उत्तराखंड में अग्नि का तांडव, धुआं बना बाधा; वायु सेना का ऑपरेशन ‘अग्निपथ’ दूसरे दिन शुरू नहीं हुआ शुरू

शेयर करें

श्रीनगर। पौड़ी जिले के जंगल आग से सुलग रहे हैं। आग पर काबू पाने में वन विभाग के पसीने छूट रहे हैं। ऐसे में आग बुझाने के लिए वायु सेना की मदद ली जा रही है, लेकिन चारों तरफ धुआं होने के कारण वायु सेना का ऑपरेशन ‘अग्निपथ’ दूसरे दिन शुरू नहीं हो सका है। आज सुबह 6 बजे वायुसेना को हेलीकॉप्टर एमआई 17 से आग बुझाने का ऑपरेशन शुरू करना था, लेकिन लो विजिबिलिटी के कारण पांच घंटे तक हेलीकॉप्टर MI-17 हेलीपैड पर ही खड़ा रहा।

धुआं आग बुझाने में डाल रहा खलल

बता दें कि आज सुबह 11 बजे के आसपास वायु सेना के हेलीकॉप्टर एमआई 17 ने उड़ान भरी, लेकिन लो विजिबिलिटी के कारण श्रीनगर की एक बार टोह लेने के बाद ऑपरेशन को फिर बंद करना पड़ा। अब वायु सेना धुआं हटने का इंतजार कर रही है। वहीं, वायु सेना के सामने धुआं और बड़े-बड़े बिजली के टावरों में झूलते हुए तार भी समस्या बनकर उभर रहे हैं। एमआई 17 से लटकी बेबी बास्केट को भी वायु सेना को संभालकर उड़ाना पड़ रहा है। ये बेबी बास्केट हेलीकॉप्टर से 20 मीटर लंबी तारों से लटकी हुई रहती है।

About Post Author

You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X