Breaking News

Tuesday, June 22, 2021

उत्तराखंड में यहां दिखा सफेद मोर-देखिए वीडियो में

 मोर तो बहुत  देखें  होंगें लेकिन कभी सफेद मोर देखा आपने नहीं देखा तो -देखिए वीडियो में




 रामनगर- उत्तराखंड का कॉर्बेट टाइगर रिजर्व वन्यजीवों की आरामगाह है। यहां बड़ी संख्या में वन्यजीव रहते हैं। ऐसे में यहां विलुप्त हुई प्रजातियों का दिखना एक शुभ संकेत भी है। दरअसल बाघों के लिए मशहूर उत्तराखंड के कार्बेट टाइगर रिजर्व में पहली बार ‘सफेद मोर’ देखा गया है। 



सफेद मोर दिखने के बाद कार्बेट प्रशासन खासा उत्साहित है। अधिकारियों की माने तो कार्बेट टाइगर रिजर्व की झिरना रेंज की वन टीम ने गश्त के दौरान जंगलों में मोरों का झुंड देखा। इस बीच टीम ने एक सफेद मोर को झुंड में देखा तो दंग रह गए। वन अधिकारियों के अनुसार उत्तराखंड में पहली बार कार्बेट टाइगर रिजर्व में सफेद मोर देखा गया है। वन अधिकारियों ने ट्रैपिंग कैमरा के साथ ही पैट्रोलिंग स्टाफ को भी इसकी निगरानी के निर्देश दिए हैं जिससे इसके संरक्षण एवं संवर्द्धन पर जोर दिया जा सके। वहीं मानसून सीजन में शिकार के मद्देनजर भी अलर्ट जारी किया गया है। सफेद मोर को अल्बिनो मोर के नाम से भी जाना जाता है। यह भारतीय मोर की अनुवांशिक रूप ही है। इसका मीट, पंखी, फेदर की वजह से इसका शिकार किया जाता है इस वजह से यह पक्षी जंगलों से गायब हो गया है। लेकिन अब उत्तराखंड के जंगलों में पहली बार सफेद मोर दिखा है।


 


विशेषज्ञ संजय छिमवाल की माने तो सफेद मोर कार्बेट टाइगर रिजर्व ही नहीं बल्कि उत्तराखंड के जंगलों में पहली बार देखा गया है। अभी तक सफेद मोर कहीं भी नहीं देखा गया है। यह पहली बार है कि जब जंगल में सफेद मोर मिला है। उन्होंने कहा कि यह कार्बेट टाइगर रिजर्व की समृद्ध जैव विविधता व पक्षियों के लिए अनुकूल वास स्थल का भी संकेत है। वन्यजीव जानकारों के अनुसार अमूमन मोर में नीले, काले-पीले, हरे कई रंग होते हैं लेकिन ‘अनुवांशिकी विभिन्नता’ की वजह से मोर में बाकी रंग नहीं आते हैं। इस वजह से मोर सफेद रह जाता है। इसकी यही अनुवांशिकी विभिन्नता इसे दूसरे मोरों से खास बनाती है और लोग सफेद मोर को देखकर आनंदित हो जाते हैं।