी परन्तु उन यात्रियों को राज्य सरकार Smart City के e-pass web portal (http://smartcitydehradun.uk.gov.in) पर पंजीकरण करवाना अनिवार्य होगा।
iv. जिला देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी गढ़वाल, नैनीताल एवं उधम सिंह नगर के मैदानी क्षेत्रों से पर्वतीय क्षेत्रों में जाने वाले समस्त यात्रियों हेतु RT-PCR अथवा RAT नेगेटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य होगा। जिला प्रशासन द्वारा जिला बॉर्डर चैक पोस्ट पर इसका कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा।
जनपद हरिद्वार में अस्थि विसर्जन हेतु बाहरी राज्यों से निजी वाहन, शासकीय वाहनों में वाहनों की क्षमता के 50 प्रतिशत की शर्त का अनुपालन करते हुए मात्र 4 व्यक्तियों को COVID Protocal के साथ अनिवार्य रूप से Smart City के Web Portal http://smartcitydehradun.uk.gov.in पर पंजीकरण एवं 72 घंटे पूर्व की RT PCR Negative Test Report की अनिवार्यता के साथ ही राज्य में प्रवेश की अनुमति प्रदान की जायेगी।
vi. . सभी मालवाहक वाहनों (लदे हुए अथवा खाली) को राज्य और अंतर्राज्यीय आवागमन के साथ सामग्री के परिवहन तथा लोड करने / उतारने की अनुमति vii. सभी माल वाहक वाहनों को सामग्री लोड या अनलोड करने की अनुमति होगी
एवं समस्त होलसेलर / रिटलेर दुकानों के गोदामों में सामान की लोड
करने / उतारने की दैनिक रूप से अनुमति है।
VILL. अधिकारियों / कर्मचारियों को अपने संगठनों / संस्थानों द्वारा जारी किए गए वैध आईडी कार्ड के साथ कार्यस्थल पर आने और वापस जाने हेतु निर्गत दिशा-निर्देशों के अन्तर्गत अनुमति है।
ix. रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों से एयरपोर्ट बसों / टैक्सियों / ऑटो रिक्शा आदि यात्री वाहनों को वैध यात्रा दस्तावेज / टिकट प्रदर्शित करने पर ही आवागमन की अनुमति दी जाएगी।
15/USDMA/7922020) [10][संक्रमण के नियंत्रण [OVIDm के सम्ब
x. ऑटो और टैक्सी को केवल आपातकालीन उद्देश्य हेतु यात्रा की अनुमति है।
xi. आपातकालीन आवश्यकता वाले बीमार व्यक्तियों एवं उनके परिजनों को आवागमन की अनुमति अस्पताल / चिकित्सक की पर्ची (Medical prescription) दिखाने पर होगी।
xii. COVID-Curfew अवधि के दौरान किसी व्यक्ति को राज्य के अंतर्गत अति आवश्यक कार्य (यथा - Medical Emergency / परिजन की मृत्यु) हेतु आवागमन से संबंधित जिला प्रशासन को प्राप्त आवेदन पर वर्णित स्थिति का सत्यापन उपरांत जिला प्रशासन द्वारा राज्य के अंदर आवाजाही के लिए अनिवार्य रूप से अनुमति प्रदान की जायेगी, जिसके लिए राज्य सरकार के Smart City के e-pass web portal (http://smartcitydehradun.uk.gov.in) पर आवेदन करना होगा।
xiii. टीकाकरण और परीक्षण के उद्देश्य के लिए 18-45 वर्ष आयु वर्ग के व्यक्तियों को वैध परिचय पत्र या पंजीकरण प्रमाण के साथ अनुमति होगी।
xiv. प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सदस्यों को वैध आईडी कार्ड के साथ SOPS और COVID प्रोटोकॉल के अनुसार वाहनों में जाने की अनुमति होगी।
XV. . आवश्यक सेवाओं, आपातकालीन और COVID-19 प्रबंधन में शामिल सरकार / स्थानीय निकायों या अधिकृत संगठन के सभी वाहनों को चलने की अनुमति होगी।
xvi. सामग्री के आवागमन हेतु राज्य एवं अंतर्राज्यीय आयात निर्यात आवागमन की
अनुमति है।
xvii. सभी चिकित्सा कर्मियों, नर्सों, पैरामेडिकल स्टाफ और अन्य अस्पताल सहायता सेवाओं के लिए परिवहन की अनुमति है।
xviii. COVID व्यवहार के नियम और प्रोटोकॉल के साथ 50% की सीमा के
अधीन निजी वाहनों को वैध आईडी के साथ आकस्मिक कारणों के लिए अनुमति दी जाएगी। 14.F. समस्त कृषि, उद्यान, पशुपालन एवं संबंधित गतिविधियां पूरी तरह से निम्नानुसार संचालित रहेगी :
i. किसानों और खेत श्रमिकों द्वारा कृषि कार्य: बुवाई, नर्सरी की तैयारी, भूमि की तैयारी, सिंचाई, रोपण, क टाई, थ्रेशिंग, प्रसंस्करण (Processing) और पैकिंग आदि ।
ii. कृषि / बागवानी / फ्लोरिकल्चर से संबंधित अन्य गतिविधियाँ जैसे खरीद,
वित्तरण, पैकेजिंग, वेयरहाउस मंडियां, कोल्ड स्टोरेज, कृषि मशीनरी और
उसके स्पेयर पार्ट्स, उर्वरक, कीटनाशक आदि से सम्बंधित दुकानें
iii. दुग्ध प्रसंस्करण (Processing) संयंत्रों द्वारा परिवहन और आपूर्ति श्रृंखला सहित दूध और दुग्ध उत्पादों का संग्रह प्रसंस्करण, वितरण और बिक्री
150/USOMA/79212020)
iv. पोल्ट्री फार्म, मत्स्य पालन और हैचरी सहित पशुपालन फार्मों के संचालन संबंधी गतिविधियां
14.G. सरकारी और निजी उद्योग / औद्योगिक प्रतिष्ठानों के संचालन के संबंध में
i. All Industries in both urban and rural areas shall operate with strict adherence to SOps and Covid-19 safety protocol. यथासंभव उद्योगों में कार्यरत श्रमिकों / कर्मचारियों को उनके घर से कार्यस्थल तक लाने एवं घर छोड़ने हेतु वाहन की व्यवस्था उद्योग प्रबंधन द्वारा की जायेगी या उद्योग मैनेजमेन्ट द्वारा श्रामिकों / कर्मचारियों को उद्योगों के परिसर में ही रहने का प्रबन्धन किया जायेगा।
जिला प्रशासन इस बात की निगरानी करेगा कि उद्योगों द्वारा उनके संचालन में SOP का सख्ती से पालन किया जा रहा है एवं औद्योगिक इकाई / कॉर्पोरेट के प्रमुख इस संबंध में जिला प्रशासन को नियमित रूप से अवगत कराएंगे।
14.H. सरकारी और निजी क्षेत्रों में निर्माण गतिविधियों की अनुमति होगी :
i. सभी निर्माण गतिविधियों तथा उनमे कार्यरत वाहन / मजदूरों की आवाजाही को स्थानीय पुलिस प्रशासन द्वारा सहयोग प्रदान किया जायेगा ।
ii. निर्माण कार्य में कार्यरत श्रमिकों / कर्मचारियों को उनके घर से कार्यस्थल तक लाने एवं घर छोड़ने हेतु वाहन की व्यवस्था सम्बन्धित ठेकेदार द्वारा की जायेगी या ठेकेदार द्वारा निमार्ण कार्य में कार्यरत श्रमिकों / कर्मचारियों को निर्माण परिसर में ही रहने का प्रबन्ध किया जायेगा।
iii. राजकीय व निजी निर्माण स्थलों में कार्यरत कार्मिकों / मजदूरों की आवाजाही हेतु जारी किए गए मानक संचालन प्रक्रिया एवं COVID-19 के प्रोटोकॉल का पालन किया जायेगा।
14.1. Offices of the Government of India, its Autonomous/ Subordinate Offices will remain open, as mentioned below:
i. रक्षा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, आपदा प्रबंधन और प्रारंभिक चेतावनी एजेंसियां (IMD, SASE और CWC), भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, रेलवे, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC). भारतीय खाद्य निगम (FCI). एनसीसी और नेहरू युवा केंद्र (NYK) Passport Office और किसी भी अन्य आवश्यक सेवाओं में तथा COVID-19 के प्रबंधन में लगे केंद्र सरकार के कार्यालय न्यूनतम कार्मिक की सीमा के साथ खुले रहेंगे तथा शेष कार्मिकों को घर से काम करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।
15/USDMA/7922020) कोड-19 के
14.J. Offices of the State Government their Autonomous Bodies and Local Governments will remain open as mentioned below:
i. पुलिस, होमगार्डस / पीआरडी सिविल डिफेंस, फायर एंड इमरजेंसी सर्विसेज, उपनल, डिजास्टर मैनेजमेंट कारागार म्युनिसिपल सर्विसेज के साथ-साथ आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्यालय खुले रहेंगे और बिना किसी प्रतिबंध के कार्य करेंगे।
ii. वन कार्यालयः चिड़ियाघर के संचालन और रख-रखाव, नर्सरी, वन्यजीव, वनाग्नि, वनीकरण क्षेत्रों में सिंचाई, वृक्षारोपण आदि तदसम्बन्धित आवश्यक गतिविधियों के लिए आवश्यक कर्मचारी / श्रमिक तथा इससे सम्बन्धित आवागमन व परिवहन वृक्षारोपण और सिल्विकल्चर संबंधित गतिविधियाँ |
iii. विधानसभा सचिवालय, आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले सभी निदेशालय, कमिश्नरी कलेक्ट्रेट और जिला कोषागार खुले रहेंगे सामान्य प्रशासन विभाग, उत्तराखंड सरकार के आदेश से 329/ XXX i (15)जी/ 2020-04 (सा) / 2021 दिनांक 28 अप्रैल, 2021 कार्यालय खोलने और विशेष श्रेणी के कर्मचारियों को दी गई छूट के बारे में राज्य सरकार के साथ-साथ उत्तराखण्ड में संचालित केंद्र सरकार के विभागों में भी सख्ती से पालन किया जाना है।
iv. सभी कर्मचारी जिन्हें राज्य सरकार / प्राधिकरण / जिला प्रशासन द्वारा COVID-19 ड्यूटी दी जाती है, वे COVID संबंधित ड्यूटी के लिए रिपोर्ट करेंगे।
उपरोक्त के अतिरिक्त जिलाधिकारी आवश्यकतानुसार किसी भी विभाग के कर्मचारियों / अधिकारियों को कोविड ड्यूटी में लगा सकते हैं तथा किसी भी विभाग के कार्यालय को खुलवा सकते हैं।
14.K. Offices of the Private/ Civil Society Sector:
i. निजी / कॉर्पोरेट और सिविल सोसाइटी क्षेत्र में कार्यालय बंद रहेंगे और ऐसे कार्यालय अपने कर्मचारियों के लिए घर से काम करने को प्रोत्साहित करेंगे।
14.L. General Directives for COVID-19 Management: पूरे राज्य में COVID-19 प्रबंधन के निम्नलिखित निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जायेगा :
i. सार्वजनिक स्थानों, कार्यस्थल एवं सार्वजनिक परिवहन में यात्रा करने वाले व्यक्तियों को फेस कवर / मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
ii. सार्वजनिक स्थानों पर व्यक्तियों को सामाजिक दूरी का पालन करते हुए 6 फिट की दूरी बनाए रखना अनिवार्य होगा। सार्वजनिक स्थानों पर थूकना गैरकानूनी होगा जिसके लिए निर्धारित जुर्माने के
साथ दंड का प्रावधान होगा।
15/USDMA/7922020) कोविद 19 के संक्रमण के
iv. सार्वजनिक स्थानों पर पान, गुटखा, तंबाकू आदि का सेवन प्रतिबंधित होगा।
14.M. कमजोर व संवेदनशील व्यक्तियों की सुरक्षा: निम्नलिखित श्रेणी के व्यक्तियों को आवश्यक और स्वास्थ्य संबंधी कारणों से ही घर से बाहर जाने की अनुमति है:
i. 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति
ii. Persons with co-morbiditics.
iv. गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाएं।
V. 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे
14.N. दंड के प्रावधान:
i. COVID-Curfew का उल्लंघन करने वाले किसी व्यक्ति के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 (Section 51 to 60), महामारी अधिनियम 1897 एवं IPC की धारा 188 प्रावधानों के अंतर्गत कानूनी कार्यवाही की जायेगी।
अतः उपर्युक्त दिशा-निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने हेतु
आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें।
उक्त आदेश अग्रिम आदेशों तक प्रभावी रहेंगे।

  2022 की अपनी ही राह में रोड़ा अटकाती कांग्रेस ! लगातार कांग्रेस में बढ़ रहा है मन मिटाव

(कुलदीप सिंह बिष्ट, पौड़ी)




पौड़ी-पौड़ी जिले से महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष और पूर्व में प्रदेश उपाध्यक्ष कांग्रेस का जिम्मा सम्भाल रही कमला रावत को पार्टी हाईकमान ने बढ़ा झटका देते हुए महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष पौडी पद से निष्कासित कर डाला है जिसका जिम्मेदार कमला रावत ने कांग्रेस के दो नामी व्यक्तियों एआई सीसी सदस्य राजपाल बिष्ट और पीसीसी सदस्य और कांग्रेस नेता नवल किशोर को बताया है कमला रावत का कहना है कि वे बड़ी ही निष्ठा के साथ अपने दायित्वो को निभा कर पार्टी हित में समर्पित होकर कार्य कर रही थी लेकिन उनके कार्यो को आकने के बजाय उन्हें पद से हटा दिया गया जिसकी जानकारी कमला रावत को महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य ने फोन पर वार्ता कर दी वहीं कमला रावत ने कहा कि 2022 के चुनाव की राह अब कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती पेश करेंगी जब 2022 का चुनाव नजदीक है क्यूंकि अपने कार्यकाल में वे कई महिलाओ को एकजुट कर पार्टी का जनाधार बढ़ा रही थी वहीं इस निष्काशन से कांग्रेस की प्रदेश सचिव सरिता नेगी ने भी कमला रावत का पक्ष सुनते हुए बताया कि कमला रावत पूर्ण निष्ठा के साथ अपने दायित्वो को बढ़ा रही थी इस निष्काशन से उन्हें भी ठेश पहुंची है सरिता नेगी ने बताया कि   नामचिन कांग्रेसी कांग्रेस में फूट डालने का कार्य कर रहे हैं जिससे 2022 का रण अब कांग्रेसियों के लिए भारी पड़ सकता है वहीँ कमला रावत को हटाने के बाद कमला रावत ने पार्टी हाई कमान से उन्हें पदमुक्त करने का कारण पूछा है वहीँ इस पूरे प्रकरण  बीजेपी के जिला महामंत्री पौड़ी ने चुटकी लेते हए कहा कि जिस तरह से कांग्रेस में विवाद बढ़ रहे हैं इससे उनके लिए 2022 का रण अब और आसान होने लगा है जिस पर कांग्रेस को पार्टी कहा जाना भी अब मंथन करने लायक है।


 देहरादून

बिग ब्रेकिंग-उत्तराखंड में इतने दिनों और बढ़ा कोरोना कर्फयू-इन चीजों में मिली राहत-इतने बजे तक खुलेंगी दुकानें


देहरादून-आज की सबसे बड़ी खबर एक हफ्ता और बढ़ा कोरोना कर्फ्यू अब हफ्ते में दो दिन दुकानें खुलेंगी आज हुए फैसले के अनुसार 1 जून और  5 जून को परचून की दुकानें खोली जाएगी 8 बजे से 1 बजे तक खुलेगी दुकानें 1 तारीख को स्टेशनरी और किताबो की दुकान खुलेगी बाकी सब यथावत रहेगी


 थराली मोहन गिरी

लॉकडाउन में गांव तक सड़क पहुंचाने का कार्य कर रहे युवा


                      (Video)

चमोली-थराली नगर पंचायत क्षेत्र के देवराड़ा नगर वार्ड में झुडकधार के युवाओ ने पैदल रास्ते को सड़क में तब्दील करने का मन क्या बनाया कि लॉकडाउन के चलते घर आये युवाओें ने भी हाथ मे फावड़े और गैंती पकड़कर मुख्य राजमार्ग से सड़क बनाने का काम शुरू कर डाला ये युवा श्रमदान करके गांव तक सड़क पहुंचाने के साथ ही कोरोना कर्फ्यू का सदुपयोग कर रहे हैं

सड़क निर्माण में जुटे युवाओ ने अब तक 40 से 50 मीटर सड़क खोद भी डाली है 

इन युवाओं ने बताया कि उनके गांव की दूरी मुख्य राष्ट्रीय राजमार्ग से लगभग 500 मीटर है ऐसे में इन ग्रामीणों को सड़क पर ही अपने निजी वाहनों को पार्क करना पड़ता है,निर्माण कार्यो के लिए भी यहां के ग्रामीणों को सामग्री सड़क पर ही रखनी पड़ती है और इस सामग्री को गांव तक पहुंचाने में मजदूरी और मेहनत जो लगती है सो अलग इसी सोच के साथ ग्रामीणों ने अपने ही संसाधनों से गांव के करीब तक पैदल मार्ग को ही चौड़ा करके सड़क निर्माण का कार्य शुरु कर दिया ताकि जरूरत के समय पर छोटे मालवाहन गांव तक पहुंच सकें और ग्रामीणों को सड़क पर ही अपने वाहनों को पार्क करने की बजाय गांव के समीप पार्क करने की सहूलियत मिल सके 

