Breaking News

Sunday, June 13, 2021

नेता प्रतिपक्ष के निधन पर रूद्रप्रयाग जिले में जनप्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, शिक्षक संघों , साहित्यकारों और बुद्धि जीवियों ने जताया शोक


जखोली-संवाददाता

नेता प्रतिपक्ष के निधन पर रूद्रप्रयाग जिले में जनप्रतिनिधियों सामाजिक कार्यकर्ताओं शिक्षक संघों जताया शोक साहित्यकारों और बुद्धि जीवियों ने जताया शोक




जखोली। शिक्षक संघ की संरक्षिका,उत्तराखंड विधानसभा में प्रतिपक्ष की नेता और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता डॉo इन्दिरा ह्रदयेश के आकस्मिक निधन पर विभिन्न शिक्षक संगठनों सहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि दी है। विदित हो कि डॉक्टर इन्दिरा ह्रदयेश कांग्रेस पार्टी की बैठक में सम्मिलित होने के लिए दिल्ली गयी थी और बैठक के दौरान ही उनकी तबियत खराब होने पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। डॉ इन्दिरा ह्रदयेश वर्ष 1974 से उत्तर प्रदेश से लेकर उत्तराखंड राज्य बनने तक 4 बार शिक्षक कोटे से उतर प्रदेश विधान परिषद सदस्य रही और उत्तराखंड की पहली निर्वाचित विधानसभा में कैबिनेट मंत्री रही और वर्तमान समय में उत्तराखंड विधानसभा में प्रतिपक्ष की नेता थी। उनके निधन पर विभिन्न शैक्षिक संगठनों सहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गहरा दुःख व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि दी है। शोक प्रकट करने वालों में रुद्रप्रयाग बुद्धिजीवी एवं शिक्षक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष शिवसिंह रावत,राशिसं के मण्डलीय मंत्री शिवसिंह नेगी,राशिसं के जिलाध्यक्ष आनंद जगवाण,उमाशिसं के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यपाल नेगी,उमाशिसं रुद्रप्रयाग अध्यक्ष बलवीर रौथाण,महामंत्री बीरेंद्र सिंह वर्त्वाल,कोषाध्यक्ष त्रिलोक सिंह कठैत,रघुवीर बुटोला,कांग्रेस जिलाध्यक्ष ईश्वर सिंह बिष्ट  पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के औद्योगिक सलाहकार डॉ के एस पंवार, ,केदारनाथ विधायक मनोज रावत,विधायक भरत सिंह चौधरी, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष लक्ष्मी राणा,ब्लाक प्रमुख प्रदीप थपलियाल,पूर्व जिला पंचायत सदस्य बीरेंद्र सिंह बुटोला,सेवादल उपाध्यक्ष अंकूर रौथाण,चैन सिंह पंवार,प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष देवेन्द्र भण्डारी,ज्येष्ठ प्रमुख नागेन्द्र पंवार,कनिष्ठ उप प्रमुख कवीन्द्र सिंह सिंधवाल, धनराज बंगारी, शर्मा लाल सहित कई शिक्षक नेताओं ने दुःख व्यक्त किया है।