Breaking News

Monday, July 19, 2021

हे सड़क तू अब पौंछी गौं मा गढ़वाली पोथी कू लोकार्पण।

 हे सड़क तू अब पौंछी गौं मा गढ़वाली पोथी कू लोकार्पण



ब्याली जुलाई 2021 कू ब्याखिन 5 बजि विकासखंड जखोली की ग्राम पंचायत जखोली लस्या निवासी गढ़वाली भाषा का सुप्रसिद्ध कवि और परिवहन विभाग हरिद्वार मा कार्यरत परिवहन कर अधिकारी श्री अनिल नेगी जी की गढ़वाली भाषा मा चालीस कविताओं कू संग्रह हे सड़क तु अब पौंछी गौं मा पुस्तक कू विमोचन गढ़वाली भाषा का मर्मज्ञ साहित्यकारों आदरणीय सर्व श्री शिवसिंह रावत जी प्रधानाचार्य,राशिसं का पूर्व मण्डलीय मंत्री श्री शिवसिंह नेगी जी,श्री मदन मोहन डुकलान जी,श्री गिरीश सुन्द्रियाल जी,श्री गणेश खुगसाल गणी जी,श्री देवेश जोशी जी,श्री वीणा बेंजवाल जी,आचार्य पं एस एन जोशी जी का दगड़ दगड़ि अनिल नेगी जी का पिताजी आदरणीय श्री राजेन्द्र नेगी जी अर मां जी न रविवारे आनलाइन लोकार्पण करियालि। आनलाइन  पुस्तक हे सड़क तु अब पौंछी गौं मा कू विमोचन करन अवसर पर परिवहन विभाग की नौकरी मा कार्यरत व सेवारत ह्वण का बावजूद भी जखोली ब्लाक का सुप्रसिद्ध गढवाली कवि परिवहन कर अधिकारी अनिल नेगी जी न पुस्तक लिखीक गढ़वाली भाषा का संरक्षण व संवर्द्धन का खातिर बहुत अच्छू प्रयास कैर। सबी अतिथिगणोंन भौत सुंदर व सारगर्भित बातों मा पुस्तके समीक्षा रखी अर बतायी कि पुस्तक नई पीढ़ी का खातिर भौत ही प्रेरणादायक व गढ़वाली भाषा का संरक्षण मा अहम भूमिका निभाली। ओन अनिल नेगी जी द्वारा लिखित पुस्तक मा सबी कविताओं कू समीक्षा करद ब्वेली कि निकट भविष्य मा नयी पीढ़ी का वास्ता प्रेरणादायक सिद्ध ह्वेली। ये अवसर परे नागेंद्र इं का बजीरा का भौत ही सम्मानित प्रधानाचार्य आदरणीय श्री शिवसिंह रावत जी न भी अनिल नेगी जी द्वारा लिखित हे सड़क तु अब पौंछी गौं मा विमोचन का अवसर पर क्षेत्र का गौरव का दगड़ दगड़ी गर्व की बात बतायी। प्रधानाचार्य जी न अनिल नेगी जी तैं पुस्तक लिखण  पर बधाई व शुभकामना दैण का साथ साथ मा क्षेत्रा अन्य नवोदित कवियों का वास्ता भी पुस्तक मील का पत्थर बतायी। दगड़ दगड़ि मैं पुस्तक विमोचन का अवसर पर मैं भी आपतें जानकारी दैण मा गर्व मैसूस च होण लग्यूं कि श्री अनिल नेगी जी पेलि मेरा विद्यालय नागेन्द्र इ कालेज बजीरा रुद्रप्रयाग मा एक होनहार विद्यार्थी का रुप अध्ययनरत रैन अर बाद मा 2013-14 मा हमारा विद्यालय बजीरा मा ही म्यार दगड़ इतिहास का प्रवक्ता पद पर कार्यरत रैन। वैका बाद अनिल नेगी जी कू चयन उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन परीक्षा का माध्यम सी परिवहन विभाग मा परिवहन कर अधिकारी का पद पर ह्वे। लेकिन वैका बाद भी अनिल जी कू सम्पर्क बराबर हमारा साथ मा रैंदू। मैं कविता लिखण पर अपणा विद्यालय नागेन्द्र इ कालेज बजीरा की ओर से भी भौत भौत बधाई व शुभकामनाएं अर्पित करदूं। पुस्तक मा कविताओं कु संग्रह मा हे सड़क तु अब पौंछी गौं मा,आवा पंचमी मनावा तुम,ब्यौ मा ड्रोन,राजधानी गैरसैंण,नगेला देवता सहित चालीस कविता लिखीन। जबभि पुस्तक हमारा हाथों मा आली,निश्चित रूप सी भौत ही ज्ञान वर्धक ह्वैली। कार्यक्रम का संचालन भौत ही सुंदर व सराहनीय ढंग सी ग्यारह गांव हिंदाव पट्टी का सुंदर कार्यक्रम संचालक श्री गिरीश बडोनी जी प्रधानाध्यापक न कैरी। मैं भगवान ईष्टदेव दैव नागेन्द्र देवता सी प्रार्थना करदूं कि पुस्तक भौत ही ज्ञानवर्धक व गढ़वाली भाषा तैं संरक्षण देण का खातिर मील का पत्थर साबित ह्वैली। शुभकामनाओं का साथ मा बीरेंद्र सिंह राणा प्रवक्ता नागेन्द्र इ कालेज बजीरा रुद्रप्रयाग।