शर्मनाक: भाजपा नेता और पूर्व राज्य मंत्री बेटे ने कर दी अंकिता की हत्या,जनता में आक्रोश,पुलिस ने किया बड़ा खुलासा: देखें वीडियो

0
शेयर करें

कुलदीप सिंह बिष्ट, पौड़ी

https://youtube.com/shorts/j_6NjRHoE0g?feature=share

ऋषिकेश चीला बैराज मार्ग पर जनपद पौड़ी गढ़वाल के अंतर्गत भोगपुर के एक रिसोर्ट से 3 दिन पूर्व रहस्यमय परिस्थिति में गायब हुई रिसेप्शनिस्ट 19 वर्षीय अंकिता भंडारी के मामले में राजस्व पुलिस से नागरिक पुलिस को मिली जांच के 24 घंटे के अंदर पुलिस भाजपा नेता व राज्य मंत्री के पुत्र रिसोर्ट संचालक सहित रिसोर्ट में कार्यरत तीन लोगों को गिरफ्तार कर अंकिता की हत्या कर पहाड़ी से नीचे फेंक दिए जाने का खुलासा किये जाने का दावा किया है।

लापता 19 वर्षीय अंकिता भंडारी की हत्या के मामले में पुलिस ने वरिष्ठ भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अंकिता भंडारी पिछले 3 दिनों से लापता थी और सोशल मीडिया पर अंकिता भंडारी को इंसाफ दिलाने के लिए ग्रामीणों ने आंदोलन भी प्रारंभ कर दिया था, जिसके बाद भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य का नाम सामने आने पर पुलिस पर खासा दबाव था।

पुलिस ने वारदात का खुलासा करते हुए शुक्रवार को पुलकित आर्य रिसोर्ट के मैनेजर और एक अन्य कर्मचारी को गिरफ्तार किया था। पौड़ी गढ़वाल पुलिस के मुताबिक घटना के दिन तीनों अंकिता भंडारी के साथ ऋषिकेश आये थे । जिनकी पुष्टि बैराज पर लगे सीसीटीवी कैमरे से ही हुई थी। जो कि घूमने के बाद बाद रात्रि 9:30 बजे सीसीटीवी कैमरे में देखे गए थे। बताया गया कि इस बीच उनके मध्य विवाद हुआ जिसमें पुलकित आर्य व अन्य लोगों ने अंकिता भंडारी को पहाड़ी से गंगा में धक्का दे दिया।

हालांकि हत्या के पीछे क्या कारण रहे इसकी जांच अभी पुलिस कर रही है। पुलकित हरिद्वार के वरिष्ठ भाजपा नेता विनोद आर्य जो राज्य मंत्री भी हैं और वर्तमान में उत्तर प्रदेश भाजपा में ओबीसी मोर्चा में जिम्मेदारी संभालते हैं, का बेटा है।

वही पुलकित का बड़ा भाई अंकित आर्य भी राज्य सरकार में ओबीसी आयोग में पदाधिकारी है। पुलकित आर्य पौड़ी गढ़वाल जनपद के यमकेश्वर ब्लॉक में रिसोर्ट चलाता था जहां अंकिता भंडारी बतौर रिसेप्शनिस्ट काम करती थी। अंकिता भंडारी की बॉडी अभी मिली नहीं है। पुलिस तलाश कर रही है।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X