कहीं आफत के बादल बरस रहे हैं, वहीं सीएम के गांव के लोग बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं!

0
शेयर करें

पिथौरागढ़। भाजपा सरकार की हर घर नल जल योजना के बावजूद भी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के पैतृक गांव बार्मो में जल संकट गहराया हुआ है। आलम यह है कि बारिश के बाद भी जल संकट कम होने का नाम नहीं ले रहा है। नगर से लेकर गांवों तक लोग पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। यहां पेयजल लाइन शुरू तो की गई है लेकिन पाइप को टंकी से जोड़ा नहीं जा सका है। लिहाजा लोगों को प्राकृतिक जल स्रोतों की दौड़ लगाने को मजबूर होना पड़ा। परेशान ग्रामीणों ने आज जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच कर प्रदर्शन कर जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया।
ग्रामीणों ने बताया की 2014 में जलनिगम द्वारा क्षेत्र के लिए पेयजल लाइन शुरू की थी। जिसके लिए 60 लाख रुपए भी खर्च किए गए। लेकिन बावजूद इसके पानी की समस्याजस की तस बनी हुई है। इसके अलावा 2019 में भी जल संस्थान द्वारा क्षेत्र में पेयजल योजना के लिए 4 लाख की धनराशि स्वीकृत हुई, लेकिन उसके बाद भी पाइपों को पानी की टंकी से नहीं जोड़ा जा सका। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने वर्तमान ग्राम प्रधान पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि प्रधान द्वारा पुरानी योजना में लगे पाइपों को उखाड़कर हर घर नल हर घर जल योजना में लगाया जा रहा है। जिससे पूर्व में हुए सरकारी धन का दुरुपयोग हुआ है। उन्होंने जिलाधिकारी से मामले को जांच की मांग कर जल्द जलसंकट से निजात दिलाने की मांग की है।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X