देहरादून के इस अस्पताल में 18से 44साल की उम्र के लोगों को इतने रुपयों में लग रही वैक्सीन

 मसूरी में 18 हे 44 साल के लोगों को कोविड वैक्सीन लगाये जाने को लेकर 900 रुपये की जगह 1100 रुपये लिये जाने का विरोध,

सुनील सोनकर , मसूरी, रिपोर्ट



 मसूरी-मसूरी में मैक्स हॉस्पिटल द्वारा 18 से 44 साल के लोगों को कोविड वैक्सीन लगाये जाने को लेकर 900 रुपये की जगह 1100 रुपये लिये जाने पर स्थानीय लोगों, कांग्रेस पार्टी और मसूरी व्यापार मंडल ने विरोध किया है। लोगों ने कहा कि  मसूरी में सरकारी स्तर से 18 से 44 साल के लोगों को वैक्सीन लगाने का कार्य को बंद कर दिया गया वही प्राइवेट अस्पताल द्वारा मसूरी में कोविड वैक्सीन लगाने को कार्य शुरू किया गया जिसमें बड़े भ्रष्टाचार को अंजाम देकर 900 रुपये में लगाई जाने वाली वैक्सीन 1100 रुपये में लगाई जा रही है जबकि सरकार के द्वारा कोविड वैक्सीन लगाने का 900 रुपये प्रत्येक व्यक्ति निर्धारित कर रखा है। जिसका प्रचार पूर्व में मसूरी में किया गया था।

जसबीर कौर ने कहा कि डीजी हेल्थ उत्तराखंड के द्वारा कहा जा रहा है कि 9 जून तक प्रदेश में 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए भरपूर वैक्सीन उपलब्ध होगी तो ऐसे में 1 जून से 8 जून तक प्राइवेट सेक्टर को वैक्सीनेशन का काम क्यों दिया गया है वहीं 900 की 1100 रुपए में लगाई जा रही है इससे साफ है कि सरकार द्वारा ही इस पूरे भ्रष्टाचार को प्राइवेट सेक्टर के साथ मिलकर अंजाम दिया जा रहा है जो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ।उन्होंने कहा कि  भाजपा की सरकार की गलत नीतियों के कारण कोरोना संक्रमण से लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा कई लोगों की जान चली गई। परंतु वही व्वैक्सीन लगाने को लेकर भी भाजपा बड़े भ्रष्टाचार को अंजाम दे दी है वही एक बार फिर लोगों को वैक्सीन लगाने को लेकर लाइन पर खड़ा कर दिया है जो देश और प्रदेश की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि उन के माध्यम से मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को एसडीएम के द्वारा ज्ञापन भेजा है और तत्काल पूर्व की भांति 18 से 44 साल के लोगों को फ्री में वैक्सीन लगाने की मांग की है

मसूरी महिला कांग्रेस अध्यक्ष जसबीर कौर और मसूरी व्यापार मंडल अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने कहा कि एक ओर तो सरकार वैक्सीनेशन के लिए लोगों को विभिन्न माध्यमों से प्रेरित कर रही है । परंतु मैक्स अस्पताल द्वारा वैक्सीन लगाने को लिये तय दर 900 रुपये की की जगह 1100 रुपए लिए जा रहे हैं जो नियम अनुसार गलत है उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन को लेकर प्राइवेट सेक्टर द्वारा एक बार खुलले आम वैक्सीन पर ओवर रेटिंग की जा रही है जबकि कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी द्वारा जनपद के अधिकारियों से ओवर रेटिंग पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये गए है। सरकार द्वारा कार्यवाही की जगह प्राइवेट सेक्टर के माफिया ओ सरंक्षण दिया जा रहा है। उन्होने कहा कि अगर 1100 रूप्ये की जगह 900 रूप्ये नही लिये जाते वही मध्यम और गरीब लोगो की फ्री वैक्सीन नही लगाई जाती तो कांग्रेस पार्टी इसको लेकर सड़कों पर उतरेगी। वही व्यापार मंडल अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने 900 रूप्ये में लगाई जानी वाली वैक्सीन को 750 रूप्ये में लगाये जाने की मांग की।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget