‘जल नायक प्रितियोगिता’ के नायक बने उत्तराखंड के प्रकाश सिंह डसीला

0
शेयर करें

केदारनाथ आपदा के बाद से रिलायंस फाउंडेशन के साथ जुड़कर प्रकाश सिंह जनपद रुद्रप्रयाग के विकासखंड जखोली, अगस्तमुनि में लोगों के लिए आजीविका का साधन और स्वास्थ्य के साथ ही पानी की समस्या से निजात दिलाने के लिए कार्य कर रहे थे। जनपद का सीमान्त व सुदूरवर्ती गांव चिरबटिया में पानी की समस्या को देखकर जल संरक्षण के लिए चाल-खाल निर्माण कार्य की शुरुवात की. जिसमें 11 लाख लीटर पानी एकत्रित हुआ,और नए श्रोत बने। ये जल संरक्षण के लिए सफल मॉडल रहा। इसके अलावा जनपद के तीनों विकासखंडों में जल संरक्षण व संवर्धन के लिए कार्य किया गया। जंगलों मे पारंपरिक चाल खाल बनाने के मुहिम की सुरुवात 2016 मे की गई जो आज भी जारी है।
जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार ने जुलाई 2022 के लिए “जल नायक प्रितियोगिता ” (water heroes) के विजेताओं का एलान कर दिया है। 6 विजेताओं मै रुद्रप्रयाग के रिलायंस फाउंडेशन के टीम लीडर प्रकाश सिंह डसीला एकमात्र विजेता है उत्तराखंड से। इन्हें पुरस्कार के रूप मै दस हजार रुपीय और प्रमाणपत्र दिया जायेगा।
जल शक्ति मंत्रालय के जल संसाधन , नदी विकास और गंगा संरक्षण विभाग ने ‘जल नायक: सफलता की अपनी कहानी साझा करें ‘ प्रतियोगिता सुरु की है। मंत्रालय के मुताबिक यह प्रतियोगिता आबादी के एक बड़े हिस्से को देश मै जल संरक्षण की महत्ता समझने के लिए प्रेरित करने की दृष्टि से सुरु की गई है।
इसके अंतर्गत प्रतियोगिता के विजेता जल नायकों के अनुभवों को साझा किया जाता है, ताकि लोगो में जल संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा हो, उनकी आदतों में बदलाव आए और वे पानी को बचाने के लिए जागरूक हो सके। जुलाई 2022 के लिए 6 विजेता चुने गए।
इससे पूर्व भी प्रकाश सिंह को जल संचयन संरक्षण कार्यों के लिए “जल प्रहरी” सम्मान से भी सम्मानित किया गया था। जल प्रहरियों में किसान, वैज्ञानिक, आईएएस, आईआरएस, जिला स्तर के अधिकारियों के साथ शिक्षकों के नाम शामिल थे।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X