युवाओं ने बिना किसी सरकारी मदद के गांव तक जो सड़क पहुंचाने का बीड़ा उठाया है उसमें ये युवा काफी हद तक सड़क निर्माण का कार्य कर चुके हैं ऐसे में युवाओ ने नगर पंचायत और अन्य कार्यदायी संस्थाओं से भी ये गुहार लगाई है कि कच्ची सड़क को पक्की सड़क में तब्दील करने के लिए नगर पंचायत या फिर अन्य सरकारी निर्माणदायी संस्थाएं टेंडर प्रक्रिया के तहत इस सड़क को पक्की करने में सहयोग करें ताकि ग्रामीणों को इस सड़क का लाभ मिल सके



 रामरतन सिंह पवांर/जखोली


भाजपा जिला संगठन ने जरूरत मंद लोगो को बाँटे मेडिकल सामग्री व राशन किट 

ब्लड डोनेशन का भी चलाया गया कार्यक्रम।



 रूद्रप्रयाग-सेवा ही सगंठन कार्यक्रम के तहत भाजपा जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में  कार्यकर्ताओं ने  गांव गांव में जाकर  अभियान चलाया इस अभियान के तहत पार्टी कार्यकर्ताओं ने 

जरूरमंद लोगों को कोविड 19 मे उपयोग  आने वाली सामग्री  वितरित की गई वितरित की गई सामग्री मे मास्क  सैनेटाइजर

 , राशन, दवाईयां आदि जरूरत मंदो को दी गई

  साथ  भाजपा युवा मोर्चा ने जिले में   ब्लड डोनेशन कार्यक्रम का  भी  आयोजन किया ,

रुद्रप्रयाग भाजपा जिला अध्यक्ष दिनेश उनियाल के आह्वान पर  आज देश के  यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के 7 वर्ष (वर्तमान कार्यकाल के 2 वर्ष) पूर्ण होने पर जिले के सभी मंडलो के प्रत्येक बूथों के  गांव गांव में  सेवा ही संगठन के निमित्त सेवा कार्य किए गए ।जिला महामंत्री विक्रम कंडारी व उच्च पदस्थ कार्यकर्ताओं के साथ अगस्त्यमुनि ग्रामीण मंडल के अरखुण्ड बूथ के डालसिंग , बीरो ,बष्ठी आदि गांवो में मास्क , सेनिटाइजर एवं राहत सामग्री बांटी । वही रुद्रप्रयाग विधायक भरत चौधरी ने रुद्रप्रयाग नगर मंडल के अंतर्गत कंटेंटमेंट जोन ग्राम पंचायत  तुना एवं बौंठा के  गांव में जरूरमंद को राशन किट, मास्क  , सेनेट्राईजर , थर्मामीटर वितरण किये गये।  भाजपा संगठन के कोविड-19 जिला प्रभारी  चंडी प्रसाद भट्ट ने उखीमठ मंडल के कोरखी बूथ के कोरखी गाँव में तथा जिलामहामंत्री  अनूप सेमवाल ने अगस्त्यमुनि मंडल के अगस्त्यमुनि नगर एवं ग्रामीण मंडल के नाकोट रूमसी भोसाल बूथ  के नाकोट रूमसी भोसाल  गांव में  मास्क एवं सैनिटाइजर बांटे । 

भाजयुमो जिलाध्यक्ष  विकास की अध्यक्षता में  रुद्रप्रयाग विधायक भरत चौधरी की उपस्थिति में रुद्रप्रयाग जिला चिकित्सालय में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया । रक्तदान शिविर के दौरान युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं द्वारा ब्लड डोनेट किया गया। ब्लड डोनेट करने वालों को विधायक भरत सिंह चौधरी के हाथों प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। ब्लड डोनेट कार्यक्रम में  इस दौरान भाजपा जिला उपाध्यक्ष भूपेंद्र भण्डरी  नगर मंडल अध्यक्ष सुरेन्द्र रावत  , भाजयुमो जिला महामंत्री गौरव चौधरी , भाजयुमो जिला मीडिया प्रभारी आशीष कंडारी ,  लक्ष्मण कपरवान आदि भाजयुमो के जिला पदाधिकारी उपस्थित थे ।

 महिला जिलाध्यक्ष कुँवरी बर्त्वाल ने गुप्तकाशी बूथ के सेमी ,भेसारी , गुप्तकाशी बूथ पर मास्क एवं सेनिटाइजर वितरण किया । जनपद के अंतर्गत सभी मंडल अध्यक्षों ने अपने आपने मंडलों के अंतर्गत कार्य योजना के तहत वरिष्ठ पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ गांव गांव में मास्क एवं सैनिटाइज वितरण किया । सभी जिला पदाधिकारी  ,भाजपा समर्थित नगर पंचायत अध्यक्ष , जिला पंचायत सदस्य , क्षेत्र पंचायत सदस्य एवं मंडलों के पदाधिकारी , मोर्चो के जिला एवं मंडल पदाधिकारी तथा वरिष्ठ पदाधिकारी एवं  कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने क्षेत्रों के अंतर्गत पढ़ने वाले गांवो एवं वार्डो में  सेनिटाइजर एवं मास्क वितरण किया । सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की मन की बात भी सुनी। कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 के सभी नियमों का पालन किया गया ।

 देहरादून

बढेगा कोरोना कर्फ्यू या कल से होगा अनलॉक-आज होगा बड़ा फैसला



  • उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू में राहत मिलेगी या नहीं फैसला होगा आज
  •  राज्य में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को थामने के लिए लगाया गया कोविड कर्फ्यू के अभी कुछ और दिन लागू रहने के आसार


  •  राज्य सरकार कुछ रियायतें देने के साथ ही इसे आगे जारी रखने का ले सकती है फैसला


  • कोविड कर्फ्यू के सकारात्मक नतीजों को देखते हुए सरकार जारी रखने का ले सकती है फैसला


  •  आज मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के साथ बैठक में लिया जाएगा अंतिम निर्णय

 लॉकडाउन  में बजीरा के शिक्षक सतीश राणा दिखा रहे अपनी कलाकारी का जौहर

(रैबार स्पेशल डेस्क)




जखोली। विकासखंड जखोली के एक कलाकार शिक्षक ने कोरोना वायरस महामारी को नियंत्रण में करने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन के बीच अपनी कला को निखारते हुए बच्चों के बाल देवता घोघा देवता की डोली बनाकर अपनी बहुआयामी व्यक्तित्व से समाज को जागरूक करने में लगे हैं। जखोली ब्लाक के नागेन्द्र इण्टर कालेज बजीरा के शिक्षक सतीश राणा ने बाल आस्था का केंद्र रहे घोघा देवता की डोली बनाकर बच्चों में आस्था को जगाने का कार्य कर रहे हैं। विदित हो कि पूर्व में भी सतीश राणा अपने पेंटिंग व कलाकारी का प्रदर्शन करते हुए भगवान विष्णु के विराट रूप वाली तीन मूर्ति बना चुके हैं। इसके अतिरिक्त वे विद्यालय की दीवारों सहित प्रसिद्ध मंदिरों की दीवारों पर अपने पेंटिंग का जज्बा निखार चुके हैं। उन्होंने अपने ब्रश का जादू चलाते हुए उस पर भगवान भगवान विष्णु,श्रीकृष्ण,राधा आदि की भव्य मूर्तियां भी बना चुके हैं। यही नहीं शिक्षक सतीश राणा अपने कला व संगीत के द्वारा क्षेत्र के विभिन्न गांवों में रामायण व महाभारतकालीन विधा रामलीला,चक्र व्यूह व कमल व्यूह का शानदार मंचन भी करते हुए पौराणिक व धार्मिक संस्कृति के साथ साथ लोक कला का भी संरक्षण करते आ रहे हैं। वे बड़े पत्थरों पर भी आसानी से चित्र उकेर देते हैं। उन्होंने बताया कि मैंने लॉकडाउन के दौरान अपने भीतर के कलाकार को एक बार फिर महसूस किया और एक नया कौशल हासिल किया। मैं हमेशा कला की उस विधा से जुड़ना चाहता था,जो प्रकृति के नजदीक हो और उसके बारे में उन लोगों को जागरूक करे जो कला दीर्घाओं में नहीं जाते हैं। लॉकडाउन के दौरान वह अपने पैतृक गांव में कई चित्रकारी कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रकृति के पास विशाल फलक है, जिससे खूब सीख और शिक्षा मिलती है। उनकी इस कलाकृति को देखते हुए प्रधानाचार्य शिवसिंह रावत बताते हैं कि शिक्षक सतीश राणा एक बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी शिक्षक हैं। जिन्हें कला के साथ साथ साहित्य,संगीत,कंप्यूटर,गणित व अन्य महारत हासिल है। उन्होंने शिक्षक के उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

 मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने वर्चुअल माध्यम से अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के अन्तर्गत बेस अस्पताल में 500×2 एलपीएम एवं अल्मोड़ा जिला अस्पताल में 216 एलपीएम के ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का लोकार्पण किया। कुमाऊं मंडल के पर्वतीय क्षेत्रों में लगने वाले ये पहले ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट हैं।




मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि अल्मोड़ा में इन ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना से अल्मोड़ा एवं उसके आसपास वाले जनपदों के लोगों को इससे फायदा होगा। हल्द्वानी स्थित सुशीला तिवारी अस्पताल में भी इससे वर्कलोड कम होगा। मुख्यमंत्री ने कहा की मेडिकल कॉलेजों एवं जिला अस्पतालों के बाद सीएचसी स्तर तक ऑक्सीजन प्लांट की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा की कोरोना की तीसरी लहर के दृष्टिगत सभी तैयारियां पहले से ही पूर्ण कर ली जाय। कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उत्तराखंड में अन्य राज्यों की तुलना में औसतन अधिक टेस्टिंग हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड पर प्रभावी नियंत्रण के लिए जो निगरानी समितियां बनाई गई हैं, उनके द्वारा व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जाय। कोरोना टेस्टिंग और टीकाकरण के लिए लगातर जागरूकता अभियान चलाए जाय।
मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि राज्य में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के अधिकांश  लोगों का टीकाकरण हो चुका है। भारत सरकार से भी समय- समय पर राज्य को वैक्सीन उपलब्ध हो रही है।18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के टीकाकरण तेजी से हो इसके लिए अन्य देशों से भी वैक्सीन मंगाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राशनकार्ड धारकों को अतिरिक्त खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा की जल्द ही अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज में शैक्षणिक सत्र प्रारंभ हो इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं।
सांसद श्री अजय टम्टा ने कहा कि अल्मोड़ा में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट की स्थापना से अल्मोड़ा के अलावा बागेश्वर, चमोली, पिथौरागढ़ जनपदों के लोगों को भी फायदा होगा। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत का आभार व्यक्त किया।
महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास राज्य मंत्री एवं अल्मोड़ा जनपद की कोविड प्रभारी मंत्री श्रीमती रेखा आर्य ने कहा कि कोरोना से लड़ाई लड़ने के लिए हम एक कदम और आगे बढ़े हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतरी के लिए अनेक प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोमेश्वर  में भी ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना का कार्य शुरु हो चुका है, जो जल्द पूर्ण हो जायेगा।
विधानसभा उपाध्यक्ष श्री रघुनाथ सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कुमाँऊ के पर्वतीय जिलों में यह पहला प्लांट है जो हमारे लिए गर्व की बात है। इन ऑक्सीजन प्लांट के बन जाने से कोरोना मरीजों के इलाज में राहत मिलेगी।
जिलाधिकारी अल्मोड़ा श्री नितिन भदौरिया ने कहा कि अल्मोड़ा में 20 बेड का आईसीयू वार्ड बनाया जा रहा है, जो एक सप्ताह में
 तैयार हो जाएगा। जनपद के ग्रामीण इलाकों में जाकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा टीकाकरण किया जा रहा है।
इस अवसर पर वर्चुअल माध्यम से  भाजपा के जिला अध्यक्ष श्री रवि रौतेला, सीडीओ श्री नवनीत पाण्डे, सीएमओ डॉ  सविता ह्यांकी,प्राचार्य  अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज डॉ आर जी नौटियाल आदि उपस्थित थे।

  •  *-पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र की मिशन रक्तदान मुहिम में स्वस्थ लोगों, युवाओं, महिलाओं के साथ-साथ बालिकाओं ने भी किया रक्तदान।*

  • *-डोईवाला विधानसभा के अंतर्गत नवादा, देहरादून में आयोजित रक्तदान शिविर में लगभग 110 यूनिट रक्त किया गया संग्रह।*

  • *-ब्लड बैंकों में रक्त की कमी को दूर करने के लिए पूरी तरह से तैयार बैठा है युवा वर्ग: त्रिवेन्द्र*


 देहरादून-डोईवाला विधानसभा के अंतर्गत आज चौथे रक्तदान शिविर का आयोजन पूर्व सीएम श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के आह्वान पर मंडी समिति देहरादून के अध्यक्ष श्री राजेश शर्मा द्वारा नवादा चौक स्थिति दुर्गा मंदिर में किया गया। रक्तदान शिविर में लगभग 110 यूनिट रक्त संग्रह किया गया। शिविर में स्वस्थ लोगों, युवाओं, महिलाओं, बालिकाओं ने रक्तदान किया। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संकटकाल में ब्लड बैंकों में रक्त की कमी को देखते हुए इस प्रकार के शिविरों की बेहद आवश्यकता है जिसमें हमें युवा वर्ग का बहुत ही अच्छा सहयोग मिल रहा है। उन्होंने कहा कि मिलकर हमें आगे आना है और जरूरतमंदों की मदद करनी है।


पूर्व सीएम ने कहा कि स्वस्थ एवं युवा साथियों में मिशन रक्तदान की मुहिम को लेकर काफी उत्साह देखने को मिल रहा है, बालिकाएं भी मिशन रक्तदान की मुहिम में आगे आकर बिना भय के कोरोना से बचाव के सभी मानकों का पालन करते हुए रक्तदान कर रही हैं। 


लगभग 110 यूनिट ब्लड जुटाने के साथ ही कुछ ब्लड डोनर को सुरक्षित कोटे में रखा गया है। जरूरत पड़ने पर ही उनको रक्तदान करने के लिए अन्य शिविरों में रक्तदान के लिए बुलाया जायेगा। लगभग 150 से अधिक रक्तदाताओं ने पंजीकरण कराया। हीमोग्लोबिन और वीपी की परेशानी के चलते कई युवा रक्तदान से वंचित रह गए। पूर्व सीएम ने ब्लड डोनेशन कैंप को सफल बनाने में योगदान देने वाली ब्लड बैंक की टीम के साथ-साथ सभी रक्तदाताओं को भी व्यपाक रक्तदान के लिए धन्यावद प्रकट किया। 


पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रक्तदाताओं का मनोबल बढ़ाया और उनका उत्साहवर्घन किया। उन्होंने कहा कि कोरोना के संकट काल में ब्लड बैंकों में रक्त की कमी को पूरा करने के उदेश्य से मुहिम "पहले रक्तदान-फिर टीकाकरण" को आगे बढ़ाया गया है। उन्होंने तमाम भाजपा कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि आगामी रक्तदान शिविरों में अधिक से अधिक संख्या में रक्तदान करें और सभी नागरिकों और खासतौर पर युवा साथियों को रक्तदान के लिए प्रेरित करें। 


इस अवसर पर भाजपा उपाध्यक्ष श्री अनिल गोयल, देहरादून के महापौर श्री सुनील उमियाल (गामा), पूर्व दर्जा धारी राज्यमंत्री श्री खेमपाल व जितेंद्र रावत (मोनी), पूर्व प्रदेश अध्यक्ष युवा मोर्चा श्री सौरभ थपलियाल, भाजपा महानगर अध्यक्ष श्री सीताराम भट्ट, भाजपा महानगर महिला मोर्चा अध्यक्ष कमली भट्ट, भाजपा बालावाला मंडल अध्यक्ष श्री अशोक राज पँवार, भाजयुमो महानगर उपाध्यक्ष सौरभ नौटियाल, पार्षद सरला थापा, सुनीता थापा,रवि गुसाई, विनोद कुमार, रविन्द्र रावत, राहुल पँवार, गजेंद्र गुसाई आदि लोग मौजूद थे।

 भाजयुमो द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर में पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र ने युवाओं को रक्तदान के लिये किया प्रोत्साहित

(नीलम कैन्तुरा, रैबार पहाड़ का)

पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत, रक्तदाताओं का होसला आफजाई करते हुए

देहरादून- भाजयुमो द्वारा रानीपोखरी के एक वेडिंग पॉइंट में रक्तदान शिविर में पूर्व मुख्यमंत्री व विधायक डोईवाला त्रिवेंद्र सिंह रावत ने युवाओं को रक्तदान के लिए प्रेरित कर उनका हौसला बढ़ाया।

  इस मौके पर  त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि जिस प्रकार से कोरोना महामारी के बीच पूरा प्रदेश भारी संकट से जूझ रहा है उसे देखते भारतीय जनता पार्टी ने अस्पतालों मैं रक्त की कमी को दूर करने के लिए  सभी मोर्चों  को इसकी जिम्मेदारी दी है जिसके लिए एक स्लोगन भी जारी किया है पहले रक्तदान फिर टीकाकरण। पूरे प्रदेश में 3 दिन के अंदर चार हज़ार यूनिट रक्त दान करने का लक्ष्य रखा गया है जिसमे युवा मोर्चा 2000 यूनिट व अन्य सभी मोर्चे 2000 यूनिट रक्त दान करेगे जिस वजह से पूरे प्रदेश में भाजपा   से जुड़े लोगों ने रक्तदान किया भाजपा की इस पहल से प्रेरित होकर अन्य समाजसेवी संगठनों ने भी बड़ी मात्रा में रक्तदान किया जिससे ब्लड बैंकों में चल रही रक्त की कमी दूर हो सकी है । पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि जल्द ही वैक्सीन केंद्रों पर चल रही कोविड वैक्सीन की कमी को दूर कर लिया जाएगा जिसके लिए जून माह में बड़ी मात्रा में वैक्सीन आयात कर ली जाएगी जिसके लिए प्रदेश की जनता को इस समय संयम बरतने की जरूरत है ।उन्होंने कहा कि अब कोरोना की स्थिति में काफी सुधार हुआ है लेकिन अभी भी बहुत सावधानी की आवश्यकता है।

