Breaking News

Wednesday, June 23, 2021

सड़क कटिंग के मलबे से ख़तरे की जद में आवासीय मकान

 रामरतन सिह पंवार/जखोली


  • सड़क कटिंग के मलबे से ख़तरे की जद में आवासीय मकान
  • अनियोजित तरीके से किया गया क्वांली-तोरियाल-गडगू मोटरमार्ग का निर्माण
  • प्रभावितों को उचित मुआवजा देने की मांग 




रुद्रप्रयाग। अनियोजित तरीके से हुए क्वांली-तोरियाल-गडगू मोटरमार्ग निर्माण से आवासीय बस्ती को खतरा उत्पन्न हो गया है। हाल ही में हुई बरसात से गडगू गांव में तीन आवासीय घरों में मलबा घुस गया। वहीं तोरियाल में तीन काश्तकारों की गौशाला खतरे की जद में आ गई है।

पिछले दिनों भारी बारिश के चलते क्वांली-तोरियाल-गडगू मोटरमार्ग का मलबा स्थानीय ग्रामीणों के लिए मुसीबत का कारण बन गया। यहां गडगू गांव के ग्रामीणों के घरों में मलबा घुसने से भारी नुकसान हो गया। काश्तकारों के खेत-खलिहान बर्बाद हो गए हैं। सड़क से तीन सौ मीटर नीचे की ओर तीन आवासीय भवनों को काफ नुकसान पहुँचा है। यहां रणवीर चौधरी, दलवीर चौधरी और अवतार चौधरी के आवासीय भवन और चौक में भारी भरकम मलबा घुस गया। वहीं तोरियाल में पशुपालक नवीन चौधरी, राजे चौधरी और विनोद चौधरी की गौशाला की सुरक्षा दीवार ढह गई है। कभी भी इनकी गौशाला जमीदोंज हो सकती है। 


सामाजिक कार्यकर्ता विक्रांत चौधरी का कहना है कि अनियोजित तरीके से हुए सड़क निर्माण का खामियाजा ग्रामीण भुगत रहे हैं। सड़क कटिंग का मलबा डंपिंग जोन के बजाय जंगलों और बस्ती वाली जगह फेंका गया है। जिससे बरसात में लोगों को भारी नुकसान हो रहा है। वहीं उत्तराखंड क्रांति दल के युवा नेता मोहित डिमरी ने प्रभावितों को हुए नुकसान का उचित मुआवजा देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बेतरतीब सड़क कटिंग से ग्रामीणों के आवासीय मकान और गौशाला को नुकसान पहुँचा है। इसकी भरपाई सम्बंधित निर्माण इकाई या ठेकेदार को करनी चाहिए।