रूद्रप्रयाग में वर्तमान विधायक का टिकट कटता तो?भाजपा किसको बनायेगी उम्मीदवार-तो कमलेश उनियाल पर पार्टी खेल सकती है दांव – कौन है कमलेश उनियाल- पढ़ें पूरी खबर

0
शेयर करें

देहरादून- दो विधानसभा वाला छोटा सा रुद्रप्रयाग जनपद धार्मिक और राजनीतिक दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण है। रुद्रप्रयाग जनपद में केदारनाथ और रुद्रप्रयाग विधानसभा हैं। जिले की दोनों विधानसभाएं हमेशा चर्चा में रहती हैं इस सीट पर बीजेपी तीन बार चुनाव जीती है, तो एक बार कांग्रेस उम्मीदवार ने जीत दर्ज किया है। इस बार 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर हर पार्टी में घमासान मचा हुआ है। लेकिन रुद्रप्रयाग में वर्तमान में भाजपा के टिकट को लेकर असमजस की स्थिति बनी हुई है और सीटिंग विधायक भरत सिंह चौधरी के टिकट पर संशय बना हुआ है। यहां यदि भरत सिंह चौधरी का टिकट कटता है तो भाजपा के साथ उम्मीद्वारों की लंबी फेहरिस्त है जिसमें वीर सिंह रावत,पूर्व राज्यमंत्री आचार्य शिवप्रसाद ममगाईं जैसे कई नाम शामिल हैं। इन नामों में से एक नाम ऐसे भी हैं इस सीट से भाजपा का सितारा चमका सकते हैं। यह नाम है कमलेश उनियाल का… जो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं में विगत कई वर्षों से शुमार हैं। पार्टी यदि कमलेश उनियाल पर दाव खेलती है तो निश्चित ही भाजपा को सफलता मिल सकती है। क्योंकि जनपद रुद्रप्रयाग विधानसभा रुद्रप्रयाग के जखोली ब्लॉक के मूल निवासी हैं और जखोली ब्लॉक की भूमिका विधानसभा चुनाव में सबसे महत्वपूर्ण रहती है। जखोली ब्लॉक मतदान संख्या के आधार पर सबसे बड़ा क्षेत्र है। इसलिए कमलेश उनियाल पार्ची के लिए एक जिताऊ, लोकप्रिय और युवा चेहरा हो सकते हैं। लेकिन विशेष सूत्रों से पता च

कमलेश उनियाल का रिपोर्ट कार्ड
एक दिसंबर 1975 में जनपद रुद्रप्रयाग पट्टी लसिया जखोली ब्लॉक देवल में जन्में कमलेश उनियाल राज्य आंदोलन से जुड़े उत्तराखंड युवा संगठन में सक्रिय भूमिका में रहे। हैं। कमलेश उनियाल उत्तराखंड आंदोलन में दिल्ली जाती और रामपुर तिहाई पर पुलिस द्वारा रोके जाने पर घायल भी हुए हैं। उनके पिता का नाम श्री पीतांबर उनियाल (आईडीपीएल ऋषिकेश सेवानिवृत्त),
माता का नाम शांति उनियाल (सेवानिवृत्त शिक्षिका) और पत्नी का नाम स्मिता उनियाल है। वर्तमान में कमलेश उनियाल ऋषिकेश में अमित ग्राम गुमानीवाला में रहते हैं। कमलेश सिंह बी.कॉम. ग्रैजुएट हैं। युवाओं में व मातृशक्ति में शुमार रहे मिशन 2019 कमलेश उनियाल जनपद में विस्तारक प्रभारी के रूप में माइक्रो लेवल प्रतिक बुथ पर पर काम किया है। इसी के साथ सन् 1996 में कमलेश उनियाल ने ऋषिकेश के राजकीय महाविद्यालय में यूआर का पद संभाला। सन् 1997 में महा सचिव पद संभालने के बाद सन् 1998 अध्यक्ष अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के चुनाव लड़े। इतना ही नहीं कमलेश उनियाल ने ट्रांसपोर्ट यूनियन में जुड़कर मोटर मालिक व चालकों के लिए भी उनके हक की लड़ाई लड़ी। इसके अलावा कमलेश यादव सन् 1999 से 2002 तक डोईवाला ग्रामीण से भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा मण्डल अध्यक्ष रहे। सन् 2005 से 2008 तक प्रदेश कार्य समिति सदस्य युवा मोर्चा का पद संभाला। सन् 2009 से 2011 तक जिला अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा देहरादून, सन् 2012 से 2016 तक प्रदेश कार्य समिति सदस्य, सन् 2017 दिसम्बर से 2018 नवम्बर तक मिशन 2019 विस्तारक प्रमुख जिला, रूद्रप्रयाग, सन् 2018 से जुलाई 2019 तक मिशन 2019 सह-लोकसभा विस्तारक, प्रभारी, हरिद्वार (विशेष कार्य -विधानसभा धर्मपुर डोईवाला, ऋषिकेश हरिद्वार ग्रामीण रानीपुर) । वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी ने अच्छी कार्यकुशलता व पार्टी में सक्रियता को देखते हुए प्रदेश संगठन में प्रदेश सह मीडिया प्रभारी भाजपा का दायित्व दिलाया है।रैबार पहाड़ का

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X