रक्तदान शिविर में 40 यूनिट रक्तदान की गई।

इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल गोयल पूर्व राज्य मंत्री कृष्ण कुमार सिंघल,करण बोरा, जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष अमित शाह,मंडल अध्यक्ष राजेन्द्र मनवाल,विनय कंडवाल,जिला मीडिया प्रभारी व युवा मोर्चा प्रभारी  सम्पूर्ण सिंह रावत, प्रदीप नेगी,नरेश रावत,विक्रम नेगी, दिनेश सजवाण,प्रेम पुंडीर, सतीश सेमवाल सुभाष मनवाल, चंद्रप्रकाश तिवारी,गीतांजलि रावत,सुरजीत मनवाल सहित अनेको रक्तदान दाता उपस्थित थे।

 चमोली,गैरसैंण:पुल निर्माण नहीं होने से ग्रामीण परेशान,-

(डी.एस.नेगी..रैबार पहाड़ का संवाददाता)

भर‌
पुल की मांग को लेकर प्रर्दशन करते ग्रामीण

चमोली: गैरसैंण ब्लाक की ग्राम सभा आगर लगा गांवली के आगरचट्टी नजदीक राजकीय इंटर कॉलेज आगरचट्टी मैं स्थानीय निवासी पिछले 10 साल से अधिक समय से लगातार पुल बनाने की मांग कर रहे है .स्थानीय निवासियों का कहना है कि उन्होंने लोक निर्माण विभाग, जिला प्रशासन, विधायक तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों से पुल निर्माण की मांग अरसे से की जा रही है. और कई पत्र भेजे चुके है .इस और ना तो जनप्रतिनिधि  ने ध्यान दिया और ना ही प्रशासन ने. जिले में गांव-गांव में आवागमन की सुविधा सुलभ कराने को लेकर सरकार तमाम दावे कर रही है. लेकिन इसके बावजूद भी प्रखंड के कई गांव में अभी भी आवागमन की सुविधा सुलभ नहीं हो पाई है, जिसके कारण ग्रामीणों को परेशानयों का सामना करना पड़ रहा है.


                   (पुष्पा देवी,ग्राम प्रधान, आगरचट्टी)


पुल न होने से ग्रामीण हुए परेशान

आज भी कई ग्रामीण इलाकों में जर्जर सड़कें और नदी में पुल न होने से लोगों को आवागमन में कठिनाई होती है. ऐसा ही एक ग्राम आगरचट्टी वासियों का कहना है कि पुल न होने से स्थानीय निवासियों को बरसात के दिनों में राम गंगा नदी का बहाव बहुत अधिक होता है  जिससे कि उन्हें अपने खेत में जाने के लिए 10 किलोमीटर दूर पैदल घूम कर जाना पड़ता है, तथा वही स्कूल के बच्चों को भी दूसरे मार्ग से 10 किलोमीटर घूम कर जाना पड़ता है।


     (खतरनाक ग्रामिण, आगरचट्टी)

 तथा जंगली जानवरों का भी डर बना रहता है. इसमें नदी पर पुल नहीं होने से स्थानीय लोगों को आने-जाने में कठिनाई हो रही है.पुल के अभाव में ग्रामीण सैंजी तक लगभग 10 किमी ज्यादा दूरी तय कर जाते हैं.जिससे ग्रामीणो में प्रशासन पर काफी आक्रोश है. वही आगर निवासी मान सिंह नेगी  ने कहा कि यहां पर पुल निर्माण की मांग अरसे से की जा रही है. इस ओर ना ही जनप्रतिनिधि ने ध्यान दिया ना ही प्रशासन ने. पुल  निर्माण होने से लोगों को काफी सुविधा होगी. पुल निर्माण हो जाने से आम जनता के साथ-साथ किसानों को भी काफी सुविधा मिलेगी.

                         (हरिदत्त,देवली, आगरचट्टी)

बरसात के दिनों में होती है परेशानी, ग्राम वासियों का कहना है कि पुल न होने  से स्थानीय निवासियों को  बरसात के दिनों में उन्हें अपने खेत में जाने के लिए 10 किलोमीटर दूर  पैदल घूम कर जाना पड़ता है वही स्कूल के बच्चों को भी दूसरे मार्ग से 10 किलोमीटर घूम कर राजकीय इंटर कॉलेज आगर चट्टी जाना पड़ता है तथा जंगली जानवरों का भी डर बना रहता है, आगर के नजदीक राजकीय इंटर कॉलेज आगर चट्टी में सुमेरपुर,आगर,सनेड्डा,जिंगोड आदि स्कूल के बच्चे पढ़ने आते है.


पुल बनने  के लिए मांग रहे स्थानीय निवासी, नदी पर पुल न होने से लोगों को काफी परेशानियां होती है. खासकर बरसात के दिनों में परेशानी और बढ़ जाती है, जिससे स्थानीय निवासियों, स्कूल के बच्चों तथा किसानो को 10 किलोमीटर दूर पैदल घूम कर  सैंजी पुल से होकर जाना पड़ता है. तथा ग्रामीण आगर में  स्थानी निवासियों की खेती है उनमें सुमेरपुर, सनेड्डा,जिंगोड ,मल्ली स्यूणी,आगरचट्टी तथा फरसो आदि गांव की जमीन है जहां पर स्थानीय निवासी पुल के लिए लगातार मांग उठा रहे हैं ग्राम सभा आगर लगा गांव वाली के ग्राम प्रधान श्रीमती पुष्पा देवी, गीता देवी, तारा देवी, मानसिंह, दीपा देवी ,शांति देवी, खुशाल सिंह, अनीता देवी, चंदा देवी, संगीता देवी, गांव सुमेरपुर से जगदीश प्रसाद, हरिदत्त देवली, गांव फरसो खुशाल सिंह नेगी,हंसी देवी, मंगला देवी,धना नेगी, गांव मल्ली स्यूणी कुंवर सिंह आदि ग्रामवासी लगातार पुल निर्माण के लिए मांग कर रहे.

पुल बनने से आवागमन आसान, ग्रामीणों ने बताया कि यदि नदी पर पुल बना दिया जाए तो, लोगों को आवागमन में काफी आसानी होगी. इसके साथ ही गांव आगरचट्टी नजदीक राजकीय इंटर कॉलेज आगरचट्टी पुल बनने के बाद आवागमन आसान हो जाएगा. इसे लेकर उन लोगों ने जिला प्रशासन से नदी पर पुल बनाने की मांग की है.       


दीपक की  आशिकी में पागल पत्नी ने पति को नींद की गोलियां खिलाकर सदा के लिए सुला दिया-पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार







 देहरादून-अवगत कराना है  दिनांक 28 मई 2021 को अस्पताल के माध्यम से एक ब्रॉड  डेथ मेमो  मृतक पंकज भट्ट पुत्र दिनेश भट्ट निवासी राज राजेश्वरी एनक्लेव नथुवाला उम्र 43 वर्ष का प्राप्त हुआ 

उक्त डेथ मेमो की जांच में चौकी प्रभारी बालावाला जगमोहन सिंह राणा अस्पताल पहुंचे एवं अस्पताल में जाकर पंचायत नामा पोस्टमार्टम की कार्रवाई की गई 

उक्त प्रकरण के सम्बंध में दिनांक 29 मई को मृतक की मां पुष्पा भट पत्नी स्वर्गीय दिनेश चंद्र भट्ट निवासी राजराजेश्वरी एनक्लेव थाना रायपुर जनपद देहरादून की तहरीर पर धारा 302/120b  के तहत मुकदमा दर्ज किया गया

 *उक्त घटना के संबंध में श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद देहरादून द्वारा  पुलिस अधीक्षक नगर महोदय के निर्देशन में एवं* *क्षेत्राधिकारी  महोदय के पर्यवेक्षण में थाना स्तर पर टीम गठित कर मुकदमें के सफल अनावरण हेतु निर्देशित किया* 


मुकदमे की विवेचना थानाध्यक्ष दिलबर सिंह नेगी द्वारा प्रारम्भ की गई 


  • सर्वप्रथम घटनास्थल का निरीक्षण किया गया एवं घटनास्थल पर जाकर मुकदमे की वादिनी श्रीमती पुष्पा भट्ट से पूछताछ की गई 
  • वादिनी पुष्पा भट्ट द्वारा बताया गया कि उसका बड़ा बेटा पंकज अपनी पत्नी विजयलक्ष्मी एवं 4 वर्ष की बेटी आज्ञा के साथ इसी घर के निचले फ्लोर पर रहता था एवं छोटा बेटा पारस अपनी पत्नी एवं मां (मेरे साथ) ऊपर वाले फ्लोर पर रहता था

  • पंकज भट्ट की शादी वर्ष 2006 में हुई थी लेकिन शादी के बाद से ही विजयलक्ष्मी एवं पंकज में आपसी झगड़े होते रहते थे



  • विजयलक्ष्मी उर्फ विजया  का किसी दीपक नाम के लड़के के साथ प्रेम प्रसंग   चल रहा था एवं पंकज भट्ट ने अपनी पत्नी के पास दो मोबाइल भी पकड़े थे जिनमें उस लड़के के साथ इसकी कई फोटो थी 


  • मृतक की मां  पुष्पा ने बताया कि उसके बेटे पंकज की पत्नी विजयलक्ष्मी  ने ही अपने प्रेमी दीपक  के साथ मिलकर इसको कुछ खिलाया है

  • मृतक की पत्नी विजयलक्ष्मी से उनके घर पर जाकर  पूछताछ की गई प्रथम दृष्टया पूछताछ में उसने आरोपों से इनकार किया एवं घर पर बताया कि घटना के दिन रात को अचानक 1:00 बजे पति को देखा तो वह बेहोश पड़े हुए थे थी जिसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मृत्यु हो गई मृतक की पत्नी के बयानों में विरोधाभास नजर आया

  • पुलिस टीम द्वारा  विवेचना करते हुए तुरंत मृतक की पत्नी एवं उसके प्रेमी की कॉल डिटेल रिकॉर्ड मंगवाई गई एवं कॉल डिटेल रिकॉर्ड का अवलोकन किया

  • पुलिस टीम द्वारा 29 मई रात्रि में ही तुरंत पूछताछ के लिए दीपक पुत्र राम चंद्र निवासी अमल अतर्रा थाना रायपुर को पूछताछ हेतु थाने पर लाया गया   थाने पर  दीपक से पूछताछ की गई

  •  पूछताछ* ।  दीपक पुत्र रामचंद्र निवासी आमवाला तरला नियर शांति विहार चौक थाना रायपुर उम्र करीब 25 वर्ष से थाना रायपुर पर गहनता से पूछताछ की गई  जिस ने पूछताछ में अपना जुर्म कबूल किया

  • दीपक ने पूछताछ में बताया कि उसका एवं विजयलक्ष्मी का वर्ष 2018 से मिलना जुलना है एवं वह जिम ट्रेनर  है जहां 2018 में ही उसकी मुलाकात विजय लक्ष्मी से बॉडी टेंपल जिम में हुई थी तभी से दोनों की दोस्ती हो गई थी एवं कुछ दिनों पहले ही विजयलक्ष्मी ने दीपक को बताया कि उसके पति को उनके अफेयर के बारे में पता चल गया है विजयलक्ष्मी दीपक से बार बार मिलना चाहती थी विजयलक्ष्मी ने दीपक को कहा कि मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती हूं एवं इस पर विजयलक्ष्मी ने कहा कि तुम मेरे घर आ जाया करो


  •  26 मई को दीपक का जन्मदिन था विजयलक्ष्मी ने दीपक से नींद की गोली मंगवाई दीपक ने अपने दोस्त के माध्यम से नींद की गोली लेकर विजयलक्ष्मी को दी


  • 26 मई को दीपक अपने दोस्तों के साथ अपने जन्म दिन  में बिजी होने के कारण 26 तारीख को 

विजयलक्ष्मी के घर नहीं जा पाया 


  •  27  मई  को रात्रि में विजयलक्ष्मी ने योजनानुसार दीपक से बात कर  अपने पति को अत्यधिक नींद की गोली खिला दी एवं उसके बाद  दीपक उसके घर आया  1 घंटे साथ रहे एवं उसके बाद दीपक वापस अपने घर आ गया एवं रात्रि में विजय लक्ष्मी के पति पंकज भट्ट की अत्यधिक नींद की  गोली खिलाने के कारण मृत्यु हो गई जिस बात को विजया ने अपने घर वालो से छुपाई थी 

  • विजयलक्ष्मी एवं दीपक की कॉल डिटेल रिकॉर्ड खगाली गई तो घटना के  रात में 26  कॉल एक दूसरे को की हुई है 
  • काल डिटेल के अनुसार भी 

दीपक रात्रि 11:00 बजे से 12:30 बजे तक बजे तक विजयलक्ष्मी के घर पर मौजूद रहा


  • मुकदमा उपरोक्त की गहनता से विवेचना करने एवं सीडीआर अवलोकन  करने पूछताछ करने एवं पर्याप्त साक्ष्य एकत्रित करने के फल स्वरुप

दीपक उपरोक्त को मुकदमा अपराध संख्या 304 /2021 धारा 302 120 बी भा द वि के तहत गिरफ्तार किया गया





  • विजयलक्ष्मी को आज दिनांक 30 मई को पूछताछ हेतु थाने पर लाया गया


  • विजयलक्ष्मी उर्फ विजया  पत्नी स्वर्गीय पंकज भट्ट निवासी राजराजेश्वरी एनक्लेव नथुआवाला थाना रायपुर उम्र करीब 35 वर्ष से थाना रायपुर पर गहनता से पूछताछ की गई जिस ने पूछताछ में बताया कि साहब मुझसे गलती हो गई है 


  • मेने  अपने पति को अधिक नींद की गोलियां दी थी जिससे उसकी मृत्यु हो गई जिस दिन मैंने नींद की गोली दी थी उस दिन दीपक मेरा प्रेमी मेरे घर पर आया था एवं रात्रि करीब 1 बजे तक  मेरे  घर पर रहा था दीपक के घर से चले जाने के बाद ही मेने अपनी सास को उठाया कि पंकज बेहोश पड़ा है 


  • मैं अपने पति पंकज भट्ट से ही छुटकारा चाहती थी इसीलिए मैंने उसको अधिक नींद की गोली दे दी



मैं दीपक से प्यार करती हूं एवं वर्ष 2018 से दीपक के साथ मेरे संबंध हैं


  • मृतक पंकज भट्ट की पत्नी विजयलक्ष्मी उर्फ विजया  को धारा 302 /120 बी ipc  के तहत आज दिनांक 30 मई को  थाने पर ही गिरफ्तार किया गया




  • मुकदमा उपरोक्त में विवेचना अभी जारी है


 *गिरफ्तार अभियुक्त गणों के नाम* 



1 दीपक पुत्र रामचन्द्रनिवासी आमवाला तरला थाना रायपुर उम्र 25 ब्यवसाय जिम ट्रेनर


2 विजय लक्मी पत्नी पंकज भट निवासी नत्थुवावाला थाना रायपुर उम्र 35



 *पुलिस टीम* 


श्रीमती सरिता डोभाल  पुलिस अधीक्षक नगर

श्री नरेंद्र पंत  क्षेत्राधिकारी मसूरी

दिलबर सिंह नेगी थानाध्यक्ष रायपुर वरिष्ठ उपनिरीक्षक आशीष रावत उपनिरीक्षक जगमोहन सिंह राणा उपनिरीक्षक नरेंद्र सिंह बिष्ट 

उप निरीक्षक सुमेर

आरक्षी किशन पाल सिंह 

आरक्षी महेश उनियाल 

आरक्षी सुनील पवार

महिला आरक्षी सिंपल

 *तकनीकी सहयोग* 

आरक्षी किरन sog 

आरक्षी आशीष शर्मा sog


 *विशेष* 


 *मृतक पंकज भट्ट की मृत्यु होने के बाद ही थाना रायपुर द्वारा उक्त प्रकरण को गंभीरता से लेकर स्वयं मामले की जांच की गई एवं गोपनीय जानकारियां एकत्र की गई जिससे मामला प्रकाश में आया एवं मृतक के परिजनों की तहरीर पर अभियोग पंजीकृत होकर अविलंब विवेचना में साक्ष्य संकलित कर 24 घंटे के अंदर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया एवं मुकदमे का सफल  अनावरण किया गया है 

थाना रायपुर द्वारा किए गए उक्त उत्कृष्ट अनावरण के लिए वरिष्ठ अधिकारी गणों द्वारा थाना रायपुर की भूरी भूरी प्रशंसा की गई है

कुलदीप सिंह बिष्ट, पौड़ी

कोरोना काल में भी ग्रामीणों की सुध लेने पहुंचे मुख्य विकास अधिकारी आशीष  भटगांई



 पौड़ी-कोरोना काल में भी ग्रामीणों की सुध लेने पहुंचे मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगाई। बताते चलें कि मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगाई  विकासखंड खिर्सू के कठूड़ गांव पहुंचे। यहां उन्होने कोरोना संक्रमण से बचाव और इस पर प्रभारी रोकथाम के लिए न केवल ग्रामीणों को आइवर मैक्टीन, मास्क,  सैनेटाइजर वितरित किए, बल्कि ग्राम पंचायत स्तर पर बनी कोविड नियंत्रण समिति के कार्यों की समीक्षा भी की। गांव के लोग पहली बार किसी अधिकारी को अपने गांव में देखकर आश्चर्यचकित रह गए। गांव वालों का कहना था कि इस महामारी में जब सब अपनी सुरक्षा के लिए घरों के अंदर बैठे हैं तो मुख्य विकास अधिकारी उनके गांव में पहुंचकर ग्रामीणों को संक्रमण से बचाव के बारे में जानकारी दे रहे हैं जिनका वह तहे दिल से आभार व्यक्त करते हैं वही

कठूड़ गांव पहुंचकर मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगाई ने मौजूदा कोरोना संक्रमण के इस दौर में सभी को सरकार द्वारा जारी कोविड गाइड लाइन का अनुपालन कराने का आह़़वान भी किया। कहा कि ग्रामीण खुद भी इसके प्रति जागरुक रहे और अन्य को भी जागरुक करें। उन्होने प्रशासन के अलावा रेड क्रास समिति की ओर से प्राप्त सामग्री का वितरण भी किया। कोविड नियंत्रण समिति के कार्यों की समीक्षा करते हुए मुख्य विकास अधिकारी भटगाई ने कहा कि गांव में बाहर से आने वाले हर व्यक्ति पर नजर रखी जानी चाहिए। किसी भी प्रकार के बुखार प्रतीत होने पर ग्राम प्रधान को सूचित किया जाना चाहिए। उन्होने आइवर मैक्टीन की गाेलियों को खाने के तौर तरीके भी ग्रामीणों को बताए। 



बिग ब्रेकिंग-पौड़ी जनपद के इस गांव में फटा बादल-प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची

(कुलदीप सिंह बिष्ट, पौड़ी)




  पौड़ी-पौड़ी जिले के बैंग्वाडी गांव में आमसेरा क्षेत्र के पास आज सुबह साढे तीन बजे बादल फटने की घटना हुई है दरअसल बीती रात पौड़ी में मौसम खराब था जिसके पर आसमान में तेज गडगडाहट के साथ सुबह करीब साढे तीन बजे आमसेरा के पास बादल फट गया इस घटना की सूचना ग्रामीणों ने प्रशासन को दी जिस पर मौके पर पहुंची प्रशासन की टीम ने पूरी घटना का जायजा लिया इस घटना में पौड़ी-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारी मलबा और बोलडर आ जाने से हाईवे करीब ढेड घंटे बाधित रहा जिस प्रशासन ने काफी मस्ककत के बाद खोला वहीं घटना में दो गौशालाये भी क्षतिग्रस्त हो गयी जिसके भीतर तीन गाय थी जो मलबे में दब गयी काफी मसक्कत के बाद तीनों गायों को रैस्क्यू कर बचा लिया गया वहीं प्रशासन को एक कार के क्षतिग्रस्त होने की सूचना और दो स्कूटी के दबने की सूचना भी प्राप्त हुई जिस पर खोजबीन जारी है वहीं प्रशासन की कहना है कि पूरी घटना का आकलन किया जा रहा है कि साथ ही जल्द से जल्द रिस्टोरेशन का कार्य भी शुरू कर लिया जायेगा।


 रामरतन सिंह पवांर/जखोली

  • कोरोना के समय जरुरतमंदों की सेवा में जुटे हैं विनोद नेगी
  • जरूरतमंदों को राशन और मेडिकल किट बांट रहे है नेगी
  • विनोद नेगी का कंधा से कंधा मिलाकर साथ निभा रहे पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष प्रदीप पंवार, और उरोली प्रधान डॉ संजय राणा
  • मानव सेवा ही सच्ची सेवा है विनोद नेगी
  • त्यूंखर,लुठियाग पालाकुराली, बांगर के दुरूस्त गांव में बांट कई किलोमीटर पैदल चलकर बांट रहे हैं सामग्री

जरुरतमंदों को आवश्यक सामग्री वितरित करते विनोद नेगी की टीम

 जखोली-कोरोना काल के दौरान दर्जनों संस्थाओं  द्वारा  गाँव़ मे गरीब असहाय परिवारों को मेडिकल किट सहित राशन किट तो  बांट ही रहे है मगर विभिन्न सामाजिक संगठन भी इस कोरोना महामारी मे लोगो को आवश्यक सामग्री देने मे भी पीछे नही हठ रहे है कई सामाजिक कार्यकर्ता स्वयं के दम पर गाँव़ मे राशन किट, मेडिलकल किट, मास्क,  सेनेटाइजर हाथ धोने का साबुन जैसे आवश्यक सामग्री  बांट रहे हैं और खुल कर जनतांत्रिक के बीच जाकर जनता की सेवा कर पुण्य कमा रहे है।बता दे कि जखोली के मयाली गांव के रहने वाले विनोद नेगी अपने निजी संसाधनों से  गांव में  जाकर जरुरत मंद परिवारों को सामग्री पहुँचाने का काम कर रहे,समाज मे ऐसे कम ही लोग मिलते है जो अपने निजि संसाधनों से गरीब लोगो को मुसीबतों के दौरान आवश्यक सामग्री बाँटने का काम करते होंगे

विनोद  सिंह नेगी के साथ सामग्री बाँटने मे सहयोग करने वाले श्रीनगर गढवाल केन्द्रीय विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष प्रदीप पवांर, व उरोली गांव के प्रधान डाक्टर संजय राणा का कहना है कि इस मुसीबत की घड़ी मे हमारा उद्देश्य जरुरतमंदों  को राहत सामग्री पहुँचाना है,ऐसे लोग जिनको दवाइयों की नितांत आवश्यकता है उन तक  मेडिकल किट पहुँचाना भी हम अपना नैतिक जिम्मेदारी समझते है ।और साथ ही साथ हर व्यक्ति को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने से  संबंधित कार्य भी टीम के द्वारा किया जा रहा। अब तक इनके  जखोली के चिरबटिया, त्यूंखर , गोर्ती, मयाली, नौसारी,अमकोटि,धान्यों, घरड़ा, मखेत, बजीरा, उरोली आदि गाँवो मे विभिन्न सामग्री वितरण की गयी तथा इन गाँवो के आलावा और गाँवो मे सामग्री बाँटने का सिलसिला जारी है

 रामरतन सिंह पवांर/जखोली

  •  कोरोना टेस्टिंग के दौरान पालाकुराली मे 17 और लुठियाग मे मिले 15 संक्रमित,
  • प्रशासन ने दोनो गाँवो को  कंटेंटमेंट जोन  किया घोषित
  • साथ ही दोनो गाँवो को सील कर 
  • आवागमन पर लगायी रोक...
  • प्रशासन ने किया गांव को कंटेंटमेंट जोन  घोषित कर किया सील
  • लुठियाग में एक ही परिवार के 6 लोग संक्रमित
  • निजी पार्टी में भी शामिल हुए लोग भी पाए गए संक्रमित
  • पार्टी में शामिल सभी लोगों की प्रशासन करेगा जांच की पार्टी में शामिल हुए लोगों की होगी कोरोना टेस्टिंग
लुठियाग चिरबटिया कंटेटमेंट जोन घोषित

 जखोली-कोरोना गाँवो मे अब तेजी से  पांव पसार रहा  जिससे कि अब शहर से गाँवो की स्थिति बहुत नाजुक बन चुकी है,  सेंपलिंग के बाद हर किसी गाँवो मे अधिक से अधिक संख्या मे लोगो मे कोरोनो संक्रमण पाया जा रहा।

पालाकुराली भी हुआ सील


ज्ञात. हो कि विकासखंड जखोली के अन्तर्गत सेंपलिंग के दौरान मखेत तथा घरड़ा  गाँव़ मे स्वास्थ्य बिभाग के द्वारा  लोगो की  सैंपलिंग कराई गयी गयी  थी ,जिसके दौरान मखेत मे 24 व्यक्ति व घरड़ा मे 19 लोग कोरोना   संक्रमित पाये गये थे जिस कारण से इन दोनो गाँवो को कोरोना गाइड लाइन के अनुसार प्रशासन द्वारा सील कर  कंटेंटमेंट  जोन घोषित कर करा था और अब दो दिन पूर्व पालाकुराली गाँव़ मे स्वास्थ्य विभाग के द्वारा एक सौ ग्यारह लोगो का कोविड. टेस्ट करवाया गया था जिसमे 111 लोगो का पी सी आर टी एस टेस्ट 

करवाया गया था जिससे कि टेस्टिंग के बाद 17 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये जिससे कि पूरे गांव मे दहशत का माहौल बना हुआ. है ।आनन फानन मे प्रशासन ने गांव को  कन्टेंटमेंट जोन घोषित कर गांव को सील कर लिया है और गांव वालो को   कही भी बहार न जाने की नसीहत दी,वही ग्राम पंचायत लठियाग, चिरबटिया मे भी दो दिन पूर्व 60 लोगो की  टेस्टिंग करायी गई थी जिस दौरान लुठियाग गांव मे 15 लोग कोरोना  संक्रमित पाये गये जिस कारण से प्रशासन ने लुठियाग गांव को भी कन्टेंटमेंट  जोन घोषित  कर पूरे गांव को सील करके आवागमन पर पूरी तरह से रोक लगा दी


 शहीद मेजर विभूति ढौंडियाल की पत्नी बनी अफसर 




देहरादून - मेजर विभूति ढौंडियाल (शौर्य चक्र) की पत्नी नीतिका कोल  ढौंडियाल सेना में अफसर बन गई हैं। देवभूमि के लिए यह गर्व की बात है कि लेफ्टिनेंट नितिका ऑफिसर ट्रेनिंग अकादमी (OTA) पास आउट हुई हैं।  आपको बता दें कि  दून निवासी विभूति ढौंढियाल 2019 में पुलवामा हमले के बाद शहीद हो गए थे उनके शहीद होने के बाद उनकी पत्नी निकिता ने पति के सपने को पूरा करने के लिए सेना में जाने का मन बनाया। निकिता ने दिसंबर 2019 में इलाहाबाद में वूमेन एंट्री स्कीम की परीक्षा दी थी। जिसमें वह पास हो गई थीं। इसके बाद चेन्नई की ऑफिसर्स  ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) से निकिता को कॉल लेटर आया। निकिता की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है और 29 मई यानी आज  ओटीए के पासिंग आउट परेड में बतौर लेफ्टिनेंट वह आधिकारिक रूप से सेना में शामिल हो गयी है।

 रामरतन सिंह पवांर/जखोली

हंस फाउंडेशन एवं हेल्पेज इण्डिया के सौजन्य से बाँटे

गाँवो मे मेडिकल सामग्री



कोरोना महामारी के चलते वर्तमान समय मे कई संस्थाये गाँव़ गाँव़ मे जाकर जरुरत मंद लोगो को राहत सामग्री व दवाईयां वितरण कर रही।

ज्ञात हो कि जखोली मे 28 मई को हेल्पेज इण्डिया   एवं हंस फाउंडेशन के सहयोग से विश्व स्वास्थ्य संगठन, भारत सरकार स्वास्थ्य मंत्रालय, हेल्पेज इण्डिया की गाइड लाईनों का पालन करते हुऐ  जाखणी,कांडी,लौंगा   गॉंवों में  निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया,इस कार्यक्रम का आयोजन जाखणी के क्षेत्र पंचायत सदस्य आशीष नेगी भी शामिल थे,शिविर मे          लगभग 200 मरीजों के स्वाथ्य जांच और करोना के प्रति जागरूक किया गया इस कैम्प को सफल बनाने में हेल्पेज इंडिया के प्रोजेक्ट ऑफिसर  पंकज सिंह राठौर डाक्टर  सुखदेव फार्मासिस्ट ऋषभ मैथानी लैब इंचार्ज,प्रशांत तिवारी पवन आदि लोगो का सहयोग रहा इस मौके पर क्षेत्र पंचायत सदस्य आशीष नेगी, प्रधान जाखणी  ममता देवी, प्रधान मयाली पूजा देवी ,प्रधान  लौंगा कालीचरण.. दिनेश नेगी, गंगा रावत आदि लोगों ने हेल्पेज इण्डिया  का  धन्यबाद दिया अदा किया,साथ ही 170 लोगों को स्वस्थ्य संबन्धित परामर्श एवं कोविड से सम्बन्धित जन जागरूकता दी गयी..

  •  *नायाब नमूना होगा राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का भवन*
  • *विभागीय मंत्री के कर कमलों से शुरू हुआ LRBआइसोलेटर इंस्टालेशन का कार्य*
  • *फोर स्टार फायर रेटिंग तथा पूर्ण भूकम्प रोधी है भवन का डिजाइन*
  • *संयुक्त राज्य अमेरिका से आयात की गयी हैं 80 LRBआइसोलेटर*




राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का आई.टी पार्क परिसर देहरादून में निर्माणाधीन बहुमंजिला भवन उत्तराखण्ड  का पहला ऐसा राजकीय भवन होगा जो पूर्णरूप से वैश्विक मानकों के अनुरूप भूकंपरोधी तकनीकी से तैयार किया जा रहा है जो अपने आप में भूकंपरोधी भवनों का एक नायाब नमूना होगा । इस भवन की खासियत ये है कि भवन के बेस में  लेड, रबर और बियरिंग्स (LRB)  से निर्मित आइसोलेटर का प्रयोग किया गया है ।

आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज आई टी पार्क परिसर पहुँच कर अमेरीका से आयात किये गए LRB आइसोलेटर के इंस्टालेशन प्रक्रिया का विधि विधान पूर्वक शुभारम्भ किया । विभागीय मंत्री डॉ रावत ने अधिकारीयों को निर्देश दिए कि भवन निर्माण की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देते हुए नियत समय पर निर्माण कार्य पूर्ण किया जाय । मौके पर मौजूद विभागीय सचिव एस. ए. मुरुगेशन ने बताया कि भवन के निर्माण हेतु शासन द्वारा 67 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गयी है जो कि विश्वबैंक वित्त पोषित योजना के तहत है । उन्होंने विभागीय मंत्री को यह आश्वस्त किया कि भवन का निर्माण नियत समय पर पूर्ण कर लिया जाएगा । विभागीय निर्माणदायी संस्था भवन निर्माण इकाई के उप परियोजना प्रबंधक विकास बर्थवाल ने बताया कि भवन का बेसमेंट कार्य काफी पहले ही पूर्ण कर लिया गया था किन्तु कतिपय कारणों से आयत की गयी सामग्री के पहुँचने में अतिरिक्त समय लगा जिस कारण निर्माण कार्य बीच में बाधित रहा । उन्होंने बताया कि भवन को पूर्ण भूकम्प रोधी तकनीकी से तैयार किया जा रहा है जिसके भूतल पर 80 LRB आइसोलेटर इनस्टॉल किये जाएंगे जो उच्च तीव्रता के भूकम्प आने पर भी भवन को पूर्ण रूप से सुरक्षित रखेंगे । यही नहीं बल्कि भवन की गुणवत्ता जांचने हेतु वैज्ञानिकों की एक समिति भी बनाई गई है जो समय समय पर निरीक्षण कर अपना तकनीकी सुझाव देगी । भवन को विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया है, जिसमे बेसमेंट के अतिरिक्त 6 तल हैं, इसे 4 स्टार ग्रीन बिल्डिंग रेटिंग के अनुरूप डिज़ाइन किया गया है। इस भवन में LRB तथा SFCO तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है, इस भवन में स्टेट इमरजेंसी आपरेशन सेन्टर तथा बिल्डिंग मैनेजमेंट सिस्टम का प्रावधान  किया गया है, जिसमें आपात कालीन स्थितयों में सेवा में तैनात कार्मिकों के रहने के लिए आवासीय व्यवस्था का भी प्रावधान किया गया है । इस भवन में प्राधिकरण के अध्यक्ष के रूप में मुख्यमंत्री सहित सीईओ के रूप में मुख्य सचिव एवं अन्य अधिकारियों के बैठने की व्यवस्था सहित अनेक सुविधाएं भी होंगी । 


 जखोली संवाददाता

  • नवविवाहिता महिला के लापता होने की करायी गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज
  • महिला मायके का बहाना बनाकर
  • निकली थी अपने ससुराल से...
  • काफी खोज बीन के बावजूद भी नही चला काविना देबी का पता


जखोली-विकासखंड के अन्तर्गत ग्राम पंचायत त्यूँखर की एक नव  विवाहिता महिला अपने घर से एक हफ्ते लापता है, बता दे कि त्यूँखर गांव निवासी संजीव सिह पवांर पुत्र की शादी 6 दिसंबर को  ग्राम धारकुड़ी बागंर तहसील जखोली की रहने वाली काविना देबी पुत्री स्वo कुन्दन की शादी हिन्दू रिति रिवाज के साथ सम्पन्न हुई,लाँकडाउन के चलते काविना देबी का पति एक साल से अपने ही घर पर ही था, लेकिन दो माह पूर्व वह नौकरी करने बैगलूर चला गया और किसी होटल मे नौकरी करने लगा,काविना देबी 22 मई अपनी सास को यह कह कर गई कि मै अपने मायके जा रही हूँ।

गुमशुदा की रिपोर्ट


वही लापता महिला के जेठ प्रदीप सिह पवांर का कहना है कि काविना देबी घर वालो को पूछ कर ही अपने मायके जाने की बात कि और सुबह त्यूँखर से ठीक साढे छः बजे घर से. निकली 

और सात बजे के आस पास मयाली पहुंची,जब शाम को उसने ससुराल मे  फोन नही किया तो ससुराल वालो ने खुद कविना के मोबाइल नंबर पर फोन किया तो उसने फोन नही उठाया,फिर उसके मायके मे फोन पर बात की गई तो महिला की माँ ने बताया कि वो मायके भी नही पहुँची।

तत्पश्चात मायके वालो ने भी उसको फोन किया लेकिन उसने अपने मायके वालो का  भी  फोन नही  उठाया,

तब उसके रिश्तेदारो को भी फोन पर कविना के अपने मायके न जाने की बात कही गई, तब लापता महिला की बहिन रविना ने बताया कि उसका मेसेज मुझे आया था और कहा कि मुझे ढूंढने की कोशिश मत करना,उसके बाद

ससुराल वालो ने उसकी ढूंढ खोज शूरु कर दी,जब काफी खोजबीन के बाद उसका कोई सुराग नही मिला तो महिला के ससुराल वालो ने जखोली पुसिल चौकी मे महिला के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है

MKRdezign

نموذج الاتصال

الاسم

بريد إلكتروني *

رسالة *

يتم التشغيل بواسطة Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget