औलावृष्टि के चलते फसलो को हुए नुकसान के लिए गांव वालों ने की सरकार से मुआवजे की मांग

 रामरतन सिंह पवांर/जखोली

  • बड़मा  क्षेत्र सहित लस्या, बांगर पट्टी  के काश्तकारों को औलावृष्टि के चलते फसलो को हुए नुकसान के लिए  जल्द मुआवजा दे प्रशासन
  • जांच हेतू गाँवो मे भेजी जाय टीमे
  • उक्रांद युवा नेता मोहित डिमरी ने किया बड़मा क्षेत्र के आपदा प्रभावित गांवों का दौरा
  • घटना के बीस घंटे बाद भी नहीं खुला मार्ग : अंकित उछोली



रुद्रप्रयाग। बड़मा क्षेत्र में बादल फटने और ओलावृष्टि से भारी नुकसान हुआ है। नुकसान का जायजा लेने पहुँचे उत्तराखंड क्रांति दल के युवा नेता मोहित डिमरी ने प्रशासन से जल्द प्रभावित काश्तकारों को मुआवजा देने की मांग की है। 


उक्रांद के युवा नेता मोहित डिमरी ने कहा कि भारी बारिश से गुप्तकाशी-मयाली मोटरमार्ग धारियांज-किरोडा के बीच जगह-जगह बाधित हो गया है। दोपहर तक सड़क से मलबा साफ करने के लिए जेसीबी तक नहीं पाई थी। इसके साथ ही काश्तकारों के खेत-खलिहान मलबे में तब्दील हो गए हैं। एक आवासीय मकान को भी क्षति पहुँची है। घटना के 18 घंटे बाद अधिकारी मौके पर पहुँचे। 


युवा नेता मोहित डिमरी ने कहा कि 

प्रशासन जल्द नुकसान का आकलन कर प्रभावितों को मुआवजा दे। उन्होंने कहा कि इस पूरे क्षेत्र में सबसे अधिक नुकसान खेती को हुआ है। लोगों की फसलें बर्बाद हो गई हैं। वहीं स्थानीय युवा एवं केंद्रीय विवि श्रीनगर गढ़वाल के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष अंकित उछोली ने कहा कि सड़क मार्ग खोलने में विभागीय स्तर पर लेट-लतीफी हुई है। घटना के बीस घण्टे बाद भी मोटरमार्ग आवाजाही लायक नहीं खुल पाया। भारी ओलावृष्टि से खेती को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है।यही नही जखोली के पौंठी, कपणिंया, चौंरा,बरसीर,बच्वाड़, धनकुराली सहित दर्जनों गाँवो मे औलावृष्टि के चलते काश्तकारों की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है जिससे कि  प्रशासन को प्रभावितों को तुरंत राहत देनी चाहिए।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget