Big breaking:इस जिले के ज़िला पंचायत अध्यक्ष को किया गया बर्खास्त, उत्तराखंड की राजनीति में हलचल हुई तेज

शेयर करें

बद्रीनाथ विधायक की पत्नी रजनी भंडारी को जिला पंचायत अध्यक्ष पद से किया बर्खास्त, पढ़िए क्या है पूरा मामला
जनपद चमोली से एक बड़ी खबर सामने आ रही है यहां पंचायती राज विभाग ने नंदा देवी राजजात यात्रा में भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों को लेकर जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी को बर्खास्त कर दिया है, जिसके बाद उत्तराखंड में राजनीति गरमा गई है. रजनी भंडारी को बर्खास्त करने के बाद अब जिला पंचायत की जिम्मेदारी जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण रावत को दी है.

आपको बता दें कि पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी पर पर नंदा देवी राजजात यात्रा को लेकर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं इन आरोपों की पुष्टि पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने की है. इससे पहले भी रजनी भंडारी को 25 जनवरी 2023 को भी बर्खास्त किया था, लेकिन तब नैनीताल हाईकोर्ट ने उनके बर्खास्त के आदेश को निरस्त कर दिया था. जिसके बाद वह बहाल हो गई थी, लेकिन एक बार फिर अब आरोपों के चलते उनको बर्खास्त कर दिया गया है.

दरअसल नंदा देवी राजजात यात्रा वर्ष 2012-13 में पर्यटन विभाग द्वारा प्राप्त धनराशि के सापेक्ष जिला पंचायत चमोली में स्वीकृत कार्यों के लिए निविदा समिति द्वारा संस्तुत न्यूनतम दर वाली निवदाओं के इतर अधिक दर वाली निवदाओं को स्वीकृत किए जाने के आरोप रजनी भंडारी पर लगे हैं.

रजनी भंडारी का प्रकरण पूर्व ब्लाक प्रमुख नंदन सिंह बिष्ट की शिकायत पर हुई जांच की सिफारिश के बाद पंचायती राज विभाग की ओर से 25 जनवरी 2023 को एक आदेश जारी करके रजनी भंडारी को जिला पंचायत अध्यक्ष पद से हटाया था इसी क्रम में अब दोबारा कार्रवाई उन पर की गई है।

About Post Author

You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X