हिमाचल प्रदेश के आपदा पीड़ितों की मदद के लिए द हंस फाउंडेशन ने बढ़ाया हाथ,मुख्यमंत्री राहत कोष में प्रदान की पांच करोड़ रुपये सहायता राशि

शेयर करें

हिमाचल इस समय भारी तबाही का सामना कर रहा है। बाढ़ और बारिश से इसके चलते यहां जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। लोगों के घर मलबे में तब्दील हो गए,जगह-जगह लैंडस्लाइड हो रहा है। जिसके चलते हिमाचल प्रदेश में हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने राज्य को ‘प्राकृतिक आपदा प्रभावित क्षेत्र’ घोषित कर दिया है।
प्राकृतिक आपदा से प्रभावित हिमाचल प्रदेश को इस आपदा से उबारने के लिए केंद्र सरकार,कई राज्यों की सरकारों के साथ तमाम सामाजिक संगठनों ने आपदा प्रभावित हिमाचल की मदद के लिए हाथ बढ़ाए। इस क्रम में आपदा प्रभावित की मदद के लिए द हंस फाउंडेशन आगे आया है। द हंस फाउंडेशन के प्रेरणास्रोत माताश्री मंगला एवं श्री भोले जी महाराज ने हिमाचल आपदा पीड़ितों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हुए,हर संभव मदद का आश्वासन देते हुए हिमाचल प्रदेश सरकार को 5 करोड़ की राहत राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में प्रदान की है। इस सहयोग के लिए मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का आभार व्यक्त किया है।
आपको बता दें कि बुधवार को शिमला में मुख्यमंत्री कार्यालय में फाउंडेशन के ऑपरेशन हेड विकास वर्मा ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू को आपदा प्रभावितों की मदद के लिए राहत राशि का चैक सौंपा। इस मौके पर कुल्लू विधायक भुवनेश्वर सिंह गौड़ भी मौजूद थे।

इस मौके फाउंडेशन के ऑपरेशन हेड विकास वर्मा ने बताया कि द हंस फाउंडेशन की प्रेरणास्रोत माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज ने देवभूमि हिमाचल प्रदेश में आई प्राकृतिक आपदा पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा हैं कि हिमाचल के अलग-अलग जगहों से जो दृश्य देखने को मिल रहे हैं,उनको देख दिल दहल रहा है,मन उदास है,इस आपदा की घड़ी में हमारी संवेदनाएं आपदा पीड़ितों के साथ है। हिमाचल प्रदेश इस आपदा से जल्द से जल्द उभरे इसके लिए हम ईश्वर से प्रार्थी है। आपदा प्रभावितों की मदद के लिए हम पांच करोड़ो रूपये की राशि प्रदान कर रहे है। भविष्य में राज्य को किसी भी तरह की मदद की आवश्यकता होगी तो,हंस फाउंडेशन आपके साथ खड़ा रहेगा।
मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने माता मंगला जी एवं भोले जी महाराज का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि द हंस फाउंडेशन द्वारा आपदा इस प्राकृति आपदा के समय जो मदद दी गई है। इसके लिए मैं राज्य की जनता की तरफ से द हंस फाउंडेशन का आभार व्यक्त करता हूं। इस धनराशि का पीडि़तों की मदद में बेहतर उपयोग किया जाएगा। उन्होंने कहा की माता मंगला जी एवं भोले जी महाराज के मार्गदर्शन में हिमाचल प्रदेश को द हंस फाउंडेशन के माध्यम से स्वास्थ्य-शिक्षा और तमाम दूसरे क्षेत्रों में निरंतर सहयोग मिल रहा है। इसके लिए हम कोटि-कोटि आभार व्यक्त करते है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत दिनों से जारी भारी बारिश,बादल फटने और भूस्खलन की घटनाओं से राज्य में पेयजल,विद्युत आपूर्ति व्यवस्था व सड़कों सहित अन्य संसाधनों को भी भारी क्षति पहुंची है। ऐसे समय में राज्य को इस आपदा से उबारने के लिए हंस फाउंडेशन ने जो मदद की वह हमारे लिए बहुत बढ़ा सहयोग है। सीएम सुक्खू ने कहा कि प्रदेश सरकार राहत,बचाव एवं पुनर्वास के लिए युद्ध स्तर पर कार्य कर रही है। आपदा प्रभावितों को हरसंभव मदद सुनिश्चित की जा रही है। मौसम के अनुकूल होने पर संबंधित जिलों और विभागों द्वारा संपत्ति,पशुधन,आधारभूत संरचना और अन्य नुकसान का आकलन कर पुनर्निर्माण और उपयुक्त कार्रवाई के लिए प्रदेश सरकार के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।
इस मौके पर कुल्लू विधायक भुवनेश्वर सिंह गौड़ ने भी देवभूमि हिमाचल के आपदा प्रभावितों को द हंस फाउंडेशन के प्रेरणास्रोत माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी के माध्यम से प्रदान की गई मदद के लिए आभार व्यक्त किया।

About Post Author

You